S M L

आसनसोलः बाबुल सुप्रियो ने किसे दी खाल खींच लेने की धमकी?

रामनवमी के जुलूस को लेकर दो समूहों के बीच संघर्ष होने के बाद बर्द्धमान पश्चिम जिले के रानीगंज इलाके में भारी पुलिस बल तैनात है

Updated On: Mar 29, 2018 07:00 PM IST

FP Staff

0
आसनसोलः बाबुल सुप्रियो ने किसे दी खाल खींच लेने की धमकी?

केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो एक बार फिर अपने बयानों को लेक चर्चा में हैं. गुरूवार को पश्चिम बंगाल के हिंसाग्रस्त इलाके रानीगंज का दौरा करने पहुंचे थे. इस दौरान स्थानीय लोगों ने उनका विरोध किया. कहा वह यहां से वापस लौट जाएं. इसपर गुस्साए बीजेपी के मंत्री ने कहा कि यहां से लौट जाओ, नहीं तो खाल खींच लूंगा.

इससे पहले रामनवमी के जुलूस को लेकर दो समूहों के बीच संघर्ष होने के बाद बर्द्धमान पश्चिम जिले के रानीगंज इलाके में भारी पुलिस बल तैनात है. हिंसक संघर्ष में एक व्यक्ति की मौत हो गई थी और दो पुलिस अधिकारी जख्मी हो गए थे.

बाबुल सुप्रियो इसी इलाके का दौरा करने पहुंचे थे. यहां स्थानीय लोगों ने उनसे शांति भंग होने की बाद कही और लौट जाने को कहा. इस पर दोनों के बीच तीखी नोक-झोंक हो गई. विरोध कर रहे लोगों को सांसद ने पहले चुप रहने की सलाह दी. लेकिन लगातार विरोध होता देख, वह अपना आपा खो बैठे. इसके बाद खाल खींचने की धमकी दे डाली.

बहस कर रहे एक स्थानीय ने बाबुल सुप्रियो से कहा कि 'इलाके में अभी तक पुलिस नहीं तैनात की गई है. आप अभी तक कहां थे. मैं अपना हाथ उठा सकता हूं. यहां तक कि आपको भी मार सकता हूं.'

इसके बाद सुप्रियो ने कहा 'मैं भी तुम्हारी खाल खींच लूंगा. तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई मेरे सामने आने की. दूर हटो...दूर हटो यहां से.'

मंत्री के खिलाफ दर्ज हुआ मुकदमा, धारा 144 के उल्लंघन का आरोप 

भारी उद्योग मंत्री को दंगाग्रस्त इलाके में जाने से पुलिस ने रोक दिया. इसके साथ ही धारा 144 का उल्लंघन करने को लेकर उनके खिलाफ केस भी दर्ज किया गया है. यह नॉर्थ आसनसोल पुलिस थाने में की गई है.

आसनसोल के सांसद ने बुधवार को कोलकाता में कहा था, पुलिस द्वारा कार्रवाई नहीं करने से रानीगंज इलाके में हिंसा भड़की. अगर पुलिस ने पहले कदम उठाए होते तो हिंसा को टाला जा सकता था. पुलिस ने अपने राजनीतिक आकाओं के कहने के मुताबिक काम किया और इलाके में गुंडों को पूरी छूट दे दी.

उन्होंने कहा, हम जिहादी सरकार को दिखा देंगे कि बंगाल की आत्मा भी जिंदा है. सोशल मीडिया पर कई सौ तस्वीरें सर्कुलेट हो रही हैं, सभी को वेरिफाई करना नामुमकिन है. लेकिन इनमें से अगर 25 फीसदी भी सही हैं, तो पता लगा सकते हैं हालात कितने खराब हैं.

सुप्रियो ने गृह मंत्री राजनाथ सिंह को फोन किया था और उनसे मामले पर गौर करने के लिए कहा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi