S M L

इलाहाबाद का नाम बदला जाना परंपरा और आस्था के साथ खिलवाड़ है: अखिलेश यादव

उत्तर प्रदेश बीजेपी के प्रवक्ता श्रीकांत मिश्रा ने कहा कि पूर्व में जो गलतियां हुई हैं, उन्हें हम सुधारेंगे और जरूरत पड़ी तो और भी शहरों और सड़कों का नाम बदले जाएंगे

Updated On: Oct 15, 2018 09:55 PM IST

FP Staff

0
इलाहाबाद का नाम बदला जाना परंपरा और आस्था के साथ खिलवाड़ है: अखिलेश यादव
Loading...

संगम नगरी इलाहाबाद का नाम बदलकर ‘प्रयागराज‘ किए जाने की तैयारियों के बीच समाजवादी पार्टी अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इसे परंपरा और आस्था के साथ खिलवाड़ करार दिया. सोमवार को अखिलेश ने ट्वीट करते हुए कहा कि प्रयाग कुंभ का नाम केवल प्रयागराज किया जाना और अर्द्धकुंभ का नाम बदलकर ‘कुंभ‘ किया जाना परंपरा और आस्था के साथ खिलवाड़ है.

उन्होंने कहा ‘राजा हर्षवर्धन ने अपने दान से प्रयाग कुंभ का नाम किया था और आज के शासक केवल ‘प्रयागराज’ नाम बदलकर अपना काम दिखाना चाहते हैं. इन्होंने तो ‘अर्ध कुंभ’ का भी नाम बदलकर ‘कुंभ’ कर दिया है. ये परंपर और आस्था के साथ खिलवाड़ है.’

श्रीकांत शर्मा ने कहा जरूरत पड़ी तो और शहरों का नाम भी बदलेंगे

इस बीच, प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार के प्रवक्ता और ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने अखिलेश पर पलटवार करते हुए कहा कि आस्था के साथ खिलवाड़ तो तब हुआ था जब इस संगम नगरी का नाम बदलकर इलाहाबाद रखा गया था.

शर्मा ने कहा कि इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज किए जाने पर कुछ लोग जो आपत्ति जता रहे हैं, वह निराधार हैं. किसी जिले का नाम बदलना सरकार का अधिकार है. उन्होंने कहा कि पूर्व में जो गलतियां हुई हैं, उन्हें हम सुधारेंगे और जरूरत पड़ी तो और भी शहरों और सड़कों का नाम बदले जाएंगे.

गौरतलब है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को इलाहाबाद में कहा था कि कुंभ मेले से पहले संगम नगरी का नाम बदलकर प्रयागराज करने का प्रस्ताव है. राज्यपाल (राम नाईक) ने इसके लिए पहले ही अनुमोदन दे दिया है. अगर आम राय बनी तो इलाहाबाद का नाम जल्द ही बदलेगा.

(भाषा से इनपुट)

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi