S M L

केजरीवाल सीएम बने और विवादों में फंसे उनके साढ़ू

कपिल मिश्रा ने आरोप लगाया था कि बंसल के लिए दिल्‍ली के स्‍वास्‍थ्‍य और पीडब्‍ल्‍यूडी मंत्री सत्‍येंद्र जैन ने छतरपुर में 50 करोड़ रुपए की लैंड डील करवाई

FP Staff Updated On: May 09, 2017 05:38 PM IST

0
केजरीवाल सीएम बने और विवादों में फंसे उनके साढ़ू

कपिल मिश्रा के आरोपों के बाद विवादों में आए मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साढू सुरेंद्र कुमार बंसल की सोमवार को मौत हो चुकी है.

कपिल मिश्रा ने आरोप लगाया था कि बंसल के लिए दिल्‍ली के स्‍वास्‍थ्‍य और पीडब्‍ल्‍यूडी मंत्री सत्‍येंद्र जैन ने छतरपुर में 50 करोड़ रुपए की लैंड डील करवाई. उन्‍होंने कहा कि डील के तहत बंसल को सात एकड़ जमीन भी दी गई.

कपिल यहीं नहीं रुके उन्‍होंने जैन पर बंसल परिवार के लिए पीडब्ल्यूडी के 10 करोड़ रुपए के फर्जी बिल भी सही साबित करने का आरोप लगाया.

आइए हम बताते हैं आपको कौन थे सुरेंद्र कुमार बंसल, क्‍यों लग रहे हैं उनपर आरोप..

कौन थे बंसल?

सुरेंद्र बसंल अरविंद केजरीवाल के सबसे बड़े साढू और पत्‍नी सुनीता केजरीवाल की सबसे बड़ी बहन शकुन के पति थे. शुरू से ही दिल्‍ली के पीतमपुरा इलाके में रहने वाले सुरेंद्र का भरा पूरा परिवार है. शकुन गृहिणी हैं जबकि सुरेंद्र ने कई काम किए.

sunita-kejriwal

सुरेंद्र आढ़ती थे. लंबे समय तक आढ़ती रहने के बाद उन्‍होंने 2008 में आढ़त छोड़ दी और दिल्‍ली नगर निगम में ठेकेदारी के त‍हत टेंडर लेना शुरू कर दिया. इस दौरान इन्‍होंने प्रोपर्टी डीलिंग के साथ ही किराए पर प्रॉपटी देने का भी काम किया.

केजरीवाल सरकार बनते ही आए विवादों में

2015 में दिल्‍ली में आम आदमी पार्टी की सरकार बनने के बाद इन्‍होंने पीडब्‍ल्‍यूडी में अपना नामांकन कराया और सरकारी ठेके लेना शुरू कर दिए. इसी दौरान सुरेंद्र ने कई कंस्‍ट्रक्‍शन कंपनियां भी बनाईं. धीरे-धीरे इनका नाम विवादों से जुड़ गया.

Arvind_Kejriwal1

सुरेंद्र पर 23 फर्जी कंपनियां बनाने के आरोप लगे. वहीं रोड एंटी करप्‍शन ऑर्गनाइजेशन (राको) ने सुरेंद्र बंसल के खलिाफ दिल्‍ली पुलिस में एफआईआर दर्ज कराई. यह मामला तीस हजारी कोर्ट में पहुंचा जहां कोर्ट ने पीडब्लूडी विभाग में मौजूद मामले से जुड़े कांट्रेक्ट से संबंधित दस्तावेज जब्त करने के आदेश दिए.

राको की ओर से दाय‍र याचिका में सुरेंद्र पर फर्जी बिल लगाने के आरोपों के साथ ही केजरीवाल पर सुरेंद्र बंसल को लाभ दिलवाने के आरोप भी लगाए गए.

सुरेंद्र बंसल ने तीस हजारी कोर्ट में चल रहे इस मामले को किसी अन्‍य जज को हस्‍तांतरित करने की अपील भी की थी, जिसे नकार दिया गया.

न्यूज़ 18 साभार

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Social Media Star में इस बार Rajkumar Rao और Bhuvan Bam

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi