S M L

कांग्रेस चट्टों-बट्टों को पैसा देती थी, हम जनता को देते हैं : शाह

रैली को संबोधित करते हुए बीजेपी अध्यक्ष ने मोदी सरकार और हरियाणा सरकार की जमकर तारीफ की

FP Staff Updated On: Feb 15, 2018 03:41 PM IST

0
कांग्रेस चट्टों-बट्टों को पैसा देती थी, हम जनता को देते हैं : शाह

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने गुरुवार को हरियाणा के जींद से पार्टी के 'मिशन-2019' का आगाज किया. अमित शाह ने जींद में बाइक रैली की बीजेपी कार्यकर्ताओं को संबोधित किया. रैली को संबोधित करते हुए बीजेपी अध्यक्ष ने मोदी सरकार और हरियाणा सरकार की जमकर तारीफ की. अपने भाषण के दौरान उन्होंने हुड्डा पर भी जमकर निशाना साधा.

आइए जानते हैं शाह की रैली की 5 खास बातें-

-रैली को संबोधित करते हुए बीजेपी अध्यक्ष ने कहा, हरियाणा लड़ाकों, यूथ, किसानों और शहीदों की धरती है. शाह ने कहा कि वे इन सब का नमन करते हैं. यह ऐसी धरती है जिसने देश की रक्षा के लिए जवान दिए तो लोगों का पेट भरने के लिए किसान भी दिए. हरित क्रांति का नारा हरियाणा के किसानों की बदौलत पूरा हुआ. सबसे ज्यादा मेडल लेने वाला राज्य हरियाणा ही है. प्रदेश और देश की भाजपा सरकार ने भ्रष्टाचार मुक्त शासन दिया है.

-शाह ने कहा, कांग्रेस सरकार ने किसानों को उनकी लागत का 50 फीसद तक लाभ नहीं दिया जबकि मोदी सरकार जबसे पॉवर में आई है, किसानों की मांगें पूरी कर रही है.

-रैली को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि हरियाणा सरकार की उप्लब्धि इतनी है कि सात दिन का भागवत बैठाना पड़ेगा. साथ ही उन्होंने कहा कि हुड्डाजी सुन लीजिए पाई-पाई का हिसाब लेकर आया हूं, हिम्मत हो तो सुन लीजिए. अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस अपने चट्टों-बट्टों को पैसा देती थी और हम जनता के लिए पैसे देते हैं, खट्टर पर एक भी भ्रष्टाचार का आरोप नहीं लगा है.

-मनोहर लाल खट्टर सरकार की तारीफ करते हुए बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि सरकार ने तबादलों के उद्योग को बंद किया. ऑनलाइन व्यवस्था लागू करके इस व्यापार को बंद किया. भर्तियों में पारदर्शिता लाई गई. साथ ही उन्होंने कहा कि लिंगानुपात में सुधार को लेकर सबसे अग्रणी राज्य बना हरियाणा. 2019 लोकसभा चुनाव का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि हरियाणा की 10 की 10 सीट पर भाजपा की जीत होगी.

-अमित शाह की बाइक रैली को लेकर अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति विरोध में थी. उन्होंने इसी दिन ट्रैक्टर से रैली निकालने का फैसला लिया था. लेकिन, खट्टर सरकार की ओर से उनकी सारी मांगें पूरी करने के आश्वासन के बाद जाट नेताओं ने अपनी रैली रद्द कर दी. हालांकि, इनेलो और कांग्रेस ने  बाइक रैली को काले झंडे दिखाए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Test Ride: Royal Enfield की दमदार Thunderbird 500X

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi