S M L

गणेश चतुर्थी और ताजिये में क्यों फर्क करती है कांग्रेस सरकार: कर्नाटक में अमित शाह

अमित शाह ने कहा 'अगर गणेश चतुर्थी मनानी है तो 10 लाख का बॉन्ड लिया जाता है. ताजिये के लिए किसी प्रकार के कोई बॉन्ड की जरूरत नहीं होती है'

FP Staff Updated On: Jan 25, 2018 05:14 PM IST

0
गणेश चतुर्थी और ताजिये में क्यों फर्क करती है कांग्रेस सरकार: कर्नाटक में अमित शाह

कर्नाटक और गोवा के बीच अंतर्राज्यीय महादाई नदी पानी विवाद को लेकर कर्नाटक में कई कन्नड समर्थित संगठनों ने गुरुवार को 12 घंटे का बंद बुलाया है. बंद का असर राज्य पर पूरी तरह दिख भी रहा है. इस बंद के बीच ही बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह परिवर्तन रैली में हिस्सा लेने के लिए कर्नाटक पहुंचे.

राज्य में प्रचार के लिए पहुंचे बीजेपी अध्यक्ष ने कांग्रेस और राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा. बीजेपी अध्यक्ष ने कहा ‘कांग्रेस और राहुल गांधी को सिर्फ टीपूसुल्तान याद आते हैं. हमारे नेता इस देश के प्रधानमंत्री जी का नारा है सबका साथ सबका विकास. कर्नाटक की जनता क्या कांग्रेस के साथ सहमत है? बीजेपी और आरएसएस के 20 से ज्यादा कार्यकर्ताओं की हत्या हो चुकी है. कर्नाटक सरकार के कान पर जूं भी नहीं रेंगती है.’

उन्होंने कहा ‘अगर गणेश चतुर्थी मनानी है तो 10 लाख का बॉन्ड लिया जाता है. ताजिये के लिए किसी प्रकार के कोई बॉन्ड की जरूरत नहीं होती है. यह किस प्रकार की राजनीति कर रहे हैं. कर्नाटक सरकार और उनके सारे चट्टे-पट्टों को कहना चाहता हूं कि हमारे 20 कार्यकर्ताओं की शहादत बेकार नहीं जाएगी. हमारी सरकार बनते ही हम आरोपियों को जेल में डाल देंगे.’

भ्रष्टाचार में डूबी है सिद्धारमैया सरकार: अमित शाह

शाह ने कहा ‘कर्नाटक के अंदर सिद्धारमैया सरकार और भ्रष्टाचार दो पर्यायवाची बने हुए हैं. यहां 35-40 हजार लोग हैं, मैं पूछता हूं कि क्या किसी के पास 70 लाख रुपए की घड़ी है? खुद को समाजवादी कहने वाले सिद्धारमैया 70 लाख रुपए की घड़ी पहनते हैं. दूसरी तरफ किसान आत्महत्या कर रहे हैं.’

उन्होंने कहा ‘कर्नाटक सरकार के मंत्रिमंडल में 64 करोड़ रुपए का घोटाला किया गया है. कंबल खरीदने में घोटाला किया गया, हद तो तब हो गई जब गरीबों के लिए चावल और दाल खरीदने में भी घोटाला किया गया. मेरे पास घोटालों की इतनी लंबी सूची है. अगर मैं बताने लगूं तो आप 60 दिन तक यहां से जा नहीं सकते.’

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा ‘राज्य सरकार खुद को किसानों की हितैशी बताती है. ये सरकार खुद को ओबीसी समुदाय का हितैशी मानती है. जब केंद्र के अंदर संसद में हमारे प्रधानमंत्री ओबीसी बिल लेकर आई तो यही कांग्रेस ने विरोध करके बिल को रद्द करवा दिया. मैं आपके माध्यम से ओबीसी समुदाय के भाई-बहनों को विश्वास दिलाना चाहता हूं कि बीजेपी सरकार इस समुदाय को हक दिलवाकर ही सांस लेगी.’

तीन तलाक पर बोलते हुए अमित शाह ने कहा ‘आजादी के इतने सालों के बाद बीजेपी सरकार तीन तलाक को समाप्त करने का बिल लेकर आई. इस देश में अब तीन तलाक का कानून नहीं चलेगा. अभी सिद्धारमैया दिल्ली आए थे. उन्होंने पूछा था कि बीजेपी सरकार ने 3.5 सालों में क्या किया. हम आपको बता दें कि हम हर जगह अपना हिसाब लेकर जाते हैं. आप लोगों ने इन 5 सालों में क्या किया ये पहले बताओ.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
'हमारे देश की सबसे खूबसूरत चीज 'सेक्युलरिज़म' है लेकिन कुछ तो अजीब हो रहा है'- Taapsee Pannu

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi