In association with
S M L

हार का गम भुलाने के लिए अखिलेश ने दिया समाजवाद का नया नारा

एसपी का नया स्लोगन है- 'आपकी साइकिल सदा चलेगी आपके नाम से, फिर प्रदेश का दिल जीतेंगे हम मिलकर अपने काम से'

FP Staff Updated On: Mar 27, 2017 10:06 PM IST

0
हार का गम भुलाने के लिए अखिलेश ने दिया समाजवाद का नया नारा

समाजवादी पार्टी ने अपना स्लोगन बदल कर चुनाव में मिली जबरदस्त हार के गम को भुलाने की कोशिश की है. 'काम बोलता है' नारे के सहारे यूपी का चुनाव लड़ने वाले अखिलेश ने अब 'आपकी साइकिल सदा चलेगी आपके नाम से, फिर प्रदेश का दिल जीतेंगे हम मिलकर अपने काम से' का नया नारा दिया.

हार के बाद समीक्षा और मंथन के दौर से गुजर रही समाजवादी पार्टी ने अपना स्लोगन बदलने का फैसला किया. स्लोगन से साफ है कि हार के बावजूद अखिलेश पार्टी के सबसे बड़े नेता बने रहना चाहते हैं. कहा जा रहा था कि चुनाव के बाद मुलायम सिंह फिर से राष्ट्रीय अध्यक्ष बन जाएंगे, लेकिन स्लोगन को पढ़ने से ऐसा होता नहीं दिखता. ऐसे में पार्टी में एक बार फिर से विवाद गहराने की आशंका है.

यूपी विधानसभा चुनाव के दौरान अखिलेश यादव अकसर अपने प्रचार में 'काम बोलता है' का बढ़-चढ़कर नारे का जिक्र करते थे. टेलीविजन और अखबार से लेकर सोशल मीडिया तक हर जगह समाजवादी पार्टी ने 'काम बोलता है' का नारा दिया था.

चुनाव के दौरान 'आपकी साइकिल सदा चलेगी आपके नाम से, फिर प्रदेश का दिल जीतेंगे हम मिलकर अपने काम से' स्लोगन पार्टी के पोस्टरों में हर जगह दिखता था, लेकिन अब इसे आधिकारिक तौर पर अपना लिया गया है.

अखिलेश कहते थे कि यूपी में फिर सरकार बना कर वह अपने पिता मुलायम सिंह को जीत का तोहफा देंगे लेकिन नतीजों में ऐसा संभव न हो सका.

अखिलेश का फोकस अब 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव पर है. उसी को नजर में रखते हुए उन्होंने यह मैसेज दिया है कि, पार्टी उनकी ही लीडरशिप में चलती रहेगी. समाजवादी पार्टी के बदले हुए नारे से अखिलेश ये यह ही इशारा किया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
जापानी लक्ज़री ब्रांड Lexus की LS500H भारत में लॉन्च

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi