S M L

पीएम मोदी का मुकाबला करने की किसी में क्षमता नहीं: नीतीश कुमार

आरजेडी के प्रेस कांफ्रेंस के तुरंत बाद बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को महागठबंधन टूटने के मुद्दे पर सफाई दी

Updated On: Jul 31, 2017 05:29 PM IST

FP Staff

0
पीएम मोदी का मुकाबला करने की किसी में क्षमता नहीं: नीतीश कुमार

आरजेडी के प्रेस कांफ्रेंस के तुरंत बाद बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को महागठबंधन टूटने के मुद्दे पर सफाई दी. उन्होंने साफ कहा कि मेरे पास कोई दूसरा विकल्प नहीं था. महागबंठन बचाने की मैंने पूरी कोशिश की.

महागठबंधन की पार्टियों के तरफ से कई बयान दिए गए जो गठबंधन धर्म के खिलाफ था. हमारी पार्टी के तरफ से लालू प्रसाद के खिलाफ कोई बयान नहीं दिया गया और इस दौरान हमने कई बातों को बर्दाश्त किया.

उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद के कई बार बात हुई. करप्शन से समझौता के लिए पार्टी कभी तैयार नहीं थी. आम जनता के बीच उन्हें स्पष्टीकरण देना चाहिए था लेकिन सफाई नहीं दी गई.

सीएम ने कहा कि सेक्युलरिजम एक विचार है. सेक्युलरिजम और डेमोक्रेसी में मुझे पक्का यकीन है और हमें किसी पार्टी से सार्टिफिकेट की जरूरत नहीं है. मैं किसी आलोचना से परेशान नहीं हूं. मैं काम में यकीन करता हूं. समाज के हर तबके के लिए काम करता हूं.

पत्रकारों के एक सवाल पर सीएम नीतीश कुमार ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि 2019 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मुकाबला करने की किसी में क्षमता नहीं है.

लालू को बताया जाति का नेता

आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद पर हमला करते हुए कहा कि महागठबंधन किसी के खिदमत करने के लिए नहीं बनाया गया था. नीतीश ने कहा कि हमारे समर्थकों ने आंख बंदकर आरजेडी का समर्थन किया लेकिन वो (लालू प्रसाद) हमारे पक्ष में ऐसा नहीं करा पाएं.

मैं गांधी के विचारों में यकीन रखता हूं. आप मेरे खिलाफ लिख रहे हैं लेकिन मैं परेशान नहीं हूं. अगर मैं करप्शन से समझौता करता तो हो सकता था कि आप मेरे उपर और हमला करते.

मैंने 20 महीने सरकार चलाई. आप सरकार के काम की व्याख्या कर लीजिए. काम करने में हमने कोई कोताही नहीं बरती. लालू यादव पर हमला अप्रत्यक्ष तौर से हमला बोलते हुए नीतीश ने कहा हमें कास्ट बेस पर नहीं बल्कि मास बेस पर भरोसा है. उन्होंने यह भी कहा कि मैं जाति का नहीं जनता का नेता हूं. हमने जो भी निर्णय लिया वो बिहार के हित में लिया.

उन्होंने माना कि महाठबंधन सरकार में गर्वनेंस के मामले में थोड़ी दिक्कत होती थी. उन्होंने यह भी कहा कि उनकी पार्टी किसी की सहयोगी हो सकती है लेकिन फॉलोवर नहीं. उन्होंने यह भी कहा कि उन्होंने राहुल गांधी से मुलाकात में कहा था कि वे महागठबंधन को बचाना चाहते हैं.

साभार: न्यूज़18 हिंदी

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi