S M L

गुजरात: अब निकाय चुनावों में पार्षदों की नीयत में लगने लगी सेंध

गुजरात में स्थानीय निकाय के चुनाव पांच वर्षों में ही होते हैं लेकिन नए प्रमुखों का चुनाव पांच साल के कार्यकाल के दौरान बीच में होता है

Updated On: Jun 19, 2018 01:09 PM IST

Bhasha

0
गुजरात: अब निकाय चुनावों में पार्षदों की नीयत में लगने लगी सेंध

जिला और ग्राम पंचायत प्रमुखों के चुनावों के पहले गुजरात कांग्रेस ने अपने पार्षदों को राज्य के बाहर भेज दिया है. उन्हें सत्तारूढ़ बीजेपी द्वारा रिझाने का प्रयास करने की आशंका है.

कांग्रेस प्रवक्ता मनीष दोषी ने कहा कि जिला पंचायतों के निर्वाचित सदस्यों को अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष पद के चुनाव होने तक बाहर भेज दिया गया है.

उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस शासित जिला पंचायतों में कांग्रेस पार्षदों को भाजपा द्वारा रिझाने से बचने के लिए हमने उन्हें राज्य से बाहर भेज दिया है. बीजेपी द्वारा धन-बल की मदद से सत्ता हासिल करने की कोशिशों को टालने के लिए यह कदम जरुरी था.’

बता दें कि गुजरात में स्थानीय निकाय के चुनाव पांच वर्षों में ही होते हैं लेकिन नए प्रमुखों का चुनाव पांच साल के कार्यकाल के दौरान बीच में होता है.

मालूम हो इससे पहले पिछले साल हुए राज्यसभा चुनाव के दौरान भी कांग्रेस ने बीजेपी पर अपने विधायकों को तोड़ने का आरोप लगाते हुए सभी विधायकों को कर्नाटक भेज दिया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi