S M L

अखिलेश का चुनावी तोहफा, पति-पत्नी दोनों को मिलेगा एचआरए

उत्तर प्रदेश की अखिलेश सरकार ने शिक्षकों व कर्मियों को बुधवार को चुनावी तोहफा दिया है, ई-रिक्शा 7000 रुपये तक सस्ता

Updated On: Dec 21, 2016 09:53 PM IST

IANS

0
अखिलेश का चुनावी तोहफा, पति-पत्नी दोनों को मिलेगा एचआरए

उत्तर प्रदेश की अखिलेश सरकार ने शिक्षकों व कर्मियों को बुधवार को चुनावी तोहफा दिया है. राज्य कर्मियों की तरह सहायता प्राप्त शैक्षिक संस्थानों, ऑटोनोमस बॉडीज व निगमों में कार्यरत शिक्षकों और कर्मियों को अब पति-पत्नी दोनों को मकान किराया भत्ता दिया जाएगा.

मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में बुधवार सुबह हुई कैबिनेट की बैठक में यह फैसला लिया गया. विधानसभा का सत्र होने के कारण कैबिनेट के फैसलों की फिलहाल अधिकारिक सूचना नहीं दी गई है. इन फैसलों की जानकारी विधान मंडल के दोनों सदनों को दी जाएगी.

अभी तक सहायता प्राप्त शैक्षिक संस्थाओं, ऑटोनोमस बॉडीज और निगमों में यदि पति-पत्नी दोनों कार्यरत हों तो सिर्फ एक को ही एचआरए का लाभ मिलता था, जबकि राज्य कर्मचारी में पति-पत्नी दोनों को इसका लाभ दिया जा रहा है. राज्य कर्मियों की तरह सहायता प्राप्त शैक्षिक संस्थाओं, ऑटोनोमस बॉडीज और निगमों के कर्मचारी भी पति-पत्नी को एचआरए देने की मांग कर रहे थे.

ई-रिक्शा होगा सस्ता

सरकार ने ई-रिक्शा चलाकर परिवार पालने वाले कमजोर वर्ग का दामन भी खुशियों से भरने की कोशिश की है. उन्होंने ई-रिक्शा पर लगने वाला वैट साढ़े 12 फीसदी से घटाकर चार फीसदी कर दिया है. बाजार में 60,000 रुपये से लेकर 80,000 रुपये के बीच ई-रिक्शा आ रहा है. इस फैसले के बाद ई-रिक्शा 5000 से लेकर 7000 रुपये तक सस्ता हो जाएगा.

एक्जीक्यूटिव इंजीनियर को 400 रुपये विशेष भत्ता

समाजवादी सरकार ने शिक्षकों, कर्मचारियों व गरीबों को ही नहीं बल्कि विकास कार्यो को पूरा कराने में दिन-रात मेहनत करने वाले एक्जीक्यूटिव इंजीनियर्स को भी लाभ दिया है. सरकारी, ऑटोनोमस बॉडी और निगमों में कार्यरत एक्जीक्यूटिव इंजीनियर्स को हर महीने 400 रुपये विशेष भत्ता दिया जाएगा. भुर्तिया जाति को भी सरकारी नौकरियों में आरक्षण सरकारी नौकरियों में पिछड़े वर्गो की तरह अब भुर्तिया जाति को भी आरक्षण का लाभ मिलेगा. प्रदेश सरकार ने उत्तर प्रदेश लोकसेवा अनुसूचित जाति, जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षण में अहीर, यादव, यदुवंशी, ग्वाला के साथ भुर्तिया जाति को भी जोड़ने का फैसला किया है.

इनके अतिरिक्त कई अन्य फैसलों पर भी लगी है कैबिनेट की मुहर:

- उत्तराखंड को 37 नहरों को हस्तांतरित करने

- वृंदावन-बृजधाम सदनों की निराश्रित महिलाओं व विधवाओं को और सुविधा देने

- राजभवन के लिए स्कार्पियो, बीएस-4 व डब्ल्यूडी गाड़ी खरीदने

- मथुरा के जवाहरबाग का लोहिया पार्क की तर्ज पर विकसित करने

- बुंदेलखंड में विशेष पैकेज के तहत डीजल पंपसेट वितरित करने

- लखनऊ विकास प्राधिकरण में 197 गांवों को शामिल करने

- गोरखपुर में एम्स के लिए मुफ्त जमीन देने

- लोहिया विधि विवि में स्पोर्ट्स इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित करने

- लखनऊ उच्च न्यायालय नवीन भवन की उच्च विशिष्टियों को मंजूरी

- समाजवादी पेंशन के प्रचार-प्रसार के लिए अतिरिक्त बजट की व्यवस्था

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi