live
S M L

जेटली का पलटवार: वित्त मंत्री के तौर पर बदतर था यशवंत सिन्हा का कार्यकाल

जेटली ने यशवंत सिंह का नाम लिए बगैर कहा, महंगाई को उच्च स्तर पर ले जाने वाले अब सवाल पूछ रहे हैं

Updated On: Sep 29, 2017 08:37 AM IST

FP Staff

0
जेटली का पलटवार: वित्त मंत्री के तौर पर बदतर था यशवंत सिन्हा का कार्यकाल

अर्थव्यवस्था पर वार पलटवार का दौर खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. एक संपादकीय के जरिए पहले यशवंत सिंह ने अरुण जेटली पर निशाना साधा. फिर अगले ही दिन यशवंत सिंह के बेटे और केंद्र में स्टेट एविएशन मिनिस्टर जयंत सिंह ने अपने पिता की बात ही काट दी. उन्होंने कहा, 'अर्थव्यस्था के आकलन में तथ्यों को पूरा पेश नहीं किया जा रहा है.'

बात यहीं खत्म नहीं हुई. इसके बाद शत्रुघ्न सिन्हा ने यशवंत सिन्हा का पक्ष लेते हुए कहा कि 'यशवंत सिंह ने सरकार को आइना दिखाया है.' इसके बाद बारी खुद अरुण जेटली की थी. यशवंत सिन्हा का बिना नाम लिए कहा, 'मुझे पूर्व वित्त मंत्री रहते हुए स्तंभकार बनने का गौरव नहीं प्राप्त हुआ था.'

'INDIA @ 70, MODI @ 3.5' के विमोचन पर आए वित्त मंत्री ने कहा कि इस किताब का नाम अगर JOB APPLICANT @80' होता तो ज्यादा उपयुक्त होता. ज़ाहिर है कि उनका सीधा इशारा पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा की ओर था.

उन्होंने कहा कि उदारीकरण के बाद 2000 से 2003 तक वित्त मंत्री के तौर पर यशवंत सिन्हा का कार्यकाल बदतर था और तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को उन्हें हटाना पड़ा था. अरुण जेटली ने सिन्हा के साथ-साथ कांग्रेस नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी.चिदंबरम पर भी निशाना साधा. यशवंत सिन्हा के लेख लिखने के बाद चिदंबरम ने भी उसका हवाला देते हुए मोदी सरकार और जेटली पर अर्थव्यवस्था को चौपट करने का आरोप लगाया था.

जेटली ने कहा कि शायद ये दोनों नेता एक-दूसरे के बारे में बोले गए कड़वे बोल भूल गए हैं. उन्होंने याद दिलाया कि एक ने दूसरे के बारे में कहा था कि चिदंबरम को वित्त मंत्री के तौर पर उनके रिकॉर्ड की बराबरी करने के लिए दूसरा जन्म लेना पड़ेगा.

जेटली ने नोटबंदी और GST को फायदेमंद बताते हुए कहा कि महंगाई को रिकॉर्ड स्तर पर ले जाने वाले सवाल पूछ रहे हैं. जेटली ने ये भी कहा कि नोटबंदी और जीएसटी के असर आगे चलकर नजर आएंगे.

इससे पहले बुधवार को भी कैबिनेट बैठक के बाद गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा था कि अर्थव्यवस्था को कोई खतरा नहीं है. हमारी अर्थव्यवस्था दुनिया की सबसे तेज बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था है. वहीं केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा ने भी लेख के जरिए सरकार का पक्ष रखा था.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi