S M L

बिहार: छेड़छाड़ की शिकायत राजभवन में करने के राज्यपाल के बयान पर शुरू हुई राजनीति

राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा था कि कैम्पस में हो रहे छेड़छाड़ की शिकायत छात्राएं सीधे राजभवन में कर सकती हैं

Bhasha Updated On: Jun 15, 2018 06:08 PM IST

0
बिहार: छेड़छाड़ की शिकायत राजभवन में करने के राज्यपाल के बयान पर शुरू हुई राजनीति

बिहार के विश्वविद्यालयों में पढ़ाई कर रही छात्राओं को कैम्पस में छेड़छाड़ या यौन उत्पीड़न संबंधी शिकायतें सीधे राजभवन में करने के राज्यपाल सत्यपाल मलिक के बयान पर विपक्षी आरजेडी और सत्तारूढ़ जेडीयू के बीच कानून व्यवस्था के मुद्दे पर शुक्रवार को राजनीतिक बहस छिड़ गई. राज्य विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने दावा किया कि यह राज्य में कानून व्यवस्था की शर्मनाक स्थिति को दिखाता है.

बिहार के राज्यपाल ने गुरुवार को पटना में कहा था कि राजभवन में अधिकारी नियुक्त किए गए हैं और इस तरह ही शिकायतों को सुनने के लिए और पीड़िता की मदद के लिए विशेष टेलीफोन नंबर की व्यवस्था की गई है. मलिक ने एक कार्यक्रम में यह कहा, जिसका आयोजन बिहार के कई विश्वविद्यालयों के छात्र संघों के पदाधिकारियों ने किया था. राज्यपाल राज्य के विश्वविद्यालयों के पदेन कुलाधिपति होते हैं.

यादव ने इस खबर पर प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए ट्वीट किया, ‘अति-शर्मनाक! राज्यपाल जानते है कि नीतीश राज में कानून व्यवस्था की शर्मनाक स्थिति है. सीएम के अधीन गृह विभाग भ्रष्टाचार की दलदल में डूबा हुआ है. अब आप समझ लीजिए बिहार में क्या हालात होंगे, जब राज्यपाल को हस्तक्षेप कर खुद महिला उत्पीड़न पर संज्ञान लेना पड़ रहा है.’

इसपर, जेडीयू के प्रवक्ता नीरज कुमार ने एक बयान में कहा कि आरजेडी नेता बड़ी चालाकी से काम करने की कोशिश कर रहे हैं. पूरे बिहार को वह आतंक और अव्यवस्था याद है, जो आरजेडी के 15 वर्षों के शासनकाल में उसने झेला था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi