S M L

उत्तर प्रदेश में अपना दल का बीजेपी के खिलाफ मोर्चा, कहा- हमें वो इज्जत नहीं मिल रही जिसके हम हकदार हैं

इससे पहले बिहार में एनडीए के घटक दल एलजेपी ने बीजेपी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था. जिसका हल एलजेपी को 6 लोकसभा सीटें और 1 राज्यसभा सीट देकर निकाला गया

Updated On: Dec 25, 2018 08:41 PM IST

FP Staff

0
उत्तर प्रदेश में अपना दल का बीजेपी के खिलाफ मोर्चा, कहा- हमें वो इज्जत नहीं मिल रही जिसके हम हकदार हैं

हाल ही में संपन्न हुए विधानसभा चुनावों में बीजेपी की करारी हार ने उनके समर्थकों को बोलने का मौका दे दिया है. पहले बिहार में रामविलास पासवान ने बीजेपी के खिलाफ मोर्चा खोला था तो अब उत्तर प्रदेश में अपना दल ने विरुद्ध के स्वर तेज कर दिए हैं. एनडीए की सीट शेयरिंग पर अपना दल ने अपनी नाराजगी साफ जाहिर कर दी है.

अपना दल के आशीष पटेल ने कहा- 'राज्य बीजेपी नेतृत्व हमें वह सम्मान नहीं दे रहा है जिसके हम हकदार हैं. उन्हें हाल मिले हार से कुछ सीखना चाहिए. सपा-बसपा का गठबंधन हमारे लिए एक चुनौती है. यूपी में सहयोगी परेशान हैं. केंद्र में नेतृत्व को कुछ और करना होगा वरना एनडीए को यूपी में नुकसान होगा.'

इससे पहले बिहार में एनडीए के घटक दल एलजेपी ने बीजेपी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था. जिसका हल एलजेपी को 6 लोकसभा सीटें और 1 राज्यसभा सीट देकर निकाला गया. समझौते के बाद बिहार में बीजेपी 17, जेडीयू 17 और एलजेपी 6 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. वहीं एलजेपी के अध्यक्ष राम विलास पासवान को एनडीए की ओर से राज्य सभा भेजा जाएगा.

ये भी पढ़ें: सीट बंटवारे पर बनी सहमति: BJP, JDU 17-17 और LJP 6 सीटों पर लड़ेगी चुनाव, पासवान NDA से जाएंगे राज्यसभा

लेकिन, सीटों के बंटवारे पर सहमति बनाने में बीजेपी को जिस तरह बैकफुट पर आना पड़ा, उसे बीजेपी के मुकाबले सहयोगी दलों के ‘बार्गेनिंग पावर’ के बढ़ने का एहसास करा रहा है. खास तौर से पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में बीजेपी के प्रदर्शन के बाद ऐसा हो रहा है.

बीजेपी के हाथों से मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में कांग्रेस ने सत्ता छीन ली है. लोकसभा चुनाव से पहले इन राज्यों में हुई हार के बाद बीजेपी के लिए हार के इस ‘परसेप्शऩ’ से बाहर निकलने की चुनौती थी. लिहाजा, पार्टी ने समझौता कर एक कदम पीछे हटना ही जरूरी समझा.

बीजेपी की इसी कमजोरी का फायदा पासवान उठा ले गए. और अब यूपी में अपना दल भी इसी चाल से अपना कद बढ़ाने की कोशिश में लग गई है.

ये भी पढ़ें: पासवान के ‘पैंतरे’ से बिहार में बैकफुट पर BJP, हिंदी पट्टी में प्रदर्शन दोहराने की चुनौती से कैसे पार पाएगी?

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi