S M L

LIVE बीजेपी-टीडीपी में टूटी दोस्ती : NDA के साथ बने रहेंगे, लेकिन मंत्री पद नहीं लेंगे- TDP

टीडीपी ने हटने का फैसला किया तो दूसरी ओर बीजेपी ने इसे 'सियासी मौकापरस्ती' का क्लासिकल केस बताया

FP Staff | March 08, 2018, 06:56 PM IST

0

हाइलाइट

Mar 8, 2018

  • 19:00(IST)

    यह दो पार्टियों के बीच का मुद्दा है. हमें इसमें कुछ नहीं कहना है-वाईएस चौधरी, टीडीपी 

  • 18:57(IST)

    टीडीपी के वाई एस चौधरी ने कहा, ‘हम एनडीए में बने रहेंगे लेकिन कोई मंत्री पद नहीं लेंगे. मुझे नहीं लगता इसमें कुछ गलत है.’

  • 18:55(IST)
  • 18:54(IST)

    केंद्रीय मंत्री एजी राजू और वाईएस चौधरी पीएम मोदी को इस्तीफा सौंपने के बाद वापस निकल चुके हैं.

  • 18:32(IST)
  • 18:31(IST)

    केंद्र सरकार में टीडीपी को दोनों मंत्रियों ने पीएम मोदी को सौंपा इस्तीफा

  • 18:08(IST)

    टीडीपी कोटे के केंद्र सरकार में दोनों मंत्री एजी राजू और वाईएस चौधरी प्रधानमंत्री मोदी से मिलने 7 लोक कल्याण मार्ग पहुंच चुके हैं 

  • 18:04(IST)

    आंध्र प्रदेश के सीएम चंद्र बाबू नायडू द्वारा ये कहे जाने के बाद कि उन्होंने पीएम मोदी से कई बार मुलाकात करने की कोशिश की लेकिन ऐसा नहीं हो पाया. गुरुवार को खुद पीए मोदी ने चंद्र बाबू नायडू से बात की है. 10 मिनट की इस बातचीत में नायडू ने पीएम को समझाया है कि आखिर उनकी नाराजगी किस बात को लेकर है.

  • 18:01(IST)

    बीजेपी टीडीपी के रिश्तों में कड़वाहट के बीच चंद्र बाबू नायडू ने पीए मोदी से मुलाकात कर उन्हें स्पष्ट किया है कि वो सरकार से अलग क्यों हुए 

  • 14:19(IST)

    इसी मामले में केंद्रीय खाद्य मंत्री रामविलास पासवान ने भी अपना रुख रखा. उन्होंने कहा, नीतीश सरकार बिहार के लिए लंबे दिनों से स्पेशल स्टेटस की मांग कर रही है. हमें स्पेशल पैकेज मिला है जो स्पेशल स्टेटस की तरह ही फायदेमंद है. इतना कुछ के बावजूद कुछ लोग खुश नहीं हैं. ऐसे लोगों को हम यही कहना चाहते हैं कि देश सिर्फ एनडीए शासन में ही विकास कर सकता है.

  • 14:13(IST)

    इससे पहले सीएम चंद्रबाबू नायडू ने कहा, आंध्रे के लोगों के लिए हमें एक साथ खड़ा होना होगा. मैं यह कतई नहीं कह रहा कि आप अपना सैद्धांतिक स्टैंड बदलें. लेकिन राज्य के बारे में जरूर सोचें और कृपया इसके लिए कुछ करें. दोनों (बीजेपी के मंत्री) अपने काम में सक्षम थे. मैं दोनों मंत्रियों से आग्रह करता हूं कि वे राज्य की भलाई के लिए काम करते रहें. 

  • 14:06(IST)

    राजू ने आगे कहा, कन्फयूज होने की जरूरत नहीं है. जब आंध्र प्रदेश एक अलग राज्य बना तो वहां के लोग खुद को बचती सामान की तरह पेश आना नहीं चाहते थे. कुछ वादे किए गए थे. यूपीए सरकार ने भी कुछ वादे किए थे. अब इनपर सवाल उठने शुरू हो गए हैं.   

  • 13:57(IST)

    इस्तीफे के बाद टीडीपी सांसद अशोक गजपति राजू ने कहा, हम प्रधानमंत्री से मिलने का समय मांग रहे हैं ताकि अपनी समस्या बता सकें, हम उन्हें अपना इस्तीफा सौंप सकें और काम करने का जो मौका दिया उसके लिए धन्यवाद दे सकें.

  • 13:14(IST)

    आंध्र प्रदेश को विशेष दर्जे की मांग, पीएनबी धोखाधड़ी मामले सहित कुछ अन्य मुद्दों को लेकर कांग्रेस, टीडीपी और कुछ अन्य दलों के भारी हंगामे के कारण लोकसभा की कार्यवाही गुरुवार को दिन भर के लिए स्थगित कर दी गई. बजट सत्र के दूसरे चरण की शुरुआती तीन दिनों की कार्यवाही हंगामे की भेंट चढ़ने के बाद गुरुवार चौथे दिन भी आंध्र प्रदेश को विशेष दर्जे की मांग, पीएनबी धोखाधड़ी मामला हावी रहा.  

  • 12:14(IST)

    आंध्र प्रदेश को विशेष दर्जे की मांग, पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) धोखाधड़ी मामले सहित कुछ अन्य मुद्दों को लेकर कांग्रेस, टीडीपी और कुछ अन्य दलों के भारी हंगामे के कारण लोकसभा की कार्यवाही गुरुवार को शुरू होने के कुछ मिनटों बाद ही दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई.

  • 11:44(IST)

    संसद सत्र से पहले टीडीपी सांसद जयदेल गाला ने कहा, अन्य पार्टियां जो हमारी मांगों से इत्तेफाक रखती हैं, वे भले ही अलग-अलग मसलों पर विरोध प्रदर्शन कर रही हों लेकिन उनका समर्थन हमें प्राप्त है. कल अरुण जेटली के बयान के बाद केंद्रीय कैबिनेट से बाहर आना ही हमारा मकसद है.

  • 11:40(IST)

    इससे पहले आंध्र कैबिनेट में बीजेपी के दो मंत्रियों ने सीएम दफ्तर को अपना इस्तीफा सौंप दिया. इस्तीफा देने वालों में स्वास्थ्य मंत्री कमिनेनी श्रीनिवास और धर्मादा मंत्री मनिक्याला राव का नाम है. इससे पहले बीजेपी नेता पीवीएन माधव ने कहा था कि हमारे मंत्री गुरुवार को इस्तीफा दे देंगे. माधव के मुताबिक आंध्र प्रदेश के खिलाफ कोई नाइंसाफी नहीं की गई, बल्कि मामला कुछ और है.   

  • 11:35(IST)

    सीएम नायडू ने कहा, कल अरुण जेटली ने जो कुछ कहा, वह उचित नहीं है. आप पूर्वोत्तर के राज्यों को बहुत कुछ दे रहे हैं लेकिन आंध्र को कुछ नहीं. उद्योगों को छूट उन्हें मिल रही है आंध्र को नहीं. ऐसा भेदभाव क्यों?

  • 11:28(IST)

    सीएम नायडू ने आंध्र प्रदेश विधानसभा में कहा, हमारे मंत्रियों ने केंद्र सरकार में और बीजेपी मंत्रियों ने आंध्र सरकार में इस्तीफा दे दिया है. हालांकि बीजेपी मंत्रियों ने आंध्र में अच्छा काम किया है. दोनों मंत्रियों ने अपने विभागों में अच्छे खासे सुधार किए हैं. मैं उनकी सेवा के लिए उन्हें धन्यवाद देता हूं.

  • 10:37(IST)
  • 10:37(IST)

    केंद्र में एनडीए के घटक दल रिपब्लिक पार्टी ऑफ इंडिया के अध्यक्ष रामदास आठवले ने मोदी सरकार का बचाव करते हुए कहा, टीडीपी का एनडीए से अलग होने का फैसला सही नहीं है. हम चाहते हैं अंतिम निर्णय लेने से पहले आंध्र के सीएम अपने प्रदेश के लोगों की भलाई के लिए एक बार जरूर सोचें.
    आठवले ने कहा, आप पीएम मोदी या बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से मिलने का जब भी वक्त मांगते हैं, वे मिलते हैं. अगर सभी राज्य ऐसे ही विशेष राज्य का दर्जा मांगने लगें तो सरकार के लिए मुश्किल हो जाएगा. 

  • 10:15(IST)

    आंध्र प्रदेश में बीजेपी एमएलसी पीवीएन माधव की मानें तो बीजेपी के मंत्री आंध्र कैबिनेट से गुरुवार को इस्तीफा देंगे. माधव ने कहा, हम लोगों के बीच जाएंगे और उन्हें बताएंगे कि केंद्र सरकार ने आंध्र प्रदेश के लिए कितना कुछ किया है. बंटवारे के बाद इस राज्य को जितना मिला है, अबतक शायद ही किसी प्रदेश को मिला हो.

  • 10:12(IST)

    केंद्र में टीडीपी के मंत्री वाईएस चौधरी ने काफी सधा हुआ बयान दिया. उन्होंने कहा, यह कोई अच्छा कदम नहीं है लेकिन कुछ परिस्थितियों को देखते हुए हम मंत्री पद छोड़ रहे हैं. हमारे अध्यक्ष ने कहा है कि हम एनडीए के सहयोगी बने रहेंगे. हम पीएम नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात करने वाले हैं.

  • 09:55(IST)

    बीजेपा का अलग ही रुख है
    उधर बीजेपी ने आंध्र के मुख्यमंत्री के इस आरोप को खारिज कर दिया कि मोदी सरकार ने राज्य की अनदेखी की है, वहीं कांग्रेस ने टीडीपी के कदम को बहुत देरी से उठाया गया कदम बताया.
    बीजेपी प्रवक्ता जीवीएल नरसिंह राव ने कहा कि नरेंद्र मोदी नीत सरकार ने यह तय करने के लिए काम किया कि राज्य के बंटवारे के बाद आंध्र प्रदेश को इंफ्रास्ट्रक्चर और उद्योगों को तमाम सुविधाएं मिलें.
    आंध्र प्रदेश से वरिष्ठ कांग्रेसी नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री एम एम पल्लम राजू ने कहा, ‘यह बहुत देरी से किया गया है. टीडीपी चार साल से भाजपा की सहयोगी है और आंध्र प्रदेश के हितों की रक्षा के लिए उसने कुछ नहीं किया.’ उन्होंने कहा कि राज्य में जनता के मूड को देखते हुए टीडीपी यह राजनीतिक रुख दर्शा रही है.

  • 09:50(IST)

    दूसरी ओर कांग्रेस ने इस पूरे मामले के लिए केंद्र की मोदी सरकार को कठघरे में खड़ा कर दिया है. पार्टी के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने कहा, यह बहुत दुर्भाग्य की बात है जो इस नाजुक मसले पर भी प्रधानमंत्री आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री का फोन नहीं उठा रहे. आंध्र के लोगों के लिए यह अच्छी बात नहीं है.

  • 09:37(IST)

    इस्तीफे को लेकर जो सस्पेंस बना हुआ था उसे आंध्र के आईटी मंत्री नारा लोकेश ने साफ कर दिया. नारा ने गुरुवार को बताया कि मोदी सरकार में उनकी पार्टी टीडीपी के दो मंत्री इस्तीफा देने जा रहे हैं. 
    नारा ने टि्वटर पर कहा, हमने काफी इंतजार किया. हमने झूठे वादों पर काफी भरोसा किया. हमारे मंत्री मोदी सरकार से इस्तीफा देने जा रहे हैं. आंध्र के लोगों के सपनों को पूरा करने के लिए जो कुछ भी करना होगा, हमारी पार्टी करेगी.

  • 09:14(IST)

    सीएम चंद्रबाबू नायडू की घोषणा के तुरंत बाद आंध्र बीजेपी ने भी कड़ा रुख अख्तियार कर लिया. बीजेपी विधायक अकुला सत्यनारायण ने पत्रकारों को बताया कि आंध्र कैबिनेट के दो विधायक-कमिनेनी श्रीनिवास और पैडीकोंडला मनिक्याला राव गुरुवार को इस्तीफा देंगे.  

  • 09:11(IST)

    आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने केंद्र सरकार से अपनी पार्टी टीडीपी का समर्थन वापस लेने की घोषणा की. बीती रात एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर उन्होंने इसकी जानकारी दी. उन्होंने केंद्र की मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि आंध्र को विशेष राज्य का दर्जा देने से लेकर वित्तीय मदद तक में टीडीपी की बात नहीं सुनी गई. हालांकि बीजेपी इस मामले में काफी सोच-समझ कर बयान दे रही है. उसने गठबंधन चलने की आशा जताई है.   

LIVE बीजेपी-टीडीपी में टूटी दोस्ती : NDA के साथ बने रहेंगे, लेकिन मंत्री पद नहीं लेंगे- TDP

कई महीनों की अनिश्चितता के बाद अब ऐसा लग रहा है कि तेलुगु देशम पार्टी एनडीए से अपना नाता तोड़ने वाली है. पार्टी के दो मंत्री गुरुवार को यूनियन कैबिनेट से इस्तीफा दे रहे हैं. यह घोषणा तेलुगु देशम पार्टी के अध्यक्ष चंद्रबाबू नायडू ने की. हालांकि अभी एनडीए से हटने पर फैसला नहीं हुआ है.

एविएशन मिनिस्टर अशोक गजपति राजू और राज्य मंत्री वाई एस चौधरी यूनियन कैबिनेट से इस्तीफा दे देंगे. आंध्र प्रदेश के चीफ मिनिस्टर चंद्रबाबू नायडू ने ऐसे संकेत भी दिए हैं कि टीडीपी बीजेपी के साथ अपना गठबंधन खत्म कर सकती है क्योंकि केंद्र सरकार अपना वादा पूरा नहीं कर पाई है. नायडू ने पार्टी की बैठक के बाद ट्वीट करके जानकारी दी कि कैबिनेट से अपने मंत्री हटाने का अपना फैसला प्रधानमंत्री को बताना चाहते थे, लेकिन ऐसा नहीं हो सका. उन्होंने लिखा है कि प्रधानमंत्री उपलब्ध नहीं हैं.

आंध्र कैबिनेट से दो बीजेपी मंत्री हटेंगे

उधर आंध्र प्रदेश कैबिनेट से भी बीजेपी के दो मंत्रियों ने हटने का फैसला किया है. यह घोषणा सीएम नायडू के उस निर्णय के बाद हुई जब उन्होंने केंद्र से अपना समर्थन वापस लेने की बात कही. सीएम नायडू की प्रेस कॉन्फ्रेंस के ठीक बाद बीजेपी विधायक अकुला सत्यनारायण ने पत्रकारों को बताया कि आंध्र कैबिनेट के दो विधायक-कमिनेनी श्रीनिवास और पैडीकोंडला मनिक्याला राव गुरुवार को इस्तीफा देंगे.

आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू

इस बीच बीजेपी नेता मनिक्याला राव ने चंद्रबाबू नायडू पर निशाना साधते हुए उनकी घोषणा को 'सियासी मौकापरस्ती' बताया. राव ने न्यूज एजेंसी एएनआई से कहा, पिछले दिन जो कुछ हुआ, बीजेपी उसे सियासी मौकापरस्ती का क्लासिक केस मानती है. यह और कुछ नहीं बल्कि दबाव डालने की राजनीति है. राव ने नायडू के उस आरोप को भी सफेद झूठ बताया जिसमें उन्होंने केंद्र की ओर से मदद न करने की बात कही गई है.

नायडू को क्या है शिकायत

नायडू को यह शिकायत है कि केंद्र ने आंध्र प्रदेश से वादा किया था कि तेलंगाना के अलग होने पर आंध्र प्रदेश को स्पेशल स्टेटस देगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ. वित्त मंत्री अरुण जेटली की तरफ से यह बयान आने के कुछ घंटे बाद ही तेलुगु देशम पार्टी ने मंत्रिपद से हटने का फैसला किया है, जिसमें जेटली ने आंध्र प्रदेश को विशेष दर्जा देने की मांग ठुकरा दी थी.

नायडू ने बुधवार को कहा, ‘चार साल से मैंने कोई डिमांड नहीं की. यह उम्मीद करता रहा कि एक सहयोगी की तरह बीजेपी ने घोषणापत्र में जो वादा किया है उसे पूरा करेगी.’ उन्होंने यह भी याद दिलाया कि राहुल गांधी ने भी यह वादा किया है कि अगर उनकी सरकार आती है तो आंध्र प्रदेश को स्पेशल स्टेटस का दर्जा दिया जाएगा. उन्होंने कहा, ‘मैं लगातार केंद्र से सहयोग करता रहा हूं. मेरे राज्य के लोगों को अब अपमानित महसूस हो रहा है और अगर मैं अपनी आवाज नहीं उठाता हूं तो वे मुझे माफ नहीं करेंगे.’

क्या कहा जेटली ने?

आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य दर्जा देने की मांग पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने स्थिति को साफ करते हुए कहा कि सरकार आंध्र के साथ किए गए सारे वादे निभाएगी. हालांकि, जेटली ने कहा कि आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा नहीं, बल्कि स्पेशल पैकेज दिया जाएगा.

अरुण जेटली ने कहा, 'आंध्र प्रदेश को स्पेशल स्टेटस देने के विषय में मुख्य बात यह है कि किसी राज्य को स्पेशल स्टेटस क्यों दिया जाता है?' उन्होंने बताया, 'वित्त आयोग के मुताबिक सिर्फ उत्तरी-पूर्वी राज्यों के लिए स्पेशल स्टेटस का प्रावधान है, क्योंकि उनके पास अपने खुद के संसाधन बेहद सीमित हैं.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
गोल्डन गर्ल मनिका बत्रा और उनके कोच संदीप से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi