S M L

मानहानि मामले में सीएम शिवराज ने दर्ज कराए बयान, कोर्ट में पेश की सीडी

सीएम ने कोर्ट में अपने ऊपर लगे आरोपों को सिरे से नकार दिया. साथ ही सबूत के तौर पर कोर्ट में एक सीडी भी पेश की

FP Staff Updated On: Apr 03, 2017 10:40 PM IST

0
मानहानि मामले में सीएम शिवराज ने दर्ज कराए बयान, कोर्ट में पेश की सीडी

कांग्रेस प्रवक्ता केके मिश्रा पर मानहानि के मामले में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल की जिला अदालत में बयान दर्ज कराए. सीएम ने कोर्ट में अपने ऊपर लगे आरोपों को सिरे से नकार दिया. साथ ही सबूत के तौर पर कोर्ट में एक सीडी भी पेश की.

केके मिश्रा के वकील अजय गुप्ता ने सीएम से किए कई सवाल

सुबह 11 बजे कोर्ट पहुंचे सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कोर्ट के बाहर केके मिश्रा से हंसकर बात करते हुए हाथ मिलाया और कोर्ट रूम में चले गए. इस मामले में करीब 1.45 मिनट यानी 105 सेकेंड तक सीएम ने बयान दर्ज कराए. मामले की अगली सुनवाई 7 अप्रैल को होगी.

सीएम के कोर्ट पहुंचने से पहले कलेक्टर निशांत वरवड़े, डीआईजी रमन सिकरवार और एसपी कोर्ट पहुंचे और उन्होंने सुरक्षा समेत दूसरी व्यवस्थाओं का जायजा लिया.

सीएम के बयान के दौरान केके मिश्रा के वकील अजय गुप्ता ने सीएम से कई सवाल भी किए. सीएम के वकील आनंद तिवारी ने कोर्ट में सबूत के तौर पर केके मिश्रा के प्रेस कांफ्रेंस की सीडी पेश की.

कोर्ट से निकलने के बाद सीएम ने मीडिया से कोई बात नहीं की. उन्होंने कोर्ट की मर्यादा का हवाला दिया. अजय गुप्ता ने व्यापमं, कैग रिपोर्ट, अपराध, नर्मदा यात्रा समेत दूसरे मुद्दे पर सीएम से सवाल किए.

 कांग्रेस प्रवक्ता केके मिश्रा ने 7 मार्च 2015 को भोपाल में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान आरोप लगाया था कि सीएम की ससुराल गोंदिया से 19 लोगों का परिवहन आरक्षक भर्ती में चयन हुआ है .सीएम की तरफ से उसके बाद कोर्ट में परिवाद लगाया गया था. 15 से ज्यादा लोगों के बयान पहले हो चुके हैं.
अदालत में शिवराज ने क्या कहा...

'खजुराहो में बीजेपी विधायकों के प्रशिक्षण शिविर में कुछ विधायकों ने मुझे बताया कि आपके खिलाफ टीवी में न्यूज चल रही है.

मुझ पर आरोप लगाया कि मैंने गलत तरीके से कई लोगों की भर्ती परिवहन विभाग में कराई है. मैंने न्यूज देखी जिसमें केके मिश्रा दिख रहे थे. दूसरे दिन सभी प्रमुख समाचार पत्रों में समाचार भी प्रकाशित हुआ था.

इससे मुझे मानसिक प्रताड़ना हुई थी. छवि धूमिल हुई, गरिमा को खंडित किया गया. संदेह की अंगुली उठने लगी थी. मुझे काम करने में दिक्कत हुई.

सीएम ने अपने ऊपर लगे आरोपों से इंकार किया है. साथ ही कोर्ट में सबूत के तौर पर एक सीडी भी पेश की गई.

(साभार न्यूज 18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi