S M L

धारा 144 के बावजूद अलवर पहुंचे मेवाणी, दलित परिवारों से की मुलाकात

मेवाणी ने आरोप लगाया कि उन्हें पिछले एक डेढ़ महीने से राजस्थान में एंट्री नहीं करने दी जा रही है. मेवाणी ने कहा कि दलितों के घर जाकर महसूस किया कि राज्य में उन पर अत्यचार किया जा रहा है

Updated On: May 13, 2018 08:38 PM IST

FP Staff

0
धारा 144 के बावजूद अलवर पहुंचे मेवाणी, दलित परिवारों से की मुलाकात

दलित नेता जिग्नेश मेवाणी अलवर जिले के खैरथल में धारा 144 लगाए जाने के बावजूद रविवार को वहां पहुंच गए. मेवाणी 2 अप्रैल को भारत बंद के प्रदर्शन के दौरान मारे गए दलित युवक पवन जाटव के घर पहुंचे. इसके अलावा वहां उन्होंने आधा दर्जन से अधिक दलित परिवारों से मुलाकात की.

दलित नेता और विधायक जिग्नेश मेवाणी ने राज्य सरकार द्वारा बार-बार राजस्थान में उनके प्रवेश पर रोक और रैली और सभा की अनुमति नहीं देने को साजिश करार दिया. मेवाणी ने आरोप लगाया कि उन्हें पिछले एक डेढ़ महीने से राजस्थान में एंट्री नहीं करने दी जा रही है. मेवाणी ने कहा कि दलितों के घर जाकर महसूस किया कि राज्य में उन पर अत्यचार किया जा रहा है.

मेवाणी ने आरोप लगाया कि दो अप्रैल को भारत बंद के दौरान पुलिस ने गोली मारकर दलित युवक पवन की हत्या कर दी गई. इसके बाद पुलिस दलितों पर मुकदमें दर्ज कर उन्हें धमका रही है. उन्होंने कहा पवन को गोली मारने वाले पुलिसकर्मी के खिलाफ 302 का मुकदमा दर्ज किया जाना चाहिए.

मेवाणी ने आरोप लगाया कि राज्य सरकार दलितों को चुन चुनकर निशाना बना रही है. उन्होंने मांग की है कि दलितों पर दर्ज मुकदमें वापस लिए जाएं. दलितों पर फायरिंग करने वाले अधिकारियों पर कार्रवाई की जाए. इसके अलावा दलितों को मुख्यमंत्री राहत कोष से मुआवजा दिया जाए.

जिग्नेश मेवाणी के खैरथल की आने की सूचना पर वहां प्रशासन ने सतर्कता बरतते हुए धारा 144 लगाई थी. लेकिन इसके बावजूद दलित नेता और विधायक जिग्नेश मेवाणी खैरथल पहुंच गए.

(न्यूज18 के लिए राजेंद्र प्रसाद शर्मा की रिपोर्ट)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi