S M L

राज्यसभा के उपसभापति उम्मीदवार के नाम पर NDA गठबंधन में दरार!

अकाली दल को उम्मीद थी उसके सांसद नरेश गुजराल एनडीए गठबंधन की तरफ से उपसभापति चुनाव में उम्मीदवार होंगे, लेकिन हरिवंश का नाम सामने आने से पार्टी नाराज हो गई है

FP Staff Updated On: Aug 07, 2018 10:43 AM IST

0
राज्यसभा के उपसभापति उम्मीदवार के नाम पर NDA गठबंधन में दरार!

राज्यसभा के उपसभापति पद के उम्मीदवार को लेकर एनडीए के घटक दलों में नाराजगी है. बताया जा रहा है कि जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के सांसद हरिवंश को एनडीए का उम्मीदवार बनाए जाने से शिरोमणि अकाली दल (एसएडी) और शिवसेना नाराज हो गए हैं.

दरअसल अकाली दल को उम्मीद थी उसके सांसद नरेश गुजराल डिप्टी चेयरमैन के उम्मीदवार होंगे, लेकिन सोमवार को जब ऐसी खबरें आईं कि बीजेपी ने जेडीयू के हरिवंश को उम्मीदवार बना दिया है, तो इसे लेकर अकाली दल में नाराजगी है.

इस मसले पर सोमवार को अकाली दल की संसदीय दल की बैठक केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल के घर पर हुई. पंजाब के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल ने इस बैठक की अध्यक्षता की.

सूत्रों के अनुसार 9 अगस्त को होने वाले राज्यसभा के उपसभापति चुनाव से अकाली दल खुद को दूर रख सकता है. सुखबीर बादल ने आज यानी मंगलवार सुबह 10 बजे इसी मुद्दे पर अपनी पार्टी के संसदीय दल की फिर से बैठक बुलाई है. इसमें पार्टी इससे जुड़ा कोई बड़ा फैसला ले सकती है.

वहीं ऐसी भी खबर है कि बिना सहयोगी दलों से इस पर चर्चा किए उम्मीदवार का नाम घोषित कर देने से शिवसेना भी नाराज है. सूत्रों के अनुसार बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने इसे लेकर अकाली दल के अध्यक्ष प्रकाश सिंह बादल से बात कर उन्हें इसपर सफाई दी है.

अमित शाह ने रामविलास पासवान को भी फोन कर हरिवंश के नाम की जानकारी दी, जिसका पासवान ने समर्थन किया.

बता दें कि राज्यसभा में अकाली दल और शिवसेना के 3-3 सांसद हैं. संसद के इस उपरी सदन में कुल 245 सीटों में से एनडीए गठबंधन के 115 सदस्य हैं. बीजेपी को उपसभापति चुनाव जीतने के लिए कम से कम 123 सीटों की जरूरत होगी. जबकि अगर यह दोनों पार्टियां (अकाली दल और शिवसेना) वोटिंग से दूर रहती हैं तो एनडीए के लिए बहुमत जुटाना मुश्किल साबित होगा. हालांकि इससे बहुमत के लिए जरूरी संख्या में भी कमी आएगी

कौन हैं एनडीए के राज्यसभा उम्मीदवार हरिवंश?

यूपी के बलिया के रहने वाले हरिवंश पत्रकार से बने नेता हैं. 62 साल के हरिवंश लंबे समय तक हिंदी दैनिक प्रभात खबर के संपादक रह चुके हैं. वो अप्रैल, 2014 में बिहार से राज्यसभा के लिए चुने गए थे. बतौर राज्यसभा सांसद उनका कार्यकाल अप्रैल, 2020 में पूरा होगा.

बीएचयू से स्नातक हरिवंश पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर के मीडिया सलाहकार भी रह चुके हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi