live
S M L

गुजरात में पटेल कोटा आंदोलन को हवा दे रही है कांग्रेस: अमित शाह

अमित शाह ने कहा- दुर्भाग्य से आंदोलन की दिशा बदल गई. चुनाव करीब आ रहे हैं, ऐसे में धीरे-धीरे यह मुद्दा राजनीतिक रंग लेता जाएगा

Updated On: Sep 10, 2017 04:58 PM IST

Bhasha

0
गुजरात में पटेल कोटा आंदोलन को हवा दे रही है कांग्रेस: अमित शाह

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि गुजरात में पटेल कोटा आंदोलन के संयोजकों का रूझान ? ‘एक सियासी दल’ की ओर है. हालांकि उन्होंने विपक्षी दल के तौर पर कांग्रेस का नाम नहीं लिया.

शाह ने कहा कि इस साल के अंत में होने वाले गुजरात विधानसभा के चुनाव के नजदीक आने के साथ ही आरक्षण को लेकर आंदोलन राजनीतिक रंग लेता जा रहा है. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अहमदाबाद में रेजॉल्यूट गुजरात या ‘अधीखम गुजरात’ नाम के कार्यक्रम में युवाओं के सवालों के जवाब दे रहे थे.

एक युवा ने पूछा कि बीजेपी सरकार अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) श्रेणी के तहत आरक्षण की मांग को लेकर हुए पाटीदार आंदोलन से किस तरह निबट रही है, इस पर शाह ने कहा कि बीजेपी सरकार ने हार्दिक पटेल के नेतृत्व में प्रदर्शनकारियों से कहा है कि वो ‘कानूनी प्रक्रिया’ का पालन करें लेकिन ‘आंदोलन की दिशा बदल चुकी है.’

Hardik Patel

लक्ष्य पाने के लिए कानूनी प्रक्रिया का पालन करें आंदोलनकारी

उन्होंने कहा, ‘बदलावों को देखने पर आप पाएंगे कि धीरे-धीरे यह एक ऐसा आंदोलन बन गया है जिसे एक राजनीतिक दल का समर्थन हासिल है. लोग इस आंदोलन से भावनात्मक तौर पर जुड़े थे लेकिन आयोजकों का रूझान एक राजनीतिक दल की ओर हो रहा है.’ शाह ने कहा कि उनकी पार्टी की सरकार ने गुजरात में आंदोलनकारियों से कहा है कि अपने लक्ष्य को पाने के लिए कानूनी प्रक्रिया का पालन करें.

उन्होंने कहा, ‘पाटीदार आंदोलन की प्रमुख मांग के अुनसार अगर किसी जाति को ओबीसी कैटगरी में शामिल किया जाना है तो उस जाति की ओर से ओबीसी आयोग में एक आवेदन देना चाहिए.’ अनुशंसा के बाद ही किसी जाति को उस कैटगरी में जगह मिल सकती है.

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा, ‘लेकिन दुर्भाग्य से आंदोलन की दिशा बदल गई. चुनाव करीब आ रहे हैं, ऐसे में आप देखेंगे कि धीरे-धीरे यह मुद्दा राजनीतिक रंग लेता जाएगा.’ उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक आरक्षण 50 फीसदी से अधिक नहीं हो सकता.

उन्होंने कहा कि एससी, एसटी उम्मीदवारों के लिए आरक्षण मजबूरी है और कोई भी राज्य सरकार इसमें बदलाव नहीं कर सकती है. लेकिन यदि किसी जाति को ओबीसी कैटगरी के तहत स्थान चाहिए तो उसे एक प्रक्रिया से होकर गुजरता पड़ता है. ओबीसी आयोग में इस बारे में एक आवेदन जमा करना होता है.

पाटीदार आंदोलन के अगुवा हार्दिक पटेल ने हाल ही में संकेत दिए थे कि आने वाले गुजरात विधानसभा चुनाव में वो कांग्रेस का समर्थन कर सकते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi