S M L

राजस्थान की राजनीति में तीसरी बार होगा अनोखा कारनामा, अशोक गहलोत रचने वाले हैं इतिहास

अशोक गहलोत तीसरी बार राजस्थान के सीएम पद संभालने वाले हैं. वहीं राजस्थान की राजनीति में सीएम पद तीसरी बार संभालने के साथ ही अशोक गहलोत इतिहास में भी अपना नाम दर्ज करवा लेंगे.

Updated On: Dec 14, 2018 07:50 PM IST

FP Staff

0
राजस्थान की राजनीति में तीसरी बार होगा अनोखा कारनामा, अशोक गहलोत रचने वाले हैं इतिहास

राजस्थान में विधानसभा चुनाव के बाद कांग्रेस सरकार बनाने जा रही है. वहीं काफी सस्पेंस के बाद राजस्थान के अगले मुख्यमंत्री का ऐलान भी कर दिया गया है. अशोक गहलोत को कांग्रेस आलाकमान ने राजस्थान के अगले सीएम के रूप में चुना है. वहीं सचिन पायलट को राजस्थान के डिप्टी सीएम के तौर पर चुना गया है. इसके साथ ही अशोक गहलोत तीसरी बार राजस्थान के सीएम पद संभालने वाले हैं.

वहीं राजस्थान की राजनीति में सीएम पद तीसरी बार संभालने के साथ ही अशोक गहलोत इतिहास में भी अपना नाम दर्ज करवा लेंगे. दरअसल, राजस्थान में अभी तक केवल दो ही नेता ऐसे हुए हैं जिन्होंने तीन बार राजस्थान के सीएम पद पर 'अलग-अलग कार्यकाल' में अपनी जगह बनाई हो. इनमें हरिदेव जोशी और भैरो सिंह शेखावत का नाम शामिल है.

हरिदेव सिंह कांग्रेस की तरफ से तीन बार राजस्थान के मुख्यमंत्री रह चुके हैं तो वहीं भैरो सिंह शेखावत एक बार जनता पार्टी तो दो बार भारतीय जनता पार्टी से राजस्थान का मुख्यमंत्री पद संभाल चुके हैं. वहीं इन दो बड़े नेताओं के बाद अब अशोक गहलोत राजस्थान की राजनीति में तीसरे ऐसे नेता होंगे जो तीसरी बार राज्य के मुख्यमंत्री पद को संभालेंगे.

वहीं दूसरी तरफ अगर नजर दौड़ाई जाए तो राज्य में तीसरी बार मुख्यमंत्री बनने वाले अशोक गहलोत चौथे नेता हैं. इनमें चौथे मोहन लाल सुखाड़िया हैं जो सबसे अधिक चार बार इस पद पर रहे .

राज्य के नए मुख्यमंत्री के रूप कार्यभार संभालने जा रहे गहलोत 1998 में पहली बार मुख्यमंत्री बने . उनका कार्यकाल 2003 तक रहा. इसके बाद वह 2008 से 2013 तक दूसरी बार मुख्यमंत्री रहे.

गहलोत से पहले हरिदेव जोशी 1973 से 77, 1985 से 1988 और 1989 से 1990 तक मुख्यमंत्री रहे थे जबकि भैरोंसिंह शेखावत 1977-80, 1990-92 और 1993-98 के कार्यकाल में तीन बार मुख्यमंत्री रहे.

हालांकि कांग्रेस नेता मोहन लाल सुखाड़िया सबसे अधिक चार बार राज्य के मुख्यमंत्री रहे. वह 1954 से 1957, 1957 से 1962, 1962 से 1967 और 1967 से 1971 तक राज्य के मुख्यमंत्री रहे.

गहलोत जोधपुर की सरदारपुरा सीट से लगातार पांचवीं बार विधायक बने हैं . इससे पहले वे जोधपुर सीट से लगातार पांच बार सांसद रहे और केंद्र में मंत्री भी रह चुके हैं .

यह भी पढ़ें:

संसद और विधानसभाओं में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण देने की उठी मांग

राजस्थान के अगले मुख्यमंत्री होंगे अशोक गहलोत, पायलट को डिप्टी सीएम पद

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi