S M L

मैं टोटी लाया हूं, सरकार गिनती बताए मैं वापस करूंगा: अखिलेश

शायराना अंदाज में बोलते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि लोग प्यार में अंधे होते हैं पर जलन और नफरत में अंधे होते हुए मैंने देखा है

FP Staff Updated On: Jun 13, 2018 04:18 PM IST

0
मैं टोटी लाया हूं, सरकार गिनती बताए मैं वापस करूंगा: अखिलेश

उत्तर प्रदेश के बंगले विवाद पर आरोपों का जवाब देते हुए पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि बंगले के कुछ फोटोग्राफ्स को दिखा कर मुझे बदनाम करने की साजिश की जा रही है. यह विवाद जानबूझ कर बढ़ाया जा रहा है.

उन्होंने आरोप लगते हुए कहा कि सरकार एक टोटी के लिए मुझे बदनाम कर रही है. अगर सरकार को लगता है कि मैं टोटिंया लेकर गया हूं तो सरकार टोंटियों की गिनती बताए, मैं टोंटियां वापस करने को तैयार हूं.

अखिलेश यादव ने कहा कि बंगले का वूडेन फ्लोरिंग के साथ कई चीजें पहले की ही तरह हैं. सिर्फ बंगले के एक हिस्से की तस्वीरें दिखाकर ये बताने की कोशिश की जा रही है कि इस हालत में छोड़कर बंगला खाली किया गया है.

उन्होंने कहा कि मेरा बंगला राजनीतिक दुर्भावना के तहत खाली कराया गया है. बीजेपी पर आरोप लगते हुए कहा कि उपचुनावों में मिली हार से बीजेपी बौखला गई है. ये लोग जलन में अंधे हो गए हैं.

शायराना अंदाज में बोलते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि लोग प्यार में अंधे होते हैं पर जलन और नफरत में अंधे होते हुए मैंने देखा है. वो सरकार पर सवाल दागते हुए कहते हैं कि मेरे बंगले से जाने के बाद मुख्यमंत्री के ओएसडी अभिषेक वहां नहीं गए थे क्या? क्या वहां आईएएस अधिकारी मृत्युंजय उस बंगले में नहीं गए थे?

उन्होंने कहा कि सरकारी आवास में सारा सामान मेरा था और मैं सिर्फ वही ले गया हूं. दूसरों के पैसों से मैं अपनी इच्छाएं पूरी नहीं करता. पूरे सरकारी आवास में पेड़-पौधे मैंने खुद अपने पैसों से लगाए थे. उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार की शिकायत करने वाले लोग पागल साबित हो रहे है.

स्विमिंग पूल पर सवाल पूछे जाने पर अखिलेश यादव कहते हैं कि आवास में कोई पूल था ही नहीं. सरकार मुझे बदनाम करने की साजिश के तहत यह झूठ फैला रही है कि मैंने बंगले को खाली करने जाने से नाराज होकर बंगले में तोड़फोड़ की है. उन्होंने सरकार को चैलेंज करते हुए कहा कि जितने पेड़-पौधे मैंने वहां लगाए थे, सरकार उनके नाम तक नहीं गिना पाएगी.

राज्यपाल राम नाईक पर बोलते हुए पूर्व सीएम कहते हैं कि गवर्नरअच्छे व्यक्ति हैं, लेकिन वो संविधान के तहत काम नहीं कर रहे हैं.

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्रियों ने अपने बंगले खाली किए थे. अखिलेश यादव बंगला खाली करने के बाद मीडिया में टूटे हुए बंगले की तस्वीरें वायरल हो गई थीं. जिसके बाद अखिलेश यादव निशाने पर थे. इससे पहले अखिलेश यादव ने कहा था कि जो भी सामान वहां से गायब हुआ है सरकार उसकी लिस्ट मुझे दे. मैं उसकी भरपाई करने को तैयार हूं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi