S M L

केजरीवाल को फंसाने के लिए सीबीआई ने दबाव बनाया: राजेंद्र कुमार

आईएएस अधिकारी राजेंद्र कुमार का आरोप, सीबीआई ने केजरीवाल को फंसाने का दबाव बनाया.

Updated On: Jan 05, 2017 06:21 PM IST

Krishna Kant

0
केजरीवाल को फंसाने के लिए सीबीआई ने दबाव बनाया: राजेंद्र कुमार

नई दिल्ली. भ्रष्टाचार का आरोप झेल रहे आईएएस अधिकारी राजेंद्र कुमार का कहना है कि उन पर केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल को फंसाने का दबाव बनाया.

राजेंद्र कुमार ने सीबीआई पर उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति लेने की इच्छा जताई है. राजेंद्र कुमार ने कहा कि सीबीआई अधिकारी उन पर मुख्यमंत्री केजरीवाल को फंसाने के लिए दबाव बना रहे थे.

राजेंद्र कुमार दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के पूर्व प्रधान सचिव थे. उन पर भ्रष्टाचार के आरोप के बाद 4 जुलाई, 2016 को उन्हें गिरफ्तार किया गया था. सीबीआई ने दिसम्बर 2016 में कुमार के खिलाफ आरोपपत्र दायर किया था.

हालांकि, सीबीआई ने कुमार के इन आरोपों को 'पूरी तरह से आधारहीन' बताया है.

 

केजरीवाल ने कुमार के बयान के बाद ट्वीट कर कहा, 'सीबीआई ने मेरे कार्यालय में छापेमारी की, अधिकारी पर मुझे फंसाने के लिए दबाव बनाया. आप हमसे इतना डरे हुए क्यों हैं मोदी जी?'

सेवानिवृत्ति की अर्जी दी

कुमार ने गुरुवार को संवाददाताओं से कहा, 'मैंने सरकार को स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति (वीआरएस) की अर्जी दी है. यह बहुत ही मुश्किल फैसला था और मैंने बहुत ही भारी मन से यह फैसला लिया है क्योंकि सरकार के जरिए मुझे लोगों के लिए काम करने का मौका मिला था.'

उन्होंने कहा, 'समाज कल्याण के लिए काम करने के अन्य तरीके भी हैं और मैं उन्हें खोजूंगा. सरकार ने मुझे बहुत कुछ दिया है.'

उन्होंने कहा, 'एक गरीब परिवार से होने के बावजूद सरकार ने मुझे बहुत ही प्रतिष्ठित स्कूल में पढ़ने का अवसर दिया और फिर मुझे 27 वर्षों तक काम करने का अवसर दिया. इसके लिए मैं आभारी हूं.'

पद का दुरुपयोग करने का आरोप

कुमार भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के 1989 बैच के अधिकारी हैं. उन पर दिल्ली सरकार के 9.5 करोड़ रुपये के ठेकों को एक निजी कंपनी एंडेवर सिस्टम्स प्रा. लि. को देने के लिए पद का दुरुपयोग करने का आरोप है.

उन्होंने खुद पर लगे आरोपों को गलत बताया है. कुमार ने कहा, 'मैं अपनी आखिरी सांस तक समाज की सेवा करता रहूंगा और इस कार्य में कोई भी बाधा मेरा ध्यान नहीं भटका सकती.'

यह पूछने पर कि क्या सीबीआई उन पर मामले में केजरीवाल को फंसाने का दबाव बना रही थी, कुमार ने कहा,'मैंने जो भी कहा वही सच्चाई है और मैं इस पर अडिग हूं.'

उन्होंने कहा, 'मैंने सरकार को वीआरएस के लिए दी गई अर्जी में पहले ही लिख दिया है कि मुझ पर मामले में कुछ लोगों का नाम लेकर उन्हें बदनाम करने का दबाव बनाया जा रहा था और इन नामों में से एक मुख्यमंत्री केजरीवाल का भी है.'

'आरोप निराधार'

सीबीआई ने जारी बयान में कहा है, 'आरोपपत्र दायर करने के बाद आरोप लगाए गए हैं कि उन्हें सीबीआई अधिकारियों ने धमकाया और राजनीतिक तंत्र (केजरीवाल) को फंसाने के लिए दबाव डाला. ये आरोप निराधार हैं.'

कुमार के खिलाफ ये आरोप दिल्ली सरकार के पूर्व अधिकारी आशीष जोशी ने लगाए थे. जोशी ने आरोप लगाया था कि कुमार ने सरकारी ठेके को निजी कंपनियों को देने के लिए अपने पद का दुरुपयोग किया था. कुमार को चार जुलाई 2016 को गिरफ्तार किया गया था और उन्हें 26 जुलाई को जमानत मिल गई थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi