S M L

बांग्लादेश चुनावः अवामी लीग ने दर्ज की शानदार जीत, शेख हसीना चौथी बार बनेंगी प्रधानमंत्री

देश की मुख्‍य विपक्षी पार्टी ने आम चुनावों के परिणाम को खारिज कर दिया है, जिसके बाद चुनाव आयोग ने अवामी लीग की जीत की घोषणा कर दी है

Updated On: Dec 31, 2018 10:29 AM IST

FP Staff

0
बांग्लादेश चुनावः अवामी लीग ने दर्ज की शानदार जीत, शेख हसीना चौथी बार बनेंगी प्रधानमंत्री

बांग्‍लादेश में प्रधानमंत्री शेख हसीना की पार्टी अवामी लीग ने आम चुनाव में शानदार जीत दर्ज की है. न्यूज 18 की खबर के अनुसार देश की मुख्‍य विपक्षी पार्टी ने आम चुनावों के परिणाम को खारिज कर दिया है, जिसके बाद चुनाव आयोग ने अवामी लीग की जीत की घोषणा कर दी है. हालांकि, चुनाव आयोग ने धांधली के आरोपों की जांच भी शुरू कर दी है. बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना बीते रविवार को गोपालगंज-3 निर्वाचन क्षेत्र से एक तरह से निर्विरोध चुनाव जीत गईं. उन्हें 2,29,539 वोट मिले जबकि मुख्य प्रतिद्वंद्वी बीएनपी के उम्मीदवार को महज 123 वोट मिले.

चुनाव से जुड़ी हिंसा में कम से कम 17 लोगों की मौत हो गई

सत्तारूढ़ अवामी लीग के नेतृत्व वाले गठबंधन ने 300 सदस्यीय सदन में 260 से अधिक सीटों पर जीत दर्ज की है. निजी डीबीसी टीवी ने 300 में से 299 सीटों के नतीजे घोषित किए. सत्तारूढ़ अवामी लीग के नेतृत्व वाले महागठबंधन को 266 सीटें मिलीं और उसकी सहयोगी जातिय पार्टी को 21 सीटें मिलीं, जबकि विपक्षी राष्ट्रीय एकता मोर्चा (यूएनएफ) को बीएनपी के साथ केवल सात सीटें मिलीं. स्थानीय मीडिया ने बताया कि दो सीटों पर स्वतंत्र उम्मीदवार जीते. एक उम्मीदवार की स्वाभाविक मृत्यु के कारण एक सीट पर चुनाव स्थगित कर दिया गया था. चुनाव आयोग ने शाम को आधिकारिक तौर पर हसीना की जीत की घोषणा की. वहीं चुनाव से जुड़ी हिंसा में कम से कम 17 लोगों की मौत हो गई जबकि विपक्ष ने धांधली के आरोप लगाते हुए फिर से चुनाव कराने की मांग की है.

प्रतिद्वंद्वी बीएनपी के उम्मीदवार को महज 123 वोट मिले

चुनाव आयोग ने अभी तक केवल एक सीट गोपालगंज के परिणाम की पुष्टि की है जहां से हसीना को 2,29,539 वोट मिले हैं जबकि उनकी प्रतिद्वंद्वी बीएनपी के उम्मीदवार को महज 123 वोट मिले. हार को देखते हुए बांग्लादेश के मुख्य विपक्षी एनयूएफ गठबंधन ने आम चुनावों के परिणाम को खारिज कर दिया है और निष्पक्ष कार्यवाहक सरकार के अधीन फिर से चुनाव कराने की मांग की है. एनयूएफ में मुख्य दल बीएनपी है. चुनाव आयोग के मुताबिक 300 संसदीय सीटों में से 299 सीटों पर चुनाव हुआ है. इसके लिए 1,848 उम्मीदवार मैदान में हैं. चुनाव के लिए 40,183 मतदान केंद्र बनाए गए थे.

खालिदा जिया का भविष्य अधर में लटका नजर आ रहा है

एक उम्मीदवार के निधन के कारण एक सीट पर चुनाव नहीं हुआ. हसीना चौथी बार प्रधानमंत्री बनने के लिए चुनाव लड़ रही हैं जबकि ढाका जेल में बंद उनकी चिर प्रतिद्वंद्वी और बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी (बीएनपी) की प्रमुख खालिदा जिया का भविष्य अधर में लटका नजर आ रहा है. चुनाव आयोग के एक प्रवक्ता ने बताया कि आठ घंटे तक चली मतदान प्रक्रिया तय कार्यक्रम के अनुसार संपन्न हुई. उन्होंने कहा कि सोमवार सुबह तक गैर आधिकारिक परिणाम आने की उम्मीद है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi