S M L

SP-BSP के गठबंधन से नहीं होगा कोई असर, चुनाव के लिए तैयार रहें कार्यकर्ता- अमित शाह

सोशल मीडिया वॉलियंटरों को संबोधित करते हुए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि उन्हें जम्मू-कश्मीर से कन्याकुमारी तक आग की तरह फैल जाना है

Updated On: Jul 05, 2018 02:26 PM IST

FP Staff

0
SP-BSP के गठबंधन से नहीं होगा कोई असर, चुनाव के लिए तैयार रहें कार्यकर्ता- अमित शाह

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने वाराणसी में आयोजित ‘सोशल मीडिया वॉलंटियर्स मीट’ में कार्यकर्ताओं से आह्वान किया कि 2019 में बीजेपी की जीत सुनिश्चित करने के लिए वे पूरे देश में तन-मन से जुट जाएं. उन्होंने कहा कि यूपी में बीजेपी के खिलाफ बनने वाले एसपी और बीएसपी के गठबंधन का पार्टी के चुनाव प्रदर्शन पर कोई असर नहीं होगा.

बीजेपी अध्यक्ष शाह ने सोशल मीडिया को सबसे मजबूत हथियार बताते हुए कार्यकर्ताओं को फेसबुक, वॉट्सएप, ट्विटर व सोशल मीडिया के अन्य माध्यमों के जरिए केंद्र और प्रदेश सरकार की योजनाओं के अलावा भारतीय जनता पार्टी के लक्ष्य और उसकी हर छोटी बड़ी गतिविधियों की जानकारी जनता तक पहुंचाने के लिए कहा.

उन्होंने कार्यकर्ताओं से विपक्ष की बातों और उनकी तरफ से किए जा रहे वार का अपने हाजिर जवाबी से जवाब देने को कहा. उन्होंने कहा कि विरोधियों को हराने के लिए अपने रचनात्मक दिमाग का उपयोग करना होगा. पार्टी और प्रधानमंत्री के खिलाफ झूठ फैलाने वालों को उचित जवाब देने की जरूरत है.

पार्टी के सोशल मीडिया वॉलिंटियर्स को संबोधित करते हुए बीजेपी अध्यक्ष ने सवाल करते हुए कहा कि आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू या पूर्व प्रधान मंत्री देवेगौड़ा के पास मोदीजी की तरह पहुंच है? क्या लोग उत्तर प्रदेश में उनके भाषणों को सुनते हैं.

उन्होंने उत्तर प्रदेश सरकार की प्रशंसा करते हुए कहा कि राज्य में योगी सरकार के बाद कानून व्यवस्था में सुधार हुआ है. पिछली सरकार में यहां के अपराधी दिल्ली में छुप जाते थे, जहां स्थिति बिगड़ रही थी.

शाह ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि कुछ लोग हम पर सवालिया अंदाज में उंगलिया उठा रहे थे, लेकिन मोदी सरकार के चार साल के कार्यकाल के दौरान एक भी भ्रष्टाचार का मामला नहीं आया. यह हमारी ईमानदारी को साबित करता है. हमने भ्रष्टाचार मुक्त शासन दिया है.

उन्होंने कहा कि पिछले लोकसभा चुनावों के दौरान पार्टी ने 65 सीटें जीतने की उम्मीद की थी लेकिन लोगों ने 73 सीटों का जनादेश दिया था. अब हमें अगले चुनावो के लिए यह सुनिश्चित करने होगा कि उन पुराणी सीटों में एक सीट को और जोड़कर सीटों की संख्या 74 सीटें जीतें.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi