S M L

अगर सिखों के खिलाफ दंगे नहीं हुए तो राहुल के पिता और दादी भी शहीद नहीं हुए: कौर

राहुल ने उस घटना को ‘त्रासदी’ और ‘दर्दनाक अनुभव’ करार दिया, लेकिन इस बात से सहमत नहीं हुए कि कांग्रेस इसमें ‘शामिल’ थी

Updated On: Aug 25, 2018 08:18 PM IST

FP Staff

0
अगर सिखों के खिलाफ दंगे नहीं हुए तो राहुल के पिता और दादी भी शहीद नहीं हुए: कौर

सिखों के खिलाफ हुए दंगों पर राहुल गांधी के बयान पर पलटवार करते हुए केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने कांग्रेस अध्यक्ष पर निशाना साधा. केंद्रीय मंत्री ने कहा, 'अगर राहुल गांधी के मुताबिक सिखों का नरसंहार नहीं हुआ तो मेरा भी मानना है कि उनके पिता (राजीव गांधी) और दादी मां (इंदिरा गांधी) की भी हत्या नहीं हुई. उनकी मौत भी सामान्य दिल के दौरे से हुई.'

दरअसल कांग्रेस अध्यक्ष ने शुक्रवार को लंदन के हाउस ऑफ कॉमंस कैंपस में 'भारत एवं विश्व' विषय पर हुई परिचर्चा में शामिल हुए थे. यहां साल 1984 के सिख विरोधी दंगों में कांग्रेस पार्टी की ‘संलिप्तता’ के बारे में पूछे गए एक सवाल के जवाब में राहुल ने उस घटना को ‘त्रासदी’ और ‘दर्दनाक अनुभव’ करार दिया, लेकिन इस बात से सहमत नहीं हुए कि कांग्रेस इसमें ‘शामिल’ थी.

उन्होंने कहा, ‘मैं समझता हूं कि किसी के खिलाफ की गई कोई भी हिंसा गलत है. भारत में कानूनी प्रक्रियाएं चल रही हैं, लेकिन जहां तक मेरी राय है, उस दौरान हुई किसी भी गलती के लिए सजा मिलनी चाहिए. मैं इसमें 100 फीसदी समर्थन दूंगा.’ कांग्रेस अध्यक्ष के इसी बयान पर पलटवार करते हुए केंद्रीय मंत्री ने यह हमला किया.

पी चिदंबरम भी उतरे राहुल के बचाव में

इस के बचाव में शनिवार को पूर्व वित्तमंत्री और कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस भी की. चिदंबरम ने प्रेस कॉन्फ्रेस कर कहा, '1984 में कांग्रेस सत्ता में थी. उस वक्त एक बहुत ही भयानक घटना हुई थी, जिसके लिए मनमोहन सिंह ने संसद में माफी भी मांगी थी. आप उसके लिए राहुल गांधी को जिम्मेदार नहीं ठहरा सकते हैं, वो उस वक्त बस 13-14 साल के थे. उन्होंने इसके लिए किसी का बचाव नहीं किया है.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi