S M L

सोशल मीडिया के कारण बिगड़े हालात, गुजरात में नहीं हो रही हिंसा: अल्पेश ठाकोर

अल्पेश ठाकोर ने सफाई देते हुए कहा कि गुजरात में हिंसा के लिए कोई जगह नहीं है

Updated On: Oct 11, 2018 01:42 PM IST

FP Staff

0
सोशल मीडिया के कारण बिगड़े हालात, गुजरात में नहीं हो रही हिंसा: अल्पेश ठाकोर

गुजरात में यूपी,एमपी और बिहार के लोगों के खिलाफ हो रही मॉब लिंचिंग की घटनाओं पर बात करते हुए कांग्रेस विधायक अल्पेश ठाकोर ने कहा कि गुजरात में हिंसा के लिए कोई जगह नहीं है. उन्होंने कहा कि, 'मैं 'सद्भावना उपवास' इसलिए कर रहा हूं क्योंकि मेरे गुजरात को बदनाम किया जा रहा है.' उन्होंन सफाई देते हुए कहा, ' गुजरात में किसी पर भी हमले नहीं हो रहे हैं. हालात केवल सोशल मीडिया के कारण ही बिगड़े हैं.' उन्होंने कहा, हम न तो क्षेत्रवाद को सपोर्ट कर रहे हैं और न ही इसे आगे बढ़ाएंगे.

इससे पहले बुधवर को उन्होंने बिहार और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखा था. अल्पेश ने पत्र में दावा किया कि वो या उनका संगठन हिंसा में शामिल नहीं हैं, जिसकी वजह से लोग जा रहे हैं.

एफआईआर में ठाकोर के संगठन का नाम

गुजरात की सत्तारूढ़ बीजेपी ठाकोर और उनके संगठन गुजरात क्षत्रिय-ठाकोर सेना को हिंसा के लिए जिम्मेदार ठहरा रही है. इन हमलों के सिलसिले में दर्ज कुछ एफआईआर में भी इस संगठन का नाम है . 14 महीने की एक बच्ची के साथ  रेप करने को लेकर 28 सितंबर को बिहार के एक मजदूर की गिरफ्तारी के बाद हिंसा भड़क गई थी. बच्ची ठाकोर समुदाय से है.

चिट्ठी में अल्पेश ठाकोर ने क्या कहा?

अल्पेश ठाकोर ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को चिट्ठी लिखी और कहा कि वह केवल बलात्कार पीड़िता के लिए इंसाफ मांग रहे थे, लेकिन कुछ लोगों ने इसे राजनीतिक रंग दे दिया. उन्होंने दावा किया कि उत्तर प्रदेश और बिहार के लोग अफवाहों पर आंख बंद कर विश्वास कर रहे हैं और गुजरात से जा रहे हैं, और हमले सुनियोजित साजिश हैं.

(भाषा से इनपुट)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi