S M L

राहुल के कांग्रेस अध्यक्ष बनने के बाद से संसदीय कार्यों में बाधाएं आ रही हैं: अनंत कुमार

बीजेपी नेता ने कहा कि कांग्रेस का वंशवाद, कांग्रेस की दमनकारी नीतियां देश को नहीं भूलनी चाहिए. अंग्रेजों से लंबी लड़ाई के बाद हासिल हमारी आजादी का वर्ष 1975 से 77 के बीच आपातकाल के नाम पर हरण कर लिया गया था

Updated On: Jun 26, 2018 06:23 PM IST

Bhasha

0
राहुल के कांग्रेस अध्यक्ष बनने के बाद से संसदीय कार्यों में बाधाएं आ रही हैं: अनंत कुमार
Loading...

केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को संसदीय मामले में अनुभवहीन बताते हुए मंगलवार को आरोप लगाया कि जब से राहुल गांधी कांग्रेस के अध्यक्ष बने हैं संसदीय कार्यों में बाधाएं आ रही हैं.

कुमार ने मध्यप्रदेश बीजेपी कार्यलय में संवाददाताओं से कहा, 'राहुल गांधी जब से कांग्रेस के अध्यक्ष बने हैं तब से संसदीय कार्य में बाधा आ रही है. उन्हें संसदीय कार्य का कोई अनुभव नहीं है. संसदीय सत्र में एक विपक्ष को कैसे चलाना और किन विषयों के बारे में चर्चा करना है, बहस करना है, किन विषयों को उठाना है, किस विधेयक के बारे में क्या करना.... ये भी आज के समय में उनके नेतृत्व में कांग्रेस दोहरा मापदंड अपना रही है.'

कुमार ने इसका उदाहरण देते हुए कहा कि पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा देने के मामले में पेश रिपोर्ट पर कांग्रेस सहित सबकी आम सहमति से विधेयक लोकसभा में पारित हो गया. यह जो विधेयक लोकसभा में कांग्रेस पार्टी पारित करती है, राहुल गांधी के बाहर से आने के बाद राज्यसभा में रोक देती है. ये उनकी शैली है.

केंद्रीय संसदीय कार्यमंत्री ने कहा कि चार साल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व जितने विधायी और संसदीय कार्य हुए हैं वह भारत के संसदीय इतिहास में एक रिकार्ड है. उन्होंने कहा, 'पिछली सरकारों के मुकाबले केंद्र की मोदी सरकार के पिछले चार साल के कार्यकाल में सबसे कामयाब संसदीय सत्र हुए हैं. इस दौरान जितने विधायी एवं संसदीय कार्य हुए वह भारत के संसदीय इतिहास में एक रिकार्ड हैं. ये सत्र 119-120 फीसद तक कामयाब हुए हैं.'

उन्होंने कहा कि तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी द्वारा 1975 में लगाए गए आपातकाल की परिस्थितियों के खिलाफ बीजेपी देशभर में आज 26 जून को 'काला दिवस' के रूप में मना रही है. आपातकाल की दमनकारी नीतियों को नई पीढ़ी के लोगों के सामने प्रदर्शनी आदि करके उजागर करने का आज कार्यक्रम है.

बीजेपी नेता ने कहा कि कांग्रेस का वंशवाद, कांग्रेस की दमनकारी नीतियां देश को नहीं भूलनी चाहिए. अंग्रेजों से लंबी लड़ाई के बाद हासिल हमारी आजादी का वर्ष 1975 से 77 के बीच आपातकाल के नाम पर हरण कर लिया गया था.

उन्होंने कहा सर्वाधिकार की धारणा वंशवाद से पनपती है. वंशवाद और लोकतंत्र साथ नहीं चल सकते. कांग्रेस यानी दमन, कांग्रेस यानी वंशवाद. आज की कांग्रेस में लोकतंत्र नहीं है और राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस लोकतंत्र के लिए खतरा है.

उन्होंने एक सवाल के उत्तर में कहा कि चमत्कार हम नहीं जनता करती है और मध्यप्रदेश में जनता एक बार फिर चमत्कार दिखाते हुए शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में बीजेपी की सरकार बनायेगी.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi