Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

जिन्हें छोड़कर जाना हो वो बिना बहाना बनाए जाएं : अखिलेश

अखिलेश ने कहा- कम से कम हमें यह तो पता लगे कि 'बुरे वक्त' में कितने लोग हमारे साथ हैं

Bhasha Updated On: Aug 07, 2017 06:02 PM IST

0
जिन्हें छोड़कर जाना हो वो बिना बहाना बनाए जाएं : अखिलेश

समाजवादी पार्टी (एसपी) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपनी पार्टी के तीन विधान परिषद सदस्यों के बीजेपी में शामिल होने पर कहा कि जिन्हें जाना हो, वह बिना कोई बहाना बनाये जा सकते हैं, ताकि मुझे भी पता लगे कि ‘बुरे वक्त’ में कितने लोग मेरे साथ हैं.

लखनऊ में पार्टी कार्यालय में अखिलेश ने रक्षाबंधन कार्यक्रम के दौरान कार्यकर्ताओं से बातचीत में हाल में एसपी छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए बुक्कल नवाब और डॉ. सरोजिनी अग्रवाल का हवाला देते हुए कहा, ‘लोग बहाना कर रहे हैं कि एसपी में उनका दम घुट रहा था. (पार्टी का) माहौल खराब हो गया है. मैं कहता हूं कि ये सब बातें (पार्टी से) जाने के बहाने ना हों तभी अच्छा है. कोई मजबूत बहाना ढूंढें.’

उन्होंने कहा, ‘हमारी पार्टी चल रही है. बड़ी संख्या में महिलाएं, नौजवान, किसान लोग पार्टी के सदस्य बने हैं. हम तो इस समय यही कह सकते हैं कि जिन साथियों को जाना है, वह कोई बहाना नहीं बनायें... बस चले जाएं. कम से कम हमें यह तो पता लगे कि 'बुरे वक्त' में कितने लोग हमारे साथ हैं.’

अखिलेश ने बुक्कल नवाब का जिक्र करते हुए कहा कि अभी एक महीने पहले ही उन्होंने ईद पर उनके यहां मीठी सेवईयां खाई थी. उस वक्त नवाब ने बताया नहीं कि वह पार्टी छोड़कर जा रहे हैं. पता लगा है कि कुछ जमीनों का मामला था, इसलिये कागज को लेकर उन पर कुछ दबाव बनाया गया है.

एसपी अध्यक्ष ने तंज भरे लहजे में कहा, ‘बीजेपी के लोग अच्छा काम कर रहे हैं. जब उनसे दूर कोई रहता है तो भू-माफिया होता है, लेकिन जब उनके साथ जुड़ जाता है तो समझ लो कितना शरीफ, ईमानदार और पवित्र आदमी हो जाता है.’

मेरठ में मुलायम सिंह यादव मेडिकल कॉलेज संचालित करने वाली सरोजिनी अग्रवाल का नाम लिये बगैर अखिलेश ने कहा, ‘मेरठ वाला मामला मुझे पता नहीं है. हो सकता है कि उनका भी जमीन का ही हो.’

पिछले दिनों समाजवादी पार्टी के विधान परिषद सदस्य बुक्कल नवाब, यशवंत सिंह और डॉ. सरोजिनी अग्रवाल पार्टी छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गए थे. इन तीनों ने एसपी में दम घुटने के कारण पार्टी छोड़ने की बात कही थी. इनमें से बुक्कल नवाब पर अवैध निर्माण कराने के आरोप हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi