S M L

मुलायम के गढ़ में शाह की ललकार : इटावा रैली की पांच मुख्य बातें

इटावा के नुमाइश मैदान की रैली में अमित शाह ने अपने भाषण की शुरुआत जय-जय श्रीराम के नारे से की

Updated On: Oct 27, 2016 07:41 PM IST

Amit Singh

0
मुलायम के गढ़ में शाह की ललकार : इटावा रैली की पांच मुख्य बातें

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह अंदरूनी कलह से जूझ रही समाजवादी पार्टी पर उसी के गढ़ में जमकर बरसे. गुरुवार को इटावा के नुमाइश मैदान की रैली में अमित शाह ने अपने भाषण की शुरुआत जय-जय श्रीराम के नारे से की. उनके भाषण की पांच मुख्य बातें ये रहीं- 1. नितिन यादव देश की सेवा करते-करते शहीद हो गए. उनकी धरती इटावा को पूरा देश प्रणाम करता है. सपा, बसपा, कांग्रेस की मिलीजुली यूपीए सरकार के दौरान बॉर्डर पर आए दिन हमले होते थे. जवानों के सिर काटकर आतंकी ले जाते थे. बीजेपी सरकार के दौरान इसका मुंहतोड़ जवाब दिया जाता है. सेना के सर्जिकल स्ट्राइक ने वाजिब जवाब दिया है. हम देश की सीमाओं से छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं करेंगे. 2. यूपीए सरकार के दस साल में 12 लाख करोड़ के घोटाले हुए. सपा, बसपा और कांग्रेस मिलकर 12 लाख करोड़ खा गए. यूपीए सरकार के दौरान धरती, आकाश और पाताल में घोटाला हुआ. हमारे ढाई साल के शासन में कोई भी घोटाला नहीं हुआ. 3. फसल बीमा योजना का फायदा यूपी को नहीं मिल रहा है. चाचा-भतीजा में तकरार बढ़ गई कि कमीशन किसके पास जाएगा. केंद्र सरकार ने हर साल एक लाख करोड़ रुपये उत्तर प्रदेश को ज्यादा देने का फैसला किया है. लेकिन आपके हिस्से कुछ नहीं आना है. चाचा खाएगा, भतीजा खाएगा, बचा तो आजम चाट जाएगा. 4. सपा सरकार ने लॉ एंड आर्डर का मतलब बदल दिया. रामवृक्ष यादव पैदा कर दिया. बिना सहयोग के कोई इतना बड़ा कांड नहीं कर सकता. सपा सरकार ने 'लो' और आर्डर 'दो' कर दिया है. बुआ-भतीजा लॉ एंड आर्डर ठीक नहीं कर सकते. मायावती लॉ एंड आर्डर की बात करती हैं. जबकि उनके शासनकाल में रेप की घटनाएं 163 फीसदी बढ़ गई. 5. राहुल गांधी आलू की फैक्ट्री लगा रहे हैं. उन्हें पता नहीं कि आलू फैक्ट्री में नहीं पैदा होता है. कांग्रेस सिर्फ वोट काटने के लिए चुनाव में उतरी है. इस चुनाव में अब यूपी में गुंडे नहीं आएंगे, सेंट्रल फोर्स आएगी. इस रैली को सपा अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव के लिए बड़ी चुनौती माना जा रहा है. रैली का आयोजन बसपा छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए नेता बृजेश पाठक ने की है. बीजेपी की कोशिश है कि समाजवादी पार्टी के झगड़े का ज्यादा से ज्यादा फायदा उठाकर इलाके में अपनी पकड़ मजबूत करे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi