S M L

मिशन 2019: 16 दिसंबर के बाद दिल्ली में हर रविवार बीजेपी की रैली, PM मोदी भी होंगे शामिल

बीजेपी सूत्रों के मुताबिक दिल्ली में हर रविवार अलग-अलग जगहों पर होने वाली चारों रैलियों का उद्देश्य विभिन्न मुद्दों पर समाज के अलग-अलग वर्गों के लोगों को अपनी ओर आकर्षित करना है

Updated On: Dec 04, 2018 12:12 PM IST

FP Staff

0
मिशन 2019: 16 दिसंबर के बाद दिल्ली में हर रविवार बीजेपी की रैली, PM मोदी भी होंगे शामिल

केंद्र में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) चुनावी मोड में आ गई है. 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव की तैयारियों के तहत पार्टी की योजना दिसंबर के मध्य से दिल्ली में हर रविवार रैली करने की है.

द हिंदू में छपी खबर के अनुसार ऐसी संभावना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इनमें से किसी एक रैली में शामिल होंगे. दिल्ली के रामलीला मैदान में 16 दिसंबर को पहली हुंकार रैली होगी. साल 2012 में हुए निर्भय गैंगरेप की याद में लगभग 50 हजार महिलाएं इस रैली में शामिल होंगी. बीजेपी सूत्रों के अनुसार 1 फरवरी तक हर रविवार पार्टी ऐसी ही रैलियां करेगी.

उन्होंने कहा कि इन चारों रैलियों का उद्देश्य विभिन्न मुद्दों पर समाज के अलग-अलग वर्गों के लोगों को अपनी ओर आकर्षित करना है.

उन्होंने बताया कि बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह इस दौरान कम से कम एक रैली को संबोधित करेंगे.

Bhopal: Prime Minister Narendra Modi flanked by BJP National President Amit Shah (R) and Madhya Pradesh Chief Minister Shivraj Singh Chouhan wave at their supporters during BJP 'Karyakarta Mahakumbh', in Bhopal, Tuesday, Sept 25, 2018. (PTI Photo) (PTI9_25_2018_000109B)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह दोनों के बीजेपी की दिल्ली में होने वाली रैलियों में शामिल होने की संभावना है (फोटो: पीटीआई)

बीजेपी की रैलियों का शेड्यूल

सूत्रों के मुताबिक 16 दिसंबर को बीजेपी की दिल्ली में पहली रैली होगी. इसमें 50 हजार कार्यकर्ता और बूथ लेवल वर्कर शामिल होंगे.

23 दिसंबर को प्रस्तावित 'पंच परमेश्वर' रैली इंदिरा गांधी स्टेडियम में होगी. इसमें दिल्ली भर के 13,818 बूथों के लगभग 70 हजार कार्यकर्ताओं की भीड़ जुटने की संभावना है. इस रैली को पार्टी अध्यक्ष अमित शाह संबोधित करेंगे.

युवाओं को केंद्रबिंदु में रखकर 30 दिसंबर को रैली होगी. इसमें 1 लाख बीजेपी कार्यकर्ताओं के शामिल होने की संभावना है. इसके बाद चौथी और अंतिम रैली 20 जनवरी या 1 फरवरी को होगी.

उन्होंने कहा कि प्रस्तावित चौथी रैली जो 20 जनवरी या 1 फरवरी को हो सकती है उसके आयोजन के लिए जगह तलाश की जा रही है. इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शामिल हो सकते हैं और इसे संबोधित कर सकते हैं. इस दौरान उनकी देखरेख में यहां लोगों को सामुदायिक रूप से खिचड़ी परोसा जाएगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi