S M L

अपोलो अस्पताल का खुलासा! जयललिता के भर्ती होने पर 75 दिन तक सभी कैमरे थे बंद

एक पूरा आईसीयू जयललिता के लिए रिजर्व था. 24 कमरों में से सिर्फ एक रूम ही उपयोग में लिया जाता रहा

Updated On: Mar 22, 2018 06:07 PM IST

FP Staff

0
अपोलो अस्पताल का खुलासा! जयललिता के भर्ती होने पर 75 दिन तक सभी कैमरे थे बंद
Loading...

तमिलनाडु की दिवंगत पूर्व मुख्यमंत्री जे. जयललिता के बारे में एक चौंकाने वाली जानकारी सामने आई है. एक मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि चेन्नई के जिस अपोलो अस्पताल में जयललिता 75 दिन भर्ती रहीं, उन पूरे दिनों में अस्पताल के सभी कैमरे बंद थे.

टाइम्स ऑफ इंडिया को यह जानकारी अपोलो अस्पताल के चेयरमैन डॉ. प्रताप सी रेड्डी ने दी. अस्पताल के 24 बेड वाले इंटेनसिव केयर यूनिट (आईसीयू) में अकेले जयललिता को ही रखा गया था.

एक प्रेस कॉन्फ्रेंस से इतर रेड्डी ने पत्रकारों को बताया कि जयललिता की मौत की जांच करने वाली ए. अरुमुगस्वामी आयोग के सामने अस्पताल ने सारे जरूरी दस्तावेज जमा करा दिए हैं.

jayalalithaa

इलाज के दौरान अस्पताल में जे. जयललिता.

सीसीटीवी फुटेज जमा कराने के सवाल पर रेड्डी ने इससे साफ इंकार कर दिया. रेड्डी ने कहा, इलाज के पूरे 75 दिनों तक सभी सीसीटीवी कैमरे बंद थे. जयललिता के अस्पताल में भर्ती होते ही आईसीयू तक लोगों की पहुंच बंद कर दी गई. सभी मरीजों को दूसरे आईसीयू में दाखिला दिया जाने लगा. एक पूरा आईसीयू जयललिता के लिए रिजर्व था. हालांकि 24 कमरों में से सिर्फ एक रूम ही उपयोग में लिया जाता रहा. कैमरे इसलिए हटा दिए गए क्योंकि वे नहीं चाहते थे कि कोई और इसे देखे. विजिटर को भी वहां तक जाने की इजाजत नहीं थी.

रेड्डी ने कहा कि अस्पताल ने पूरी कोशिश की लेकिन उनकी जान नहीं बचाई जा सकी. जयललिता को 22 सितंबर 2016 को अपोलो में भर्ती कराया गया था जहां 4 दिसंबर को उन्हें दिल का दौरा पड़ा और उनकी मौत हो गई.

जयललिता का अहम खुलासा

दूसरी ओर, जयललिता की सहयोगी वीके शशिकला ने कहा है कि वो खुद उन्हें (जयललिता) हॉस्पिटल ले कर गई थीं. ये बातें वीके शशिकला ने उस कमिशन के सामने कही है जो इन दिनों तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री जे जयललिता की मौत की जांच कर रही है.

शशिकला के मुताबिक जयललिता ने उन्हें इस बात के संकेत दिए थे कि वो बीमार हैं. उन्होंने कहा, 'जब उन्हें लगा कि जयललिता बीमार हैं तो अपोलो के डॉक्टरों की एक टीम को बुलाया गया. बेहोश जयललिता को अपने बेडरूम से एक स्ट्रेचर पर लाया गया. एंबुलेंस पर जब जयललिता को होश आया तो उन्होंने पूछा कि उन्हें वे कहां ले कर जा रहे हैं. फिर उन्हें कहा गया कि वो सब उन्हें हॉस्पिटल ले कर जा रहे हैं'.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi