S M L

कर्नाटक में रेड्डी ब्रदर्स को टिकट दिए जाने से संंकट में पड़ सकती है बीजेपी

खनन माफिया के मास्टमाइड जी जनार्दन रेड्डी सेंट्रल कर्नाटक में बीजेपी के चुनावी प्रचार का नेतृत्व कर रहे हैं, ऐसे में भ्रष्टाचार के मुद्दे पर चुनाव लड़ रही बीजेपी को भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है

FP Staff Updated On: Apr 27, 2018 05:46 PM IST

0
कर्नाटक में रेड्डी ब्रदर्स को टिकट दिए जाने से संंकट में पड़ सकती है बीजेपी

बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को बेल्लारी जिले के अपने निर्धारित दौरे को रद्द कर दिया. सूत्रों के मुताबिक, अमित शाह खनन माफिया रेड्डी ब्रदर्स के साथ मंच साझा नहीं करना चाहते हैं. आपको बता दें कि रेड्डी ब्रदर्स और उनके सगे संबंधियों के सात लोगों को बीजेपी ने टिकट दिया है. पार्टी के इस फैसले से बीजेपी के कई नेता नाराज़ हो गए हैं.

रेड्डी ब्रदर्स पर बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष और पार्टी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार बीएस येदियुरप्पा के बयान ने आग में घी डालने का काम किया है. उन्होंने पिछले दिनों कहा था कि राज्य के हित में उन्होंने रेड्डी ब्रदर्स को माफ़ कर दिया है. सिद्धारमैया ने येदियुरप्पा के इस बयान पर तीखा हमला किया है. उन्होंने ट्वीट करते हुए कई सवाल उठाए हैं.

बीजेपी के दागी उम्मीदवारों से कांग्रेस को फायदा

खनन माफिया के मास्टमाइड जी जनार्दन रेड्डी सेंट्रल कर्नाटक में बीजेपी के चुनावी प्रचार का नेतृत्व कर रहे हैं. ऐसे में भ्रष्टाचार के मुद्दे पर चुनाव लड़ रही बीजेपी को भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है. जबकि कांग्रेस को इसका फायदा हो रहा है.

न्यूज़ 18 से बात करते हुए सिद्धारमैया ने कहा, 'रेड्डी ब्रदर्स कर्नाटक के इतिहास में सबसे बड़े अपराधी हैं. बीजेपी ने उन्हें फिर से गले लगा लिया है. उनके सात लोगों को बीजेपी ने टिकट दिया है. येदियुरप्पा के अपने बेटे को टिकट नहीं मिला है यानी कोई आसानी से समझ सकता है कि अगर बीजेपी सत्ता में आती है, तो राज्य में रेड्डी ब्रदर्स ही शासन करेंगे. ये एक और बात है कि बीजेपी कभी कर्नाटक में सत्ता में नहीं आएगी.'

मुख्यमंत्री को जवाब देते हुए येदियुरप्पा ने कहा, 'जनार्दन रेड्डी को छोड़कर बाक़ी रेड्डी भाई हमारे साथ हैं. जनार्दन ने विधानसभा चुनावों के लिए कोई टिकट नहीं मांगा है और हम टिकट नहीं दे रहे हैं. वो बेल्लारी और कुछ अन्य जिलों में मदद करने जा रहे हैं जहां हम जनार्दन के कारण आसानी से 15-20 सीटें जीत सकते हैं. लोग खुश हैं कि वो हमारा समर्थन कर रहे हैं.'

बीजेपी ने पहले कहा रेड्डी ब्रदर्स से कोई संबंध नहीं, फिर टिकट दे दिया

हैरान करने वाली बात ये है कि कुछ हफ्ते पहले अमित शाह ने सार्वजनिक रूप से कहा था कि उनकी पार्टी का रेड्डी ब्रदर्स से कोई लेना-देना नहीं है. लेकिन फिर भी पार्टी की ओर से जारी की गई उम्मीदवारों की सूची में रेड्डी ब्रदर्स में से सबसे बड़े जी करुनाकर रेड्डी को पार्टी ने हरापनहल्ली सीट से चुनावी मैदान में उतार दिया गया. इसके अलावा रेड्डी ब्रदर्स के करीबियों में बी श्रीरामलू (मोलाकलमुरु सीट), जी सोमशेखर रेड्डी (बल्लारी सिटी सीट), श्रीरामलू के रिश्तेदार सन्ना फकीरप्पा (बल्लारी रूरल सीट) और टी एच सुरेश बाबू (कंपली सीट) को भी टिकट दिए गए है. इतना ही नहीं बीजेपी ने एक्टर और जनार्दन रेड्डी के करीबी साईकुमार को भी बागेपल्ली से टिकट दिया है.

जनार्दन रेड्डी ने कहा है कि वो बादामी में सिद्धारमैया के खिलाफ चुनाव प्रचार करेंगे. यहां से बी श्रीरामलू बीजेपी के उम्मीदवार हैं. स्थानीय बीजेपी नेताओं को डर है कि रेड्डी के प्रचार करने से उन्हें नुकसान हो सकता है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी रेड्डी ब्रदर्स को लेकर बीजेपी पर हमला किया है.

(न्यूज़18 के लिए डीपी सतीश की रिपोर्ट)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi