S M L

अखिलेश का PM पर कटाक्ष, अगर यही है आपका विकास, तो विनाश किसे कहेंगे?

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष ने कहा​, 'यह कैसी विडंबना है कि बिना कुछ किए मुख्यमंत्री द्वारा प्रधानमंत्री की प्रशंसा की जाती है, और प्रधानमंत्री द्वारा मुख्यमंत्री को बधाई दी जाती है'

FP Staff Updated On: Jul 29, 2018 11:05 AM IST

0
अखिलेश का PM पर कटाक्ष, अगर यही है आपका विकास, तो विनाश किसे कहेंगे?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लखनऊ दौरे को लेकर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कटाक्ष किया है. अखिलेश ने कहा कि 'लखनऊ में बीजेपी के शीर्ष नेतृत्व ने जनता को गुमराह करने की अपनी कला का अच्छा प्रदर्शन किया है. बीजेपी का यही चरित्र और आचरण है कि उसे करना कुछ नहीं है, लेकिन श्रेय जो नहीं किया है उसका भी जरूर लेना है. विकास के नाम पर झूठे आंकड़े पेश करने में उनको महारत है.'

अखिलेश यादव ने साथ ही कहा, 'ये कैसी विडंबना है कि बिना कुछ किए मुख्यमंत्री द्वारा प्रधानमंत्री की प्रशंसा की जाती है और प्रधानमंत्री द्वारा मुख्यमंत्री को बधाई दी जाती है. जनता हतप्रभ है कि उनके हित में कुछ नहीं किया, तब भी एक दूसरे की तारीफ की जा सकती है.'

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री ने लखनऊ के विकास कार्यों का बड़ा सुंदर हवाई खाका खींचा लेकिन यह बताने में उन्हें क्यों संकोच हुआ कि समाजवादी सरकार के समय ही प्रदेश में विकास को गति मिली. राजधानी का सौंदर्यीकरण हुआ. लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे जैसी शानदार 302 किलोमीटर की सड़क बनी, जिस पर वायुसेना के विमान भी उतरे हैं. गोमती रिवरफ्रंट, जनेश्वर मिश्र पार्क बने. बेहतर होता लखनऊ में मेट्रो की चर्चा के साथ यह भी बता देते कि इसकी शुरूआत किसने की.

 

बीजेपी के शासन में तो स्वास्थ्य-शिक्षा, कानून-व्यवस्था हर क्षेत्र में हालत बदतर हुई है, किसानों की आत्महत्या और बेरोजगारी के कारण नौजवानों की हताशा भी बीजेपी शासन की देन है. इसके बाद बाहर से पूंजी निवेश और स्मार्ट सिटी की बातें सिर्फ अच्छा प्रहसन हो सकती है.

जनता जान चुकी है, जुबानी जमा खर्च से विकास नहीं होता 

अखिलेश ने कहा कि जनता यह जान चुकी है कि जुबानी जमा खर्च से विकास नहीं होता है. 22 साल सत्ता में रहने के बावजूद गुजरात में न तो एक्सप्रेस-वे जैसी एक सड़क बना पाए, न समाजवादी सरकार की तरह 18 लाख लैपटॉप बांट पाए और ना ही किसानों को फसल बीमा की सुविधा दे सके. मेट्रो रेल की व्यवस्था तो दूर की बात है.

समाजवादी सरकार में गरीबों को जो लोहिया आवास के तहत 3.5 लाख रूपए में निःशुल्क दिए गए, उनमें एलईडी बल्ब, पंखे और सौर ऊर्जा भी सुलभ हैं. बीजेपी तो उसमें भी लाभार्थियों से वसूली कर रही है. 55 लाख गरीब महिलाओं को समाजवादी पेंशन का लाभ दिया गया था, जिसे बीजेपी ने छीन लिया.

अखिलेश यादव ने कहा कि किसानों, गरीबो, महिलाओं, और युवाओं की बात करने वाले प्रधानमंत्री जी को अपने कार्यकाल का रिकार्ड भी देख लेना चाहिए. देश में सारी संपत्ति 1 प्रतिशत घरों में कैद है. गरीब और गरीब हो रहे हैं. पूंजी घरानों के सौ खून माफ हैं. किसी राज्य में महिलाएं यहां तक कि बच्चियां तक सुरक्षित नहीं. नौजवानों को 2 करोड़ रोजगार देने का वादा था उल्टे उनसे नौकरियां छिन गई. नोटबंदी-जीएसटी ने व्यापार चैपट कर दिया. यही उनका विकास है तो विनाश किसे कहेंगे ?

(न्यूज़18 से साभार)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
'हमारे देश की सबसे खूबसूरत चीज 'सेक्युलरिज़म' है लेकिन कुछ तो अजीब हो रहा है'- Taapsee Pannu

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi