S M L

आजम के बिगड़े बोल - 'खाली बैठा मुसलमान बच्चे ही तो करेगा पैदा'

आजम खान ने एक बार फिर विवादास्पद बयान दिया है.

Updated On: Feb 17, 2017 07:58 PM IST

FP Politics

0
आजम के बिगड़े बोल - 'खाली बैठा मुसलमान बच्चे ही तो करेगा पैदा'

अपने बयानों से विवादों को जन्म देने वाले आजम खान की ज़ुबान से फिर वो लब फूटे हैं जो विवादों की शख्ल अख्तियार कर चुके हैं. यूपी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर इलाहाबाद में एक रैली में आजम खान बोले कि मुसलमान ज्यादा बच्चे इसलिये पैदा करते हैं क्योंकि उनके पास करने को कोई दूसरा काम ही नहीं है.

आजम खान के निशाने पर पीएम मोदी थे. आजम खान ने मुसलमानों के पास रोजगार न होने के लिये सरकार को जिम्मेदार ठहराया.

'बादशाह अगर काम देता तो मुसलमान कम बच्चे पैदा करता. हमारे यहां मुसलमानों की आबादी ज्यादा हो जाती है और काम कम है इसलिये बच्चे ज्यादा पैदा हो जाते हैं. मुसलमान खाली बैठेगा तो बच्चे ही पैदा करेगा. हिंदू ज्यादा बच्चे पैदा नहीं करते हैं क्योंकि उनके पास रोजगार है.'

आजम खान के इस आपत्तिजनक बयान से यूपी की सियासत गरमा सकती है. इससे पहले आरएसएस ने हिंदुओं को ज्यादा बच्चे पैदा करने की नसीहत दी थी जिस पर बवाल हुआ था. वहीं बीजेपी सांसद साक्षी महाराज ने देश की बढ़ती जनसंख्या के लिये मुस्लिमों को जिम्मेदार ठहराया था.

साक्षी महाराज ने कहा था, ‘जनसंख्या में लगातार इजाफा हो रहा है और यह देश की एक बड़ी समस्या है. लेकिन हिन्दू इसके जिम्मेदार नहीं है. इसके लिए 4 पत्नी और 40 बच्चों की बात करने वाले लोग जिम्मेदार हैं.’

अब आजम खान मुस्लिम आबादी के बढ़ने के पीछे बेरोजगारी का हवाला दे रहे हैं. साथ ही ये भी कह रहे हैं कि हिंदुओं ने ज्यादा बच्चे पैदा करना मुसलमानों से सीखा है.

आजम खान के बयान पर समाजवादी पार्टी साथ खड़ी है. सपा प्रवक्ता जूही सिंह ने कहा कि आजम खान के बयान में कुछ भी विवादास्पद नहीं है. जबकि बीजेपी और बीएसपी ने आजम खान के बयान की कड़ी आलोचना की है. बीजेपी ने आजम के बयान को महिलाओं की गरिमा को ठेस पहुंचाने वाला बताया है.

इलाहाबाद की रैली में आजम खान ने 15 लाख के जुमले पर भी तंज कसा. उन्होंने कहा कि 'एक बार हमें गद्दी दे कर देखों , हम सबको 25-25 लाख रुपये देंगे.'

आजम खान के विवादास्पद बयानों की चुनाव आयोग में शिकायतें की गई हैं लेकिन उनकी जुबान का फिसलना रुका नहीं है. उन्होंने कहा कि

लोग उनके बयान के विरोध में चुनाव आयोग में शिकायत कर रहे हैं. लेकिन वो किसी से डरते नहीं हैं और अपना बोलना जारी रखेंगे.

इससे पहले आजम खान ने पीएम मोदी पर अभद्र टिप्पणी की थी. उन्होंने एक रैली में 'रावण' शब्द का इस्तेमाल किया था.

आजम खान मुस्लिम कार्ड खेलने के लिये जाने जाते हैं. इससे पहले उन्होंने कहा था कि मुसलमानों के बिना कोई भी यूपी का बादशाह नहीं बन सकता है.  लेकिन इस बार आजम खान का ये बयान आरएसएस और बीजेपी को पलटवार का बड़ा मौका दे सकता है.

आजम खान रामपुर से सपा के विधायक हैं. 7 बार वो चुनाव जीत चुके हैं. इस बार भी आजम रामपुर की सीट से चुनाव में खड़े हुए हैं . उन्होंने अपने बेटे अब्दुल्ला आजम को भी रामपुर की स्वार सीट से मैदान में उतारा है. दूसरे चरण में रामपुर में वोट पड़े थे और अब आजम खान दूसरे जिलों में सपा के लिये प्रचार कर रहे हैं.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi