S M L

कांग्रेस के खिलाफ तो लडूंगा पर गांधी परिवार के लिए एक शब्द नहीं बोलूंगा: अजीत जोगी

'कांग्रेस के पास राज्य में न तो कोई चेहरा है और न ही कोई संगठन. न ही इसके पास कोई नेता है. ये पार्टी बेकार हो चुकी है.'

Updated On: Oct 28, 2018 05:15 PM IST

FP Staff

0
कांग्रेस के खिलाफ तो लडूंगा पर गांधी परिवार के लिए एक शब्द नहीं बोलूंगा: अजीत जोगी

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने कहा है कि वो कांग्रेस के खिलाफ जी जान से लड़ेंगे लेकिन गांधी परिवार के खिलाफ एक शब्द नहीं कहेंगे. जोगी का कहना है कि कांग्रेस पार्टी में रहते हुए गांधी परिवार से उनके बहुत ही अच्छे रहे. जोगी ने कहा कि छत्तीसगढ़ में अगले महीने होने वाले चुनाव में मुकाबला बीजेपी और उनकी पार्टी जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ और बहुजन समाजवादी पार्टी के गठबंधन के बीच होगी.

जोगी ने कहा- 'मैंने कांग्रेस छोड़ दी है और विधानसभा चुनावों में पार्टी के खिलाफ प्रचार भी करुंगा. लेकिन गांधी परिवार जिन्होंने हमेशा ही मुझे प्यार किया उनके खिलाफ एक शब्द नहीं कहूंगा.' मध्यप्रदेश से अलग होकर छत्तीसगढ़ के बनने पर अजीत जोगी राज्य के पहले मुख्यमंत्री थे. इसके बाद 2016 में उन्होंने कांग्रेस पार्टी छोड़ दी और अपनी पार्टी की स्थापना की.

जब यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ लगे आरोपों के बारे में जब उनसे पूछा गया तो उन्होंने जवाब दिया- 'मैं चुनावों के दौरान गांधी परिवार के किसी भी सदस्य के खिलाफ कुछ नहीं कहूंगा. दशकों तक गांधी परिवार के साथ मेरे प्रगाढ़ संबंध रहे हैं.' जोगी के परिवार के चार सदस्य तीन पार्टी में हैं. एक तरफ जहां अजीत जोगी और उनके बेटे जेसीसी (जे) पार्टी में हैं. जोगी की बहू बीएसपी में और पत्नी कांग्रेस में हैं.

कांग्रेस पार्टी बेकार हो चुकी है:

कांग्रेस पर हमला करते हुए जोगी ने कहा- 'कांग्रेस के पास राज्य में न तो कोई चेहरा है और न ही कोई संगठन. न ही इसके पास कोई नेता है. ये पार्टी बेकार हो चुकी है.' जोगी ने ये दावा किया है कि चुनाव में मुख्य मुकाबला बीजेपी और जेसीसी(जे)-बीएसपी गठबंधन के बीच होगी. और चुनाव हम ही जीतेंगे. 'हम कांग्रेस और बीजेपी के खिलाफ पूरी ताकत से लड़ेंगे. और हमारा गठबंधन दोनों ही पार्टियों को चुनाव में नुकसान पहुंचाने वाली है.'

जोगी भले ही गठबंधन का मुख्यमंत्री पद का चेहरा हैं. लेकिन उन्होंने अभी तक ये तय नहीं किया है कि वो चुनाव लड़ेंगे या नहीं. पूर्व मुख्यमंत्री सतनामी विचारधारा के हैं. राज्य में इस विचारधारा की अच्छी खासी जनसंख्या है. छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव 12 और 20 नवंबर को होगी. और चुनाव के नतीजे 11 दिसंबर आएंगे. राज्य में बीजेपी 2003 से ही शासन में हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi