S M L

कांग्रेस विधायक के अस्पताल में भर्ती होने पर हुआ बड़ा विवाद, बीजेपी ने लगाया ये आरोप

स्थानीय मीडिया के अनुसार, कांग्रेस के विधायक आनंद सिंह को पार्टी के सहयोगी जे एन गणेश के सिर पर बोतल से वार करने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया

Updated On: Jan 20, 2019 04:33 PM IST

FP Staff

0
कांग्रेस विधायक के अस्पताल में भर्ती होने पर हुआ बड़ा विवाद, बीजेपी ने लगाया ये आरोप

कर्नाटक में राजनीतिक ड्रामा खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है. अवैध विधायकों के आरोपों के बाद, कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी के बीच पार्टी के एक पुराने विधायक के अस्पताल में भर्ती होने को लेकर नए सिरे से लड़ाई शुरू हो गई है. न्यूज 18 की खबर के अनुसार विधायक बंगलुरु के ईगलटन रिसॉर्ट में एक सहयोगी के साथ विवाद के बाद अस्पताल में भर्ती हुए जबकि कांग्रेस ने ऐसी किसी भी घटना से इनकार किया है. वहीं बीजेपी ने अपने प्रतिद्वंद्वी को 'लंगड़ा, जो केवल दोष देना पसंद करता है' कहा है. स्थानीय मीडिया के अनुसार, कांग्रेस के विधायक आनंद सिंह को पार्टी के सहयोगी जे एन गणेश के सिर पर बोतल से वार करने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां कांग्रेस विधायक ठहरे थे.

आनंद सिंह सीने में दर्द के कारण अस्पताल में भर्ती हैं

यहां तक कि जब कांग्रेस ने इस रिपोर्ट को बेहुदा कहा तो पार्टी के कई नेताओं को रविवार की सुबह अस्पताल पहुंचना पड़ा. डीके शिवकुमार के भाई और सांसद डीके सुरेश ने कहा- मैं लड़ाई के बारे में नहीं जानता. आनंद सिंह सीने में दर्द के कारण अस्पताल में भर्ती हैं. कोई घायल या कुछ भी नहीं हैं. उनके माता-पिता यहां अस्पताल में हैं. अन्य मुद्दे सिर्फ अटकलें हैं. बीजेपी विधायक आर अशोक ने सिंह के इलाज की अस्पताल के डॉक्टरों से स्पष्टीकरण की मांग की है. उन्होंने कहा- डीके शिवकुमार और डीके सुरेश झूठ बोलकर लोगों को भ्रमित कर रहे हैं.

बीजेपी कर्नाटक ने ट्वीट में कांग्रेस-जेडी (एस) सरकार पर निशाना साधा

अपोलो अस्पताल के डॉक्टरों को बाहर आना चाहिए और यह स्पष्ट करना चाहिए कि आनंद सिंह को सीने में दर्द के इलाज के लिए भर्ती कराया गया है या कुछ और ही बात है. पुलिस को मुकदमा दर्ज कर जांच करनी चाहिए. जब उप मुख्यमंत्री जी परमेश्वर से इस घटना पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा- जब हमारा एक सहकर्मी ठीक नहीं है, अगर यह सच है, स्वाभाविक रूप से कोई उसे देखने गया होगा. मुझे नहीं पता कि वह व्यक्ति कौन है. वहीं बीजेपी कर्नाटक ने एक ट्वीट में कांग्रेस-जेडी (एस) सरकार पर भी निशाना साधा.

दलबदल विरोधी कानून के अनुसार कार्रवाई शुरू की जाएगी

बीते शुक्रवार को कांग्रेस ने अपने 80 सांसदों में से 76 को बीजेपी द्वारा अवैध शिकार की आशंका के बीच स्थानांतरित कर दिया था. बता दें कि सिद्धारमैया ने सभी पार्टी विधायकों को नोटिस जारी किया था और चेतावनी दी थी कि उनकी अनुपस्थिति को गंभीरता से देखा जाएगा और दलबदल विरोधी कानून के अनुसार कार्रवाई शुरू की जाएगी. सीएलपी बैठक के तुरंत बाद जिसमें 76 विधायकों ने भाग लिया, कांग्रेस विधायकों को बीजेपी की कथित टॉपलिंग बोली के लिए एक काउंटर चाल में शहर के बाहरी इलाके में एक रिसॉर्ट में स्थानांतरित कर दिया गया. बीजेपी विधायक, जो गुरुग्राम के एक लक्जरी होटल में ठहरे हुए थे, कल रात घर लौट आए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi