S M L

बिहार: एक-दूसरे की छीछालेदर करा रही हैं आरजेडी और जेडीयू

नीतीश कुमार की गिनती एक शालीन नेता की तरह होती रही है. लेकिन क्या उनके बिना सहमति के प्रवक्ता संजय सिंह ने फोटो बम छोड़ा है? बिल्कुल नहीं

Updated On: Nov 04, 2017 12:35 PM IST

Kanhaiya Bhelari Kanhaiya Bhelari
लेखक वरिष्ठ पत्रकार हैं.

0
बिहार: एक-दूसरे की छीछालेदर करा रही हैं आरजेडी और जेडीयू

बिहार की सियासी राजनीति द्रुत गति से घोटाला बम से फोटो बम की तरफ शिफ्ट कर रही है. लोक, लाज और शर्म को खूंटी पर टांगकर लड़ाई जीतने की गरज से दोनों तरफ के योद्धा ताबड़तोड़ फोटो बम का बिलो दी बेल्ट हिट करके लड़ाई जीतने की जल्दबाजी में दिखते हैं.

संजय सिंह ने फोड़ा फोटो बम

शुक्रवार को सरकारी पार्टी जनता दल यू के प्रवक्ता और विधान पार्षद संजय सिंह ने विधानसभा में प्रतिपक्ष के लीडर और पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव की एक पुरानी तस्वीर मीडिया के सामने जारी की. फोटो में यादव राजकुमार एक लड़की के साथ चिपके हुए हैं. बगल में टेबल पर एक ग्लास सोमरस भी रखा है.

मीडिया को तस्वीर दिखाकर माननीय विधान पार्षद महोदय तेजस्वी से सवाल पूछते हैं ‘बताइए ये क्या है? यही करने आप राजनीति में घुसे हैं? संजय की बॉडी लैंग्वेज बता रही थी कि वो काफी गुस्से में हैं. इस तस्वीर के बहाने महोदय ने कई छिछालेदार आरोप भी तेजस्वी यादव के ऊपर लगाए जिसे लिखना ठीक नहीं होगा.

ये भी पढ़ें: जेडीयू ने महिला के साथ तस्वीर को लेकर तेजस्वी पर बोला हमला

खोजबीन करने पर पता चला कि संजय सिंह के गुस्से का तत्कालिक कारण है तेजस्वी यादव का बीते परसों और कल का बयान, जो फोटो बम से लैस था. प्रतिपक्ष के नेता और लालू यादव के लाल ने सीएम नीतीश कुमार का एक दारू माफिया के साथ छपी तस्वीर को मीडिया के सामने पेश करके सीएम से सवाल पूछा था ‘ये माफिया आपके ड्राइंग रूम तक कैसे पहुंचा अंकल?’

तेजस्वी का भी वैसा ही सवाल

बहरहाल, विधान पार्षद संजय सिंह की ओर से शुक्रवार को छोड़े गए बम की काट में तेजस्वी ने अर्चना एक्सप्रेस और उपासना एक्सप्रेस नामक बम राजनीतिक दुश्मन को जंग-ए-मैदान में पछाड़ने के लिए फेंका. ये दोनों रेलगाड़ी नीतीश कुमार ने बतौर रेलवे मंत्री शुरू की थी. तेजस्वी ने मुस्कुराते हुए पूछा, ‘चाचा नीतीश कुमार बताएं कि ये रेल गाड़ियां किसके नाम पर हैं?

बिहार के सीएम से इस ‘रहस्यमय’ सवाल को पूछने से पहले तेजस्वी यादव ने अपने ऊपर संजय सिंह की ओर से फेंके गए फोटो बम का तोड़ कुछ इस प्रकार बताया, ‘मैं आइपीएल में खेला हुआ क्रिकेटर हूं. तब भारत के कैप्टेन विराट कोहली भी उस टीम में हमारे साथ थे. मैं सेलिब्रिटी हुआ करता था. फैन फोटो खिंचवाने के लिए बोलते रहते थे. मेरी फैन इस लड़की ने मेरे साथ फोटो खिंचवा लिया.’

बम से बौखलाए तेजस्वी मीडिया से पूछते हैं, ‘इसमें गलत क्या है?’ स्वयं पूर्व डिप्टी सीएम सफाई देते हैं, ‘मैं इस लड़की को न जानता हूं और न पहचानता हूं’. तुरंत दार्शनिक मोड में आकर कहते हैं, ‘बताइए इस लड़की पर आज क्या गुजर रही होगी? अगर इसकी शादी हो गई होगी तो पति क्या सोचता होगा? लगता है चाचा अब अमर्यादित हो गए हैं?’

ये भी पढ़ें: नीतीश कुमार के आवास में शराब माफिया को किसने एंट्री दिलाई?

अलग होने के बाद से अमर्यादित हुईं पार्टियां

दरअसल, जब से जेडीयू और आरजेडी में तलाक हुआ है, दोनों तरफ के रणबांकुरे एक दूसरे के नेतृत्व के खिलाफ भद्र और अभद्र भाषा का प्रयोग करते आ रहे हैं. अमर्यादित भाषा की शुरूआत आरजेडी विधायक और प्रवक्ता भाई बीरेन्द्र ने की थी. भाई बीरेन्द्र ने सीएम नीतीश कुमार के बारे में गंदा आरोप लगाया था. राजद विधायक ने सीएम के पुत्र को भी अपने फाइरिंग रेंज में लिया था. बालू घोटाले में भतीजे की अरेस्टिंग को लेकर विधायक सीएम पर हमलावर हो गए थे. लालू यादव ने उन्हें शांत किया.

पिछले तीन महीने से दो तरह के सेनानी अपने-अपने बैग में घोटाला बम लेकर एक दूसरे को घायल और परेशान करने का काम कर रहे थे. लालू यादव, राबड़ी देवी और बेटी मीसा भारती के अलावा तेज प्रताप यादव और तेजस्वी यादव के खिलाफ चल रही सीबीआई की जांच को अपनी तरकश में लेकर जेडीयू के प्रवक्ता प्रहार कर रहे थे. दूसरी तरफ आरजेडी के प्रवक्ता सृजन घोटला से अटैक कर रहे थे. कभी-कभार आरजेडी सुप्रीमो सशरीर कूदकर लड़ाई की धार को तीखा बना दे रहे हैं.

सीएम नीतीश कुमार अभी तक लालू यादव के जवाब में सामने नहीं आए हैं. आएंगे भी नहीं. उनकी गिनती एक शालीन नेता की तरह होती रही है. लेकिन सवाल है कि क्या बिना उनके सहमति के प्रवक्ता संजय सिंह ने फोटो बम छोड़ा है? बिल्कुल नहीं.

प्रमाणिक तौर पर आरजेडी में एक से बढ़कर एक सूरमा हैं जो अपने बयानों से कमर के नीचे हिट करने में माहिर हैं. बेहतर यही होगा कि सीएम संजय सिंह लैसे प्रवक्ताओं की जुबान पर लगाम लगाएं और बिहार को बद से बदनामी की ओर जाने से बचाएं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi