S M L

दिल्ली में बढ़ते वायु प्रदूषण पर केजरीवाल ने पीएम मोदी को लिखा पत्र

केजरीवाल ने आईएएस अधिकारियों द्वारा की जा रही हड़ताल को रोकने के लिए पीएम से प्रभावी कदम उठाने की मांग की है

FP Staff Updated On: Jun 14, 2018 01:03 PM IST

0
दिल्ली में बढ़ते वायु प्रदूषण पर केजरीवाल ने पीएम मोदी को लिखा पत्र

दिल्ली में वायु प्रदूषण लगातार बढ़ता जा रहा है. बुधवार शाम को पूरा दिल्ली- एनसीआर धूल से भर गया था जिसकी वजह से सड़कों पर दौड़ने वाले वाहन भी रेंगते हुए चल रहे थे. इस मामले पर चिंता जताते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है. इस पत्र में उन्होंने आईएएस अधिकारियों द्वारा की जा रही हड़ताल को रोकने के लिए पीएम से प्रभावी कदम उठाने की मांग की है.

केजरीवाल ने पत्र में लिखा, 'अधिकारियों की हड़ताल की वजह से प्रदूषण के मुद्दे पर पिछले 3 महीनों से कोई मीटिंग नहीं हुई है, अगर इस मामले को नहीं सुलझाया गया तो आम आदमी पार्टी रविवार को पीएम हाउस तक मार्च करेगी.' केजरीवाल को तृणमूल कांग्रेस, आरएलडी और आरजेडी का भी समर्थन मिल रहा है.

पत्र में केजरीवाल ने लिखा, 'हड़ताल की वजह से मानसून के लिए कोई तैयारी नहीं की गई है और चिकनगुनिया जैसी बीमारियों को रोकने के लिए भी कोई उपाय नहीं किए जा रहे हैं. इसलिए आम आदमी पार्टी आज राजपथ पर कैंडल लाइट मार्च निकालेगी.'

बता दें कि बुधवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केजरीवाल के समर्थन में ट्वीट किया था. उन्होंने ट्वीट में लिखा था, 'चुने हुए मुख्यमंत्री को सम्मान देना चाहिए, मैं केंद्र सरकार और उपराज्यपाल से अपील करती हूं कि समस्या का फौरन समाधान किया जाए जिससे जनता को परेशानी न हो.'

वहीं आरजेडी नेता मनोज झा ने आप के सीनियर नेताओं से मुलाकात करके समर्थन का भरोसा दिया. उन्होंने कहा, 'आरजेडी दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने के मुद्दे पर पूरी तरह आम आदमी पार्टी के साथ है. दिल्ली की जनता विकलांग सरकार की जगह कुछ बेहतर पाने के लायक है.'

बता दें कि केजरीवाल ने उपराज्यपाल अनिल बैजल से भी सोमवार को मांग की थी कि वह ब्यूरोक्रेट्स और सरकार के बीच विवाद को खत्म करवाएं और गरीब लोगों को घर-घर जाकर राशन देने की स्कीम को अनुमति दें. केजरीवाल का कहना है कि फरवरी में मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ हुई मारपीट के बाद से दिल्ली के आईएएस अधिकारी मंत्रियों के साथ मीटिंग नहीं कर रहे हैं और न ही उनके फोन उठा रहे हैं. वह दिल्ली के ब्यूरोक्रेट्स के साथ बेहतर संबंध स्थापित करना चाहते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
'हमारे देश की सबसे खूबसूरत चीज 'सेक्युलरिज़म' है लेकिन कुछ तो अजीब हो रहा है'- Taapsee Pannu

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi