S M L

'आप' सरकार ने पेश किया आउटकम बजट, कई योजनाओं को पूरा करने में हो रही है देर

बजट के दौरान बताया गया ज्यादातर योजनाओं में अधिकतर काम होते दिख रहे हैं हालांकि कुछ परियाजनाओं में काम देरी से हो रहा हैं.

Updated On: Mar 22, 2018 11:31 AM IST

FP Staff

0
'आप' सरकार ने पेश किया आउटकम बजट, कई योजनाओं को पूरा करने में हो रही है देर

केजरीवाल सरकार ने बुधवार को दिल्ली विधानसभा में आउटकम बजट पेश किया. इस बजट में बताया गया कि ज्यादातर योजनाओं  में अधिकतर काम होते दिख रहे हैं. हालांकि कुछ परियाजनाओं में काम देरी से हो रहा हैं.

वित्तमंत्री मनीष सिसोदिया ने बजट पेश करते हुए कहा किसी भी योजना के पूरे होने में देरी होने पर उस परियोजना से जुड़े किसी भी व्यक्ति को जबावदेह ठहराया जा सकता है. फिर चाहे वो कोई अधिकारी हो, मंत्री हों या फिर खुद उपराज्यपाल ही क्यों न हों. मनीष सिसोदिया ने बताया कि दिल्ली सरकार ने 1,000 आम आदमी मोहल्ला क्लीनिक खोलने का लक्ष्य तय किया था, जिसकी तुलना में अभी तक केवल 160 क्लीनिकों की स्थापना हो पाई है.

वहीं ट्रांसपोर्ट की बात करें तो 2016 में डीटीसी के पास 4,126 बसें थी. लेकिन अप्रैल- दिसंबर, 2017 तक यह संख्या घटकर 3,988 रह गया है. उपमुख्यमंत्री ने कहा कि 82 प्रतिशत घरेलू उपभोक्ता आम आदमी पार्टी की बिजली पर सब्सिडी योजना का लाभ उठा रहे हैं.

उन्होंने कहा कि बिजली व्यवस्था की कड़ी निगरानी और नियमित समीक्षा के कारण 2017 में राजधानी में केवल 0.06 प्रतिशत लोडशेडिंग देखने को मिली, जो दिल्ली के इतिहास में सबसे कम है. सिसोदिया ने कहा कि इस दौरान नियंत्रित प्रदूषण प्रमाणपत्र नहीं होने के कारण अधिकारियों ने 22,700 गाड़ियो का चालान काटा.

31 दिसंबर 2017 तक 15 विभाग ही हुए ट्रेक

मनीष सिसोदिया ने कहा कुल 34 विभागों और एजेंसियो के लिए 1900 आउटपुट और आउटकम इंडिकेटर्स तय किए गए थे. मगर 21 दिसंबर तक 15 विभागों को ही ट्रेक किया जा सका है. आउटपुट इंडिकेटर बताते हैं कि सरकारी विभागों को किस तरह की सेवाएं देनी हैं, जब कि आउटकम इंडिकेटर दर्शाता है कि इनसे कितने लोगों को लाभ पहुंचा है.

मनीष सिसोदिया ने बताया कि पीडब्ल्यूडी के 55 फीसदी इंडिकेटर ऑनट्रैक हैं. साल 2018 में 300 किलोमीटर लंबी सड़कों की मरम्मत की ज्यादातर योजनाओं में 70 प्रतिशत लक्ष्य पूरे हो पाए हैं. दिल्ली जल बोर्ड के 127 में से 82 फीसदी इंडिकेटर्स ऑन ट्रैक पाए गए, 16 ऑफ ट्रैक और 1 लागू नहीं हुआ.

इस साल 1209 अनधिकृत कॉलोनियों को पानी की पाइपलाइन से जोड़ा गया है, जब कि 2016-17 तक 1144 कॉलोनियों को पाइपलाइन से जोड़ा गया था.

बिजली विभाग के 60 फीसदी इंडिकेटर ऑन ट्रैक पाए गए हैं. इसी के साथ पिछले साल 6526 मेगावॉट सबसे ज्यादा बिजली की मांग पूरी की गई है.

(एजेंसियों से इनपुट)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता
Firstpost Hindi