S M L

कांग्रेस के लिए मुसीबत बन रहे उसी के नेता, सलमान खुर्शीद के बाद अहमद पटेल के बयान पर बवाल

सलमान खुर्शीद के बाद अब अहमद पटेल ने भी अपने बयान से कांग्रेस पर ही निशाना साध दिया था

FP Staff Updated On: Apr 26, 2018 12:11 PM IST

0
कांग्रेस के लिए मुसीबत बन रहे उसी के नेता, सलमान खुर्शीद के बाद अहमद पटेल के बयान पर बवाल

कांग्रेस के दिग्गज नेता ही अपनी पार्टी के लिए इन दिनों मुसीबत बनते जा रहे हैं. सलमान खुर्शीद के बाद अब अहमद पटेल के बयान के मायने बदलकर कांग्रेस को घेरे में लिया जा रहा है. अहमद पटेल ने एक ट्वीट में एक ग्राफ के जरिए महंगाई का आंकड़ा पेश करते हुए कहा कि 2014 से ही खाद्य मूल्यों में गिरावट से कृषि संकट चिंताजनक हालत की ओर इशारा करता है. महंगाई में कमी का भार किसानों पर पड़ रहा है. पिछले चार सालों में कीमतें मुश्किल से 3.6 फीसदी ही बढ़ी होंगी.

लेकिन अहमद पटेल का ये ट्वीट उनके ही ऊपर भारी पड़ गया. उनके इस ट्वीट के जवाब में केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा ने कहा कि प्रिय अहमद भाई, ये मानने के लिए मैं आपको धन्यवाद कहता हूं कि यूपीए शासनकाल में खाद्य दाम महंगे थे और एनडीए सरकार ने इस पर लगाम कस रखी है. साथ ही किसानों की लागत में भी बढ़ोतरी का ख्याल रखा गया है.

दरअसल जयंत सिन्हा ने बड़ी चालाकी से अहमद पटेल के ट्वीट से निकले दूसरे अर्थ पर फोकस करके बात के मतलब को बदल दिया. अहमद पटेल जिन आंकड़ों से किसानों की दुर्दशा की बात कर रहे थे जयंत सिन्हा ने उन्हीं आंकड़ों का इस्तेमाल महंगाई कम होने के सबूत के बतौर किया और बात को अपने हक की ओर मोड़ लिया.

हालांकि जयंत सिन्हा के ट्वीट का अहमद पटेल ने बाद में जवाब भी दिया. उन्होंने लिखा है कि सरकार की पॉलिसी की वजह से किसानों की ये दुर्दशा हो रही है कि उन्हें अपनी फसलें फेंकनी पड़ रही है. इसे सरकार की उपलब्धि बताना संवेदनहीनता की हद है.

गौरतलब है कि कुछ दिन पहले पार्टी के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने एक सवाल के जवाब में कहा था कि कांग्रेस का मैं भी हिस्सा हूं इसलिए मुझे मानने दीजिए कि हमारे दामन पर खून के धब्बे हैं. अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के वार्षिकोत्सव में हिस्सा लेने पहुंचे सलमान खुर्शीद ने कहा था कि कांग्रेस के दामन पर मुसलमानों के खून के दाग लगे हैं. और कांग्रेस का नेता होने के नाते ये दाग मेरे दामन पर भी है. दरअसल उनके इस बयान का अर्थ भी गलत निकाला गया था. वो एक सवाल के जवाब में ये कहना चाह रहे थे कि अगर आप मानते हैं कि कांग्रेस के ऊपर खून के दाग लगे हैं तो फिर ये दाग मेरे ऊपर भी होंगे. लेकिन अगर ऐसा है भी तो क्या हमें आपके बचाव के लिए आगे नहीं आना चाहिए. क्या हमें देश को बचाने के लिए सामने नहीं आना चाहिए.

एएमयू के डॉ. बीआर आंबेडकर हॉल में आयोजित वार्षिकोत्सव में पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता सलमान खुर्शीद ने छात्रों से सीधे संवाद किया था. जिसके दौरान ये वाकया हुआ था.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
'हमारे देश की सबसे खूबसूरत चीज 'सेक्युलरिज़म' है लेकिन कुछ तो अजीब हो रहा है'- Taapsee Pannu

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi