S M L

बीजेपी, कांग्रेस दलितों और सवर्ण समाज के गरीबों की हितैषी नहीं: मायावती

मायावती ने पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा, हम जानते हैं कि न तो बीजेपी और न ही कांग्रेस बहुजन समाज और सवर्ण समाज के गरीबों की हितैषी पार्टी है

Updated On: Oct 09, 2018 04:27 PM IST

Bhasha

0
बीजेपी, कांग्रेस दलितों और सवर्ण समाज के गरीबों की हितैषी नहीं: मायावती

बीएसपी अध्यक्ष मायावती ने दलित, अल्पसंख्यक और सवर्ण समाज के गरीबों की बदहाली के लिए बीजेपी और कांग्रेस को बराबर का जिम्मेदार ठहराया है. मायावती ने मंगलवार को बीएसपी के संस्थापक कांशीराम की पुण्यतिथि पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा, हम जानते हैं कि न तो बीजेपी और न ही कांग्रेस बहुजन समाज और सवर्ण समाज के गरीबों की हितैषी पार्टी है.

अगर ऐसा नहीं होता तो इन वर्गों की सामाजिक, राजनीतिक, आर्थिक एवं शैक्षणिक हालत आज इतनी ज्यादा दयनीय नहीं होकर पिछले 70 वर्षों में काफी सुधर गई होती और सत्ता में इनकी समुचित भागीदारी भी होती. बहुजन प्रेरणा केंद्र में आयोजित श्रद्धांजलि सभा में संक्षिप्त संबोधन के दौरान उन्होंने बीजेपी और कांग्रेस पर बराबर निशाना साधा.

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के साथ गठबंधन नहीं करने के बारे में मायावती ने बीएसपी को सम्मानजनक सीटें नहीं मिलने को प्रमुख वजह बताया. उन्होंने कहा, वैसे तो बीजेपी और कांग्रेस से इन वर्गों के व्यापक हित और सम्मान की उम्मीद भी नहीं है, लेकिन इनका अपमान भी हम बर्दाश्त नहीं कर सकते. इसीलिए चुनावी गठबंधनों के लिए हमारी पार्टी ने ‘सम्मानजनक सीटें‘ मिलने मात्र की शर्त रखी थी. इसका मतलब साफतौर पर यह है कि गठबंधन में बीएसपी सीटों के लिए भीख ‘नहीं मांगेगी.’

मायावती ने कांग्रेस और बीजेपी पर बीएसपी को कमजोर करने का भी आरोप लगाया. उन्होंने कहा, कांग्रेस व बीजेपी, दोनों ही पार्टियां बीएसपी और इसके नेतृत्व को कमजोर, बदनाम और राजनीतिक तौर पर कमजोर करने के लिए हमेशा प्रयासरत रहती हैं. खासकर चुनाव के समय तो यह कुत्सित प्रयास और भी ज्यादा सघन और विषैले हो जाते है. उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं को इससे सावधान रहने के लिए आगाह भी किया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi