S M L

लोकसभा चुनाव तक पार्टी चीफ बने रहेंगे अमित शाह, संगठन चुनाव टला

लोकसभा चुनाव तक अमित शाह बीजेपी अध्यक्ष बने रहे रहेंगे और पार्टी उन्हीं के नेतृत्व में चुनाव मैदान में उतरेगी, इसके अलावा बीजेपी ने संगठन में होने वाले चुनाव को टाल दिया है

Updated On: Sep 08, 2018 03:38 PM IST

FP Staff

0
लोकसभा चुनाव तक पार्टी चीफ बने रहेंगे अमित शाह, संगठन चुनाव टला

बीजेपी ने 2019 लोकसभा चुनाव के लिए तैयारियां करनी शुरू कर दी है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, लोकसभा चुनाव तक अमित शाह बीजेपी अध्यक्ष बने रहे रहेंगे और पार्टी उन्हीं के नेतृत्व में चुनाव मैदान में उतरेगी. शाह का कार्यकाल जनवरी, 2019 में समाप्त हो रहा है. चुनाव को ध्यान में रखते हुए बीजेपी ने संगठन में होने वाले चुनाव को टाल दिया है.

मिली जानकारी के मुताबिक, इस बात पर फैसला पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में लिया गया. पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक दिल्ली में चल रही है. अमित शाह अगस्त 2014 में राजनाथ सिंह की जगह पार्टी अध्यक्ष बनाए गए थे. सिंह मोदी सरकार में गृहमंत्री बन गए थे. जिसके बाद शाह ने उनके बचे कार्यकाल को पूरा किया और पहली बार 3 साल का पूरा कार्यकाल उन्हें जनवरी, 2016 में मिला था.

बीजेपी के संविधान के अनुसार, एक आदमी दो ही बार पूरे कार्यकाल के लिए पार्टी का अध्यक्ष बन सकता है. पार्टी की कार्यकारिणी की बैठक में सदस्यों ने संकल्प लिया कि पार्टी 2014 चुनाव से बड़ी जीत हासिल कर 2019 में सत्ता में लौटेगी. 2014 लोकसभा चुनाव में पहली बार पार्टी अकेलेदम पर पूर्णबहुमत हासिल करने में सफल रही थी.

बैठक में पार्टी ने दिया अजेय बीजेपी का नारा

राष्ट्रीय कार्यकारिणी की इस बैठक में पार्टी ने अजेय बीजेपी का नारा दिया है. इस मीटिंग में सभी राष्ट्रीय पदाधिकारियों समेत सभी राज्यों के प्रदेशाध्यक्ष भी शामिल हुए. इस बैठक में पदाधिकारियों ने पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव में जीत हासिल करने का संकल्प लिया. पार्टी ने तेलंगाना विधानसभा चुनाव पर ज्यादा जोर देकर अच्छे प्रदर्शन करने की बात कही.

विधानसभा चुनाव से पहले जातिय संतुलन को कैसे संभाला जाए इसको लेकर राजनीतिक संदेश देने के लिए पार्टी क्या फैसला करती है, इस बात के लिए सभी की निगाहें राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक पर टिकी हुई है. एससी/एसटी एक्ट को लेकर संसद द्वारा सुप्रीम कोर्ट के फैसले को बदलने के बाद सवर्ण जातियों में काफी नाराजगी है. इसकी बानगी मध्य प्रदेश, राजस्थान और बिहार में देखने को मिला है. इन राज्यों में सवर्णों ने सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन भी किए थे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi