S M L

अमित शाह-नीतीश की आज होने वाली मुलाकात पर टिकी हैं सभी की निगाहें

शाह एक दिन की यात्रा पर पटना आ रहे हैं. चार साल अलग रहने के बाद जेडीयू की एनडीए में वापसी के बाद शाह की यह पहली बिहार यात्रा है

Updated On: Jul 12, 2018 10:04 AM IST

FP Staff

0
अमित शाह-नीतीश की आज होने वाली मुलाकात पर टिकी हैं सभी की निगाहें

सभी की निगाहें गुरुवार को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और जेडीयू अध्यक्ष नीतीश कुमार के बीच होने वाली मुलाकात पर टिकी हैं. ऐसी संभावना है कि एनडीए नेताओं के बीच इस बैठक में 2019 के आम चुनावों के लिए सीट-शेयरिंग पर सहमति बन जाएगी.

दोनों नेता राज्य के गेस्ट हाउस में मिलेंगे और फिर वे रात के भोजन के दौरान मुख्यमंत्री आवास में भी भेंट करेंगे. बीजेपी और जेडीयू के सूत्रों का कहना है कि सीटों के बंटवारे पर भले ही विस्तृत चर्चा न हो लेकिन आशा की जा रही है कि शाह और कुमार के बीच इस बारे में मोटा-मोटी सहमति बन जाएगी.

शाह एक दिन की यात्रा पर पटना आ रहे हैं. चार साल अलग रहने के बाद जेडीयू की एनडीए में वापसी के बाद शाह की यह पहली बिहार यात्रा है.

हालांकि इन बैठकों में बीजेपी के बिहार प्रभारी भूपेंद्र यादव, उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी और रवि शंकर प्रसाद सहित राज्य से आने वाले सभी केंद्रीय मंत्री मौजूद होंगे लेकिन सबकी निगाहें शाह और कुमार की बैठक पर रहेंगी.

CM से पहली मुलाकात के मायने

इससे पहले बुधवार को फ़र्स्टपोस्ट हिंदी से बातचीत में जेडीयू के राष्ट्रीय महासचिव संजय झा ने कहा, 'अमित शाह बिहार गए होंगे जब से बिहार में जेडीयू-बीजेपी की सरकार बनी है लेकिन मुख्यमंत्री से उनकी यह पहली मुलाकात है.

उन्होंने कहा, 'इस मुलाकात में 2019 के बारे में चर्चा की जाएगी. एनडीए कैसे चलेगी और 2019 का चुनाव कैसे लड़ा जाएगा, इस पर चर्चा होगी. 2019 हम लोग कैसे लड़ें कि यह गठबंधन रहे. 2019 में जीत की रणनीति पर चर्चा होगी. जेडीयू-बीजेपी किसी कीमत पर अलग नहीं होगी. दोनों तरफ से समझदारी है. दोनों का रुझान बिहार की भलाई पर है.' झा ने कहा, एक बात तो साफ है कि नीतीश कुमार कंप्रोमाइज करके राज नहीं चलाते.'

बूथ स्तर पर प्रबंधन की तैयारी

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह अलग-अलग राज्यों का दौरा कर रहे हैं. इस दौरान उनकी लोकसभा चुनाव तैयारी टोली से लगातार रणनीति पर चर्चा हो रही है. शाह की कोशिश है कि हर हाल में बूथ स्तर पर पार्टी कार्यकर्ताओं की बेहतर ढंग से तैनाती की जाए. यूपी से लेकर पश्चिम बंगाल तक हर राज्य में अमित शाह की तरफ से शक्ति केंद्र प्रमुखों से मुलाकात हो रही है. उन्हें काम करने का मंत्र दे रहे हैं. शाह इस दौरान सोशल मीडिया के वॉलंटियर्स से लगातार रू-ब-रू हो रहे हैं.

अमित शाह की रणनीति के केंद्र में बूथ स्तर पर मैनेजमेंट के अलावा सोशल मीडिया को भी चुस्त-दुरुस्त करने पर जोर दिया जा रहा है. बिहार दौरे में अमित शाह का फोकस इस पर रहेगा.

(इनपुट भाषा से)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi