S M L

कांग्रेस का चरित्र ही है नारा देकर वोट लेना और फिर सब कुछ भूल जाना: मनोज सिन्हा

बीजेपी लीडर मनोज सिन्हा ने किसानों की कर्जमाफी के कांग्रेस के घोषणा पर पार्टी को घेरा

Updated On: Jan 24, 2019 05:36 PM IST

Bhasha

0
कांग्रेस का चरित्र ही है नारा देकर वोट लेना और फिर सब कुछ भूल जाना: मनोज सिन्हा

कांग्रेस पर किसानों की कर्जमाफी का वादा पूरा करने में फेल रहने और धोखा करने का आरोप लगाते हुए बीजेपी ने गुरुवार को कहा कि नारा देकर वोट लेना और वोट मिलने पर सब कुछ भूल जाना कांग्रेस पार्टी का चरित्र रहा है और किसानों की कर्जमाफी के मामले में यह एक बार फिर साबित हुआ है.

केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता मनोज सिन्हा ने पार्टी मुख्यालय मे पत्रकारों से कहा कि हाल ही में हुए विधानसभा चुनावों में कांग्रेस पार्टी ने किसानों का कर्ज माफ करने का वादा किया था. लेकिन कांग्रेस पार्टी ने किसानों के साथ सिर्फ और सिर्फ छल करने का काम किया है. मध्यप्रदेश में कई किसानों के 97 रुपए, 313 रुपए जैसी राशि माफ किए जाने की बात सामने आई है.

उन्होंने जोर दिया कि कई किसानों जिन्होंने कर्ज नहीं लिया था, उनका नाम कर्जदारों की सूची में सामने आया है. कर्नाटक में किसानों को गिरफ्तार किए जाने और कथित आत्महत्या के मामले भी सामने आए हैं.

सिन्हा ने आरोप लगाया कि एक तरफ वाजिब किसानों की कर्जमाफी नहीं हो रही है तो दूसरी ओर ऐसी खबरें आ रही है कि कांग्रेस के अनेक नेताओं के परिवारों के लोगों के कर्जे माफ किए गए हैं. कर्जमाफी में मानकों का साफ उल्लंघन किया जा रहा है. ऐसे किसानों के कर्जे माफ किए गए हैं जिनके पास 18 एकड़ तक जमीन है.

बीजेपी नेता ने इस संदर्भ में कुछ किसानों के नाम सहित उदाहरण भी दिए.

कांग्रेस पर किसानों से वादाखिलाफी करने का आरोप लगाते हुए सिन्हा ने कहा, ‘नारा देकर वोट लेना कांग्रेस पार्टी का चरित्र रहा है और वोट मिलने के बाद वो सब भूल जाते हैं, वोट मिल जाने के बाद किसी भी घोषणा पर काम नहीं करती.'

उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस पार्टी और उसके अध्यक्ष देश की जनता को बेवकूफ बना रहे हैं. उन्होंने कहा कि पहले भी जब कांग्रेस के नेतृत्व की सरकार थी तब कर्जमाफी की गई थी लेकिन वह कर्ज माफी के घोटाले के रूप में सामने आया.

उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने राजस्थान, छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले किसानों की कर्जमाफी का वादा किया था लेकिन जो उदाहरण सामने आए हैं, वह कर्जमाफी के नाम पर किसानों से मजाक है.

उन्होंने जोर दिया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एनडीए सरकार किसानों की आमदनी दोगुना करने का प्रयास कर रही है और निश्चित तौर पर इससे देश के किसानों को लाभ पहुंचेगा.

कांग्रेस से किसानों की कर्जमाफी का वादा पूरा करने की मांग करते हुए उन्होंने कहा कि हम किसानों की सहायता करके उन्हें मजबूत बनाना चाहते हैं ताकि वे राष्ट्र निर्माण में और अधिक योगदान कर सकें.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi