S M L

सबरीमाला पर शाह का बयान संविधान और कानून के खिलाफ: केरल CM

अमित शाह के बयान पर विजयन ने कहा, यह मौलिक अधिकारों (फंडामेंटल राइट्स) की गारंटी न देने के उनके एजेंडे की तरफ स्पष्ट इशारा है. यह आरएसएस और संघ परिवार का एजेंडा दिखाता है

Updated On: Oct 27, 2018 05:27 PM IST

FP Staff

0
सबरीमाला पर शाह का बयान संविधान और कानून के खिलाफ: केरल CM
Loading...

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के बयान पर केरल के मुख्यमंत्री ने कड़ी आपत्ति जताई है. सीएम पिनराई विजयन ने कहा कि बीजेपी अध्यक्ष का सबरीमाला मामले पर बयान संविधान और कानून के खिलाफ है. अमित शाह ने शनिवार को अपने केरल दौरे में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा था कि बीजेपी अयप्पा भक्तों के साथ चट्टान की तरह खड़ी है. उन्होंने विजयन सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, लेफ्ट की सरकार ताकत के दम पर प्रदर्शनकारियों को चुप कराना चाहती है.

अमित शाह के बयान पर विजयन ने कहा, यह मौलिक अधिकारों (फंडामेंटल राइट्स) की गारंटी न देने के उनके एजेंडे की तरफ स्पष्ट इशारा है. यह आरएसएस और संघ परिवार का एजेंडा दिखाता है.

उन्होंने कहा, अमित शाह जिन्होंने हमारी सरकार को उखाड़ फेंकने की धमकी दी, उन्हें यह याद रखना चाहिए कि मेरी सरकार बीजेपी की दया पर नहीं, बल्कि लोगों के जनादेश पर सत्ता में आई है. उनका संदेश लोगों के जनादेश को खंडित करने वाला है.

अमित शाह ने किया अयप्पा के भक्तों का समर्थन

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने सभी उम्र की महिलाओं को सबरीमला मंदिर में प्रवेश देने के सुप्रीम कोर्ट के आदेश को लागू करने के सीपीएम नीत एलडीएफ सरकार के फैसले का विरोध करने वाले श्रद्धालुओं को शनिवार को अपना पूर्ण समर्थन देते हुए आरोप लगाया कि वामपंथी सरकार प्रदर्शनों को ताकत के बल पर ‘दबाना’ चाहती है.

शाह ने कहा कि प्रदेश सरकार श्रद्धालुओं के प्रदर्शन को चुनौती देने के लिए पुलिस बल का इस्तेमाल कर रही है. उन्होंने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और संघ परिवार के कार्यकर्ताओं समेत प्रदेश भर में सभी वर्ग की महिलाओं के मंदिर में प्रवेश के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे 2000 से ज्यादा श्रद्धालुओं की गिरफ्तारी की भी आलोचना की.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi