S M L

नॉर्थ-ईस्ट में BJP: पांच सालों में 15 गुणा बढ़ी MLA की संख्या

कभी इस क्षेत्र में आठ राज्यों में से पांच में से एक भी विधायक नहीं थे. लेकिन उसके पास अब पांच मुख्यमंत्री हैं

FP Staff Updated On: Mar 04, 2018 03:47 PM IST

0
नॉर्थ-ईस्ट में BJP: पांच सालों में 15 गुणा बढ़ी MLA की संख्या

नॉर्थ-ईस्ट के लगभग सभी राज्यों में विधानसभा के चुनाव हो चुके हैं. इसमें मणिपुर, असम, त्रिपुरा, नागालैंड में बीजेपी की सरकार बन चुकी है या बनने जा रही है. शनिवार के आए तीन राज्यों के परिणाम के बाद अगर पूरे नॉर्थ-ईस्ट में बीजेपी को देखें तो परिणाम अप्रत्याशित नजर आ रहे हैं. पिछले पांच वर्षों में पार्टी के बढ़ने की गति और पैमाने अप्रत्याशित रहे हैं.

हिन्दुस्तान टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक 2013 और 2018 के बीच, क्षेत्र के आठ राज्यों में बीजेपी के विधायकों की संख्या 15 गुना बढ़ गई है. 2013 में जहां मात्र नौ विधायक थे, वहीं 2018 में बढ़कर यह 140 हो गई है.

2014 में 17 सदस्यों वाली बीजेपी के विधायकों की गिनती दोगुनी हो गई. यह 2016 के करीब चार गुना बढ़कर 72 विधायकों तक हो गई और 2018 में यह दोबारा बढ़कर 140 पहुंच गई है.

बीजेपी की सफलता की कीमत चुकानी पड़ती है कांग्रेस को 

बीजेपी के इस सफलता की कीमत कांग्रेस सहित कुछ क्षेत्रिय दलों को भी भुगतनी पड़ी है. आंकड़ों के मुताबिक 2013 से 2018 तक में कांग्रेस विधायकों की संख्या में 40% की कमी आई है. 2013 में 242 विधायक थे और अब यह 151 हो गया है. साल 2000 के आसपास क्षेत्रीय दलों के विधायकों का प्रतिशत 50 प्रतिशत हुआ करता था, वहीं अब यह घटकर 40 प्रतिशत तक पहुंच चुका है.

कभी इस क्षेत्र में आठ राज्यों में से पांच में से एक भी विधायक नहीं थे. लेकिन उसके पास अब पांच मुख्यमंत्री हैं. एक राज्य में वह सत्तारूढ़ गठबंधन का हिस्सा है. यहां कांग्रेस के लिए ठीक उलट स्थिति है. अब उसके पास केवल दो राज्यों में मुख्यमंत्री हैं.

कुल मिलाकर देखें तो नॉर्थ-ईस्ट में विधायकों की संख्या में कांग्रेस 151 विधायकों के साथ अब भी बीजेपी से आगे है. लेकिन दोनों के बीच मात्र 11 संख्या का अंतराल है. बीजेपी के पास इस वक्त कुल 140 विधायकों का संख्याबल है.

पांच राज्यों में सीएन बनाने में रही है नेडा की महत्वपूर्ण भूमिका 

पीएम नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की अगुवाई में बीजेपी लगातार अपने सांसदों विधायकों की संख्या में बढ़ोत्तरी कर रही है. वहीं नॉर्थ-ईस्ट के प्रभारी के तौर पर पार्टी के महासचिव और पूर्व संघ प्रवक्ता राम माधव लगातार इन इलाकों में सक्रिय रहे हैं.

बीजेपी यहां यूं ही नहीं हर दिन आगे बढ़ रही है. जिस तरीके से केंद्र में सरकार बनाने के लिए पार्टी ने नेशनल डेमोक्रेटिक एलायंस यानी एनडीए की स्थापना की, उसी प्रकार नॉर्थ-ईस्ट के राज्यों में सरकार बनाने के लिए नॉर्थ-ईस्ट डेमोक्रेटिक एलायंस की स्थापना की.

हाल ये है कि अभी सिक्किम पवन चामलिंग (एसडीएफ), अरुणाचल प्रदेश में पेमा खांडू (बीजेपी), असम में सर्वानंद सोनोवाल (बीजेपी), मणिपुर में एन बीरेन सिंह (बीजेपी) के सीएम हैं. नागालैंड में सरकार बनने जा रही है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
गोल्डन गर्ल मनिका बत्रा और उनके कोच संदीप से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi