S M L

बीजेपी अपने रास्ते में आने वाले हर किसी को खंजर मार रही है: शिवसेना

शिवसेना ने विरार में रैली के दौरान मराठा योद्धा छत्रपति शिवाजी की तस्वीर पर माल्यार्पण के दौरान अपनी खड़ाऊ रूपी चप्पल नहीं उतारने के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की निंदा की

Bhasha Updated On: May 25, 2018 04:56 PM IST

0
बीजेपी अपने रास्ते में आने वाले हर किसी को खंजर मार रही है: शिवसेना

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के शिवसेना पर धोखा देने का आरोप लगाए जाने के कुछ दिन बाद ही शिवसेना ने बीजेपी को ‘सनकी खूनी’ बताते हुए शुक्रवार को कहा कि इसके रास्ते में जो भी आ रहा है वह उसे खंजर मार रही है.

शिवसेना ने विरार में रैली के दौरान मराठा योद्धा छत्रपति शिवाजी की तस्वीर पर माल्यार्पण के दौरान अपनी खड़ाऊ रूपी चप्पल नहीं उतारने के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की निंदा की. 28 मई को पालघर लोकसभा उपचुनाव के लिए योगी रैली करने आए थे.

शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ में कहा, ‘उत्तर प्रदेश के ढोंगी मुख्यमंत्री ने चुनाव अभियान के लिए पालघर का दौरा किया और कहा कि शिवसेना ने बीजेपी की पीठ में खंजर घोंपा. यह दिखाता है कि वह छत्रपति शिवाजी के इतिहास को नहीं समझ पाए हैं.’

पार्टी ने आरोप लगाया, ‘बीजेपी एक पागल हत्यारा बन गई है जो अपने रास्ते में आने वाले किसी को भी खंजर मार रही है.’

फडणवीस ने हाल में कहा था कि शिवसेना ने पालघर लोकसभा उपचुनाव में दिवंगत सांसद चिंतामन वनगा के पुत्र को चुनाव मैदान में उतारकर बीजेपी को धोखा दिया है.

शिवसेना ने कहा कि बीजेपी ने पालघर उपचुनाव के लिए कांग्रेस के पूर्व नेता राजेंद्र गावित को उम्मीदवार बनाने का कृत्य किया और बीजेपी सेना के खिलाफ बोल रही है.

उन्होंने कहा, ‘योगी आदित्यनाथ या देवेंद्र फडणवीस को पीठ में खंजर भोंकने की भाषा नहीं जंचती है.’ शिवसेना ने कहा कि बीजेपी उन लोगों को अवसर दे रही है जिन्होंने बाला साहेब (ठाकरे) की पीठ में खंजर भोंका था, जब वह जीवित थे.

सेना ने कहा कि उसने सभी चुनाव अकेले लड़ने का निर्णय लिया है. सेना ने अगले लोकसभा चुनाव का स्पष्ट जिक्र करते हुए कहा, ‘यह कल होने वाली लड़ाई की शुरुआत है.’ सामना में कहा गया, ‘सेना की नासिक और परभणी में जीत केवल एक शुरुआत है और पालघर (लोकसभा उपचुनाव) में हमारी जीत ट्रेलर होगा.’

शिवसेना ने कहा, ‘योगी यहां आते हैं और छत्रपति पर पाठ पढ़ाते हैं, लेकिन उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण करते समय वह अपनी चप्पलें भी नहीं उतारते है. यह छत्रपति शिवाजी का अपमान है. बीजेपी को इस पर क्या कहना है.’

सेना ने आरोप लगाया कि बीजेपी महाराष्ट्र की छवि को नुकसान पहुंचा रही है जिसे अपनी ‘ईमानदारी और विश्वसनीयता’ के लिए जाना जाता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi