विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

आपसी सहमति से भड़ाना और केजरीवाल बीच मानहानि का केस खत्म

अपनी याचिका में भड़ाना ने दलील दी थी कि केजरीवाल ने 31 जनवरी, 2014 को सार्वजनिक रूप से मानहानिपूर्ण बयान दिया था

Bhasha Updated On: Aug 21, 2017 06:37 PM IST

0
आपसी सहमति से भड़ाना और केजरीवाल बीच मानहानि का केस खत्म

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ बीजेपी नेता अवतार सिंह भड़ाना की ओर से दायर मानहानि का मुकदमा सोमवार को खत्म हो गया क्योंकि दोनों नेताओं ने इस मामले को अदालत में आगे नहीं बढ़ाने का फैसला किया है.

हरियाणा की फरीदाबाद सीट से कांग्रेस के लोकसभा सदस्य रहे भड़ाना ने कहा कि केजरीवाल ने अपने कथित मानहानिपूर्ण बयान से पीछे हट गए हैं, ऐसे में उन्होंने और दिल्ली के मुख्यमंत्री ने साथ मिलकर यह फैसला किया कि मानहानि के मामले को आगे नहीं बढ़ाया जाएगा.

अदालत के सूत्रों ने बताया कि अतिरिक्त जिला न्यायाधीश सुरेंद्र एस राठी ने दोनों नेताओं की ओर से रखी गई बातों पर विचार किया और मामले का निस्तारण कर दिया.

केजरीवाल ने वापस लिया था बयान

भड़ाना की ओर से पैरवी कर रहे वकील सूरत सिंह ने कहा कि केजरीवाल ने यह कहते हुए अपना पहले का बयान वापस ले लिया था कि उन्हें उनको पूर्व साथियों ने गलत ढंग से सूचित किया था और बीजेपी नेता की प्रतिष्ठा धूमिल करने का उनका कोई इरादा नहीं था.

पूर्व सांसद ने यह आरोप लगाते हुए मानहानि का मुकदमा दायर किया था कि आप संयोजक केजरीवाल ने उनको ‘भ्रष्ट’ कहकर उनकी छवि को धूमिल किया. उन्होंने केजरीवाल से एक करोड़ रुपए के मानहानि की मांग की थी.

अपनी याचिका में भड़ाना ने दलील दी थी कि केजरीवाल ने 31 जनवरी, 2014 को सार्वजनिक रूप से मानहानिपूर्ण बयान दिया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi