S M L

मालदा में अमित शाह Live Updates: ममता दी कीचड़ जितना फैलेगा, कमल उतनी तेजी से निकलेगा

अमित शाह ने गठबंधन को निशाने पर लेते हुए कहा, 5-25 नेताओं के साथ हाथ मिलाकर खड़ा होने से नरेंद्र मोदी को नहीं हटा सकते. देश की जनता नरेंद्र मोदी के साथ खड़ी है.

| January 22, 2019, 03:23 PM IST

FP Staff

0

हाइलाइट

Jan 22, 2019

  • 15:22(IST)

    गठबंधन की आलोचना करते हुए उन्होंने कहा, एक ही मंच पर 9 पीएम बैठे थे. लेकिन हमारे यहां एक ही नेतृत्व है. नरेंद्र मोदी के पीछे हम सब चट्टान की तरह खड़े हैं.  अगर बंगाल में लोकतंत्र लाना है तो कमल खिलाना होगा. मुट्ठी बांधकर बोलिए..भारत माता की जय. 

  • 15:11(IST)

    केंद्र सरकार ने सातवां वेतन आयोग दे दिया. लेकिन बंगाल में अभी पांचवां वेतन आयोग ही चल रहा है. आखिर क्यों. अगर आप कमल की सरकार बनाते हैं तो वादा है कि कैबिनेट के बाद सातवां वेतन आयोग लागू कर देंगे. इतना ही नहीं, बंगाल सरकार का महंगाई भत्ता केंद्र के मुकाबले 49 फीसदी कम है. 

  • 15:07(IST)

    अमित शाह ने कहा, ममता दीदी की सरकार ने मेरे हेलिकॉप्टर उतारने की इजाजत नहीं. रैली करने की भी इजाजत नहीं. लेकिन ये दिन बहुत नहीं है. जुर्म तो राजा रावण का भी नहीं टिका है. अमित शाह ने कहा, आप परमिशन नहीं दोगे तो हेलिकॉप्टर से भाषण देंगे लेकिन आपके खिलाफ लड़ेंगे. रथ नहीं निकालने दोगे तो रैली करेंगे. लेकिन आपके खिलाफ लड़ेंगे. 

  • 15:07(IST)

    अमित शाह ने कहा, ममता दीदी की सरकार ने मेरे हेलिकॉप्टर उतारने की इजाजत नहीं. रैली करने की भी इजाजत नहीं. लेकिन ये दिन बहुत नहीं है. जुर्म तो राजा रावण का भी नहीं टिका है. अमित शाह ने कहा, आप परमिशन नहीं दोगे तो हेलिकॉप्टर से भाषण देंगे लेकिन आपके खिलाफ लड़ेंगे. रथ नहीं निकालने दोगे तो रैली करेंगे. लेकिन आपके खिलाफ लड़ेंगे. 

  • 15:06(IST)

    बंगाल में सभी कारखाने बंद हो चुके हैं. बंद हुआ है या नहीं? फिर अमित शाह ने कहा, सब कारखाना बंद हो गया है लेकिन सिर्फ काम चल रहा है. वह है बम की फैक्ट्री. हर सुबह रविंद्र संगीत सुनकर मन खुश हो जाता है. यहां से रविंद्र संगीत गुजरात पहुंच गया है. फिर से चैत्नय का कीर्तन सुनाई पड़े. यह काम सिर्फ भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व में ही हो सकता है. 

  • 15:03(IST)

    बंगाल में सिंडिकेट टैक्स क्यों लगता है. देश के जिन 16 राज्यों में बीजेपी की सरकार है वहां सिंडिकेट टैक्स नहीं लगता है. अगर कमल की सरकार बनेगी तो बंगाल में भी सिंडिकेट टैक्स नहीं देना पड़ेगा. टीएमसी के नेता सौगत राय का मकान बन रहा था. उन्हें भी सिंडिकेट टैक्स देना पड़ा. फिर आपकी की क्या बिसात. 

  • 14:59(IST)

    अभी मुझे मालूम है कि यहां से जाने के बाद एक केस ठोक देंगे. पिछली बार आया तो एक केस ठोक दिया. ममता दीदी उम्र में छोटा हूं, एक नहीं दो केस ठोक दो प्यार से. 

  • 14:58(IST)

    मेरे हेलिकॉप्टर उतारने की भी इजाजत नहीं. रैली करने की भी इजाजत नहीं. लेकिन ये दिन बहुत नहीं है. जुर्म तो राजा रावण का भी नहीं टिका है. आप परमिशन नहीं दोगे तो हेलिकॉप्टर से भाषण देंगे लेकिन आपके खिलाफ लड़ेंगे. रथ नहीं निकालने दोगे तो रैली करेंगे. लेकिन आपके खिलाफ लड़ेंगे.  

  • 14:51(IST)

    ममता बनर्जी पार्टियों की खूब आवभगत करती हैं लेकिन उस वक्त क्या भारत माता की जय का नारा लगा. नहीं लगा. वो मोदी, मोदी करते हैं. 

  • 14:49(IST)

    ममता दीदी की सरकर ने बीजेपी की रथ यात्रा की अनुमति नहीं दी क्योंकि वो डर गईं. लेकिन हम और ज्यादा मेहनत करेंगे. किसी भी तरह उन्हें बंगाल से हटाकर कर रहेंगे. 

  • 14:48(IST)

    कांग्रेस ने सुभाष चंद्र बोस को भुलाने में कोई कोशिश नहीं छोड़ी. लेकिन हमारे नेता नरेंद्र मोदी ने सुभाष बाबू के जीवन, काम और बंगाल को अमर करने के लिए सुभाष स्वराज शहीद रखना चाहते हैं. 

  • 14:46(IST)

    यह लड़ाई दो पार्टियों के बीच नहीं है. यह लड़ाई बंगाल की संस्कृति समाप्त करने वाली टीएमसी और बंगाल की संस्कृति को बनाकर रखने वाली बीजेपी के बीच है.

  • 14:45(IST)

    अमित शाह ने कहा, दुर्गापूजा न करने वाली सरकार, तस्करी कराने वाली सरकार, अफीम का व्यापार कराने वाली सरकार को बंगाल से जाएगी या नहीं. उन्होने कहा, यह चुनाव बंगाल को तृणमूल कांग्रेस से मुक्त कराएगी. बीजेपी बंगाल में फिर से लोकतंत्र स्थापित कराएगी.

  • 14:43(IST)

    मालदा में अमित शाह की रैली शुरू हो गई है. उन्होंने अपने संबोधन की शुरुआत ममता बनर्जी की सरकार को निशाना बनाते हुए किया. उन्होंने कहा, 2019 में होने वाला लोकसभा चुनाव भारत से ज्यादा बंगाल के लिए महत्तवपूर्ण चुनाव है. 2019 का चुनाव तय करेगा कि हत्याएं करवाने वाली तृणमूल कांग्रेस रहेगी या जाएगी. भ्रष्टाचार कराने वाली तृणमूल सरकार रहेगी या जाएगी. घुसपैठ कराने वाली ममता दीदी की सरकार रहेगी या जाएगी. ​

  • 14:11(IST)

    बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह मालदा पहुंच गए हैं. थोड़ी देर में वो यहां अपनी रैली करेंगे

  • 13:05(IST)

    स्वाइन फ्लू से उबरने के बाद अमित शाह का यह पहला राजनीतिक कार्यक्रम है. पश्चिम बंगाल में उनकी रैलियां रविवार से ही शुरू होनी थीं, लेकिन उनके अस्वस्थ होने की वजह से ऐसा न हो सका था

  • 13:04(IST)

    बुधवार 23 जनवरी को अमित शाह राज्य के झारग्राम और बीरभूम जिले के सुरी में अलग-अलग दो रैलियां करेंगे. अमित शाह के दौरे को देखते हुए बीजेपी की राज्य इकाई ने यहां जनसभा की तैयारियां पूरी कर ली हैं

  • 13:02(IST)

    बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह आज से दो दिन के पश्चिम बंगाल दौरे पर हैं. मंगलवार को वो ममता बनर्जी के गढ़ मालदा में एक रैली को संबोधित करेंगे. पार्टी सूत्रों के अनुसार अमित शाह अपनी इस रैली से 2019 लोकसभा चुनाव के लिए पश्चिम बंगाल में बीजेपी के प्रचार अभियान की शुरुआत करेंगे 

मालदा में अमित शाह Live Updates: ममता दी कीचड़ जितना फैलेगा, कमल उतनी तेजी से निकलेगा

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह आज यानी मंगलवार से दो दिन के पश्चिम बंगाल दौरे पर रहेंगे. मंगलवार को उनका मालदा में रैली करने का कार्यक्रम है. बीजेपी सूत्रों के अनुसार मालदा में रैली के साथ अमित शाह पश्चिम बंगाल में लोकसभा के लिए पार्टी के चुनाव प्रचार की शुरुआत करेंगे.

दौरे को लेकर बीजेपी के राष्ट्रीय सचिव राहुल सिन्हा ने कहा, ‘अमित शाह मालदा जिले से कल (मंगलवार) पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनावों के लिए प्रचार की शुरुआत करेंगे. इसके बाद 23 जनवरी को झारग्राम और बीरभूम जिले के सुरी में उनकी दो रैलियां होंगी.’

स्वाइन फ्लू से उबरने के बाद अमित शाह का यह पहला राजनीतिक कार्यक्रम है. उनकी रैलियां बीते रविवार से ही शुरू होनी थीं, लेकिन उनके अस्वस्थ होने की वजह से ऐसा न हो सका.

पश्चिम बंगाल बीजेपी का मानना है कि शाह की रैली कोलकाता में 19 जनवरी को तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की हुई युनाइटेड इंडिया रैली का सही जवाब होगा. पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘वो (अमित शाह) विपक्ष की रैली का सही जवाब देंगे. वो लोकसभा चुनाव के लिए रूख तय करेंगे. हमें यकीन है कि राज्य की 42 लोकसभा सीटों में 22 से ज्यादा सीटें मिलेंगी.’

लोकसभा चुनाव के लिए पश्चिम बंगाल को प्राथमिकता राज्य के तौर पर चुना

2019 लोकसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने पश्चिम बंगाल को प्राथमिकता राज्य के तौर पर चुना है. पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने यहां की 42 में से 22 सीटें जीतने का लक्ष्य रखा है.

उत्तरी बंगाल का सीमावर्ती जिला मालदा दशकों तक कांग्रेस का मजबूत गढ़ रहा है. यहां उसके कद्दावर नेता ए.बी.ए गनी खान चौधरी और उनके परिवार का दबदबा रहा है. हालांकि, 2011 में सत्ता परिवर्तन के बाद तृणमूल कांग्रेस ने अपनी मजबूत मौजूदगी दर्ज कराई है.

बीजेपी की राज्य ईकाई प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैलियां भी आयोजित करना चाहती है, लेकिन इस बारे में अभी कुछ तय नहीं है.

टीएमसी के महासचिव पार्थ चटर्जी ने अमित शाह की रैलियों पर कहा, ‘वो लोग (बीजेपी के नेता) जितनी बार चाहें आ सकते हैं, लेकिन कोई फायदा नहीं होगा क्योंकि वो लोकसभा चुनाव हारने वाले हैं.’

बता दें कि पिछले कुछ वर्षों में पश्चिम बंगाल में बीजेपी मुख्य विपक्ष के रूप में उभरी है. ग्रामीण इलाकों में हुए उपचुनावों में भी उसकी स्थिति सुधरी है.

0

अन्य बड़ी खबरें

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi