S M L

सिर्फ 36 राफेल विमान खरीदकर बीजेपी ने राष्ट्रीय सुरक्षा से समझौता किया: चिदंबरम

चिदंबरम ने कहा, यदि बीजेपी द्वारा तय की गई कीमत 9-20 प्रतिशत तक सस्ती थी, तो तार्किक रूप से सरकार को और अधिक विमान खरीदना चाहिए. तो कम संख्या में विमान क्यों खरीद रहें हैं

Updated On: Jan 05, 2019 01:40 PM IST

FP Staff

0
सिर्फ 36 राफेल विमान खरीदकर बीजेपी ने राष्ट्रीय सुरक्षा से समझौता किया: चिदंबरम

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम ने शनिवार को नरेंद्र मोदी सरकार पर राफेल विमान सौदे को लेकर राष्ट्रीय सुरक्षा से समझौता करने का आरोप लगाया और सवाल किया कि जब वायुसेना को 126 विमानों की जरूरत थी तो फिर 36 विमान ही क्यों खरीदे गए हैं.

चिदंबरम ने ट्वीट कर कहा, 'आपने विमानों की संख्या 126 से घटाकर 36 क्यों की, इस सवाल पर रक्षा मंत्री का कहना है कि फ्लाईवे कंडीशन में आपको 18 विमान मिलते, लेकिन हमें 36 विमान मिलेंगे. क्या यह सवाल का जवाब है?'

उन्होंने पूछा, 'वायु सेना कम से कम 7 स्क्वाड्रन (126 विमान) चाहती थी. यह संख्या रक्षा अधिग्रहण परिषद - डीएसी द्वारा बताई गई थी. क्या वायु सेना या डीएसी ने कभी यह संख्या कम करके 36 विमानों की आवश्यकता बताई?'

चिदंबरम ने कहा, 'यदि बीजेपी द्वारा तय की गई कीमत 9-20 प्रतिशत तक सस्ती थी, तो तार्किक रूप से सरकार को और अधिक विमान खरीदना चाहिए. तो कम संख्या में विमान क्यों खरीद रहें हैं?'

पूर्व वित्त मंत्री ने कहा, 'बीजेपी का कहना है कि यह एक आपातकालीन खरीद थी. पेरिस में प्रधानमंत्री ने 10-4-2015 को बयान दिया था. इस बात को चार साल बीत चुके हैं आज तक भारत में एक भी विमान क्यों नहीं आया है? क्या है यह आपातकालीन खरीद?'

उन्होंने कहा, 'जब वायु सेना की आवश्यकता 126 विमानों की है तब बीजेपी सरकार ने केवल 36 विमान खरीद कर राष्ट्रीय सुरक्षा से समझौता किया है. 126 विमान खरीदने के लिए सरकार ने कॉन्ट्रैक्ट भी क्यों नहीं किया?'

(इनपुट भाषा से)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi