S M L

आप Vs चीफ सेक्रेटरी: नेता-अफसर की इस लड़ाई में सच कौन बोल रहा है?

आईएएस अफसर दिल्ली सरकार की शिकायत लेकर राष्ट्रपति के पास जाने वाले हैं. उन्होंने दिल्ली सरकार की बर्खास्तगी की मांग की है

Vivek Anand Vivek Anand Updated On: Feb 20, 2018 02:24 PM IST

0
आप Vs चीफ सेक्रेटरी: नेता-अफसर की इस लड़ाई में सच कौन बोल रहा है?

भांति-भांति के आंदोलनों को रोज झेलनी वाली दिल्ली एक और ड्रामैटिक स्ट्राइक देखने जा रही है. देश की राजधानी दिल्ली के काबिल और तेज तर्रार आईएएस अफसर स्ट्राइक पर चले गए हैं. इन अफसरों ने दिल्ली की सरकार से सीधी जंग छेड़ दी है. आईएएस अफसर दिल्ली सरकार की शिकायत लेकर राष्ट्रपति के पास जाने वाले हैं. उन्होंने दिल्ली सरकार की बर्खास्तगी की मांग की है. उन विधायकों के खिलाफ केस दर्ज करने की मांग की है जिन्होंने कथित तौर पर दिल्ली के चीफ सेक्रेटरी अंशु प्रकाश के साथ बदतमीजी की थी. केंद्र सरकार और दिल्ली सरकार के रोजाना होने वाले टकराव को देखने की आदी ही चुकी दिल्ली की जनता के सामने अब दिल्ली सरकार और दिल्ली प्रशासन की ताजा मुठभेड़ देखने को मिल रही है.

मामला सोमवार रात का है. बताया जा रहा है कि दिल्ली की आप सरकार के विधायकों की बैठक में दिल्ली के चीफ सेक्रेटरी के साथ धक्कामुक्की की गई. आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्लाह खान और एक दूसरे विधायक ने चीफ सेक्रेटरी अंशु प्रकाश के साथ बदसलूकी की. ये सारा वाकया दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के सामने हुआ. इस घटना से दिल्ली प्रशासन के अफसर नाराज हैं. इसी को मुद्दा बनाते हुए वो स्ट्राइक पर चले गए हैं.

उधर आम आदमी पार्टी की तरफ से कुछ दूसरी ही कहानी बताई जा रही है. पार्टी के हवाले से कहा गया है कि दिल्ली के विधायक अमानतुल्लाह खान ने चीफ सेक्रेटरी से राशन की दुकानों में हो रही परेशानी पर बात की थी. अमानतुल्लाह खान ने कहा था कि राशन की दुकानों पर मशीन लगाने के चलते ढाई लाख परिवारों को पिछले महीने से राशन नहीं मिला है. इस बाबत विधायक ने चीफ सेक्रेटरी से जबाव तलब किया था.

बताया जा रहा है कि इस पर चीफ सेक्रेट्री ने कहा कि वो इन सभी सवालों का जवाब एलजी को देंगे. वो दिल्ली के विधायकों को जवाब देने को बाध्य नहीं है. इतना कहकर चीफ सेक्रेटरी अंशु प्रकाश बाहर निकल गए. आम आदमी पार्टी कह रही है कि चीफ सेक्रेटरी बिना जवाब दिए बाहर निकल गए जबकि दूसरी रिपोर्टस में कहा जा रहा है कि इसी दौरान आम आदमी पार्टी के विधायकों ने उनके साथ बदतमीजी की.

आईएएस एसोसिएशन इस मसले पर सख्त रूख अपनाने को तैयार है. बताया जा रहा है कि एसोसिएशन विधायकों के खिलाफ एफआईआर तक दर्ज करवा सकती है. इस मामले की शिकायत चीफ सेक्रेटरी अंशु प्रकाश ने दिल्ली के एलजी अनिल बैजल से की है. उन्होंने शिकायत में कहा है कि दिल्ली के दो विधायकों ने उनके साथ बदसलूकी की है. इंडिया टुडे की खबर के मुताबिक चीफ सेक्रेटरी इस मामले में दोनों विधायकों के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज करवा सकते हैं.

दिल्ली में एक नए तरह का संकट पैदा हो गया है. एक तरफ दिल्ली सरकार के विधायक हैं तो दूसरी तरफ दिल्ली के प्रशासनिक अफसर. दोनों ही मामले की अलग-अलग कहानी बयान कर रहे हैं. अमानतुल्लाह खान ने कहा है कि उन्होंने न धक्कामुक्की की और न ही किसी तरह की बदसलूकी. उन्होंने चीफ सेक्रेटरी अंशु प्रकाश को सिर्फ रुकने के लिए कहा था. लेकिन नाराज चीफ सेक्रेटरी चलते बने.

aap letter

दिल्ली में हुए इस नए बवाल की जानकारी के कुछ ही घंटे बीते थे कि आम आदमी पार्टी के नेता आशीष खेतान ने एक नए और सनसनीखेज आरोप लेकर सामने आ गए. आशीष खेतान ने आरोप लगाया कि दिल्ली सचिवालय में अफसरों ने उनके साथ मारपीट की. न्यूज 18 के साथ बातचीत में उन्होंने कहा कि 'दिल्ली सचिवालय में मेरे एलिवेटर के सामने 200 से 250 लोगों की भीड़ इकट्ठी हो गई. भीड़ में से 20 से 30 के करीब लोग मेरी तरफ चिल्लाते हुए आगे बढ़े. वो बीजेपी के नाम पर नारे लगा रहे थे. मुझे सुरक्षाकर्मियों ने बचाया लेकिन वो खुद घायल हो गए. ये सारा वाकया सीसीटीवी फुटेज में कैद है.' इस नए आरोप के साथ आम आदमी पार्टी ने आईएएस अफसरों के साथ बीजेपी पर भी निशाना साध लिया है. इस झगड़े में ये नया ट्विस्ट है.

आम आदमी पार्टी ने चीफ सेक्रेटरी के आरोपों से पूरी तरह से पल्ला झाड़ लिया है. अपने जवाब में आम आदमी पार्टी ने कहा है, ‘आधार की गड़बड़ियों की वजह से दिल्ली के 2.5 लाख परिवारों के ऊपर राशन का संकट खड़ा हो गया है. विधायकों के ऊपर जनता का दबाव है. विधायकों के साथ दिल्ली के सीएम की बैठक चल रही थी. चीफ सेक्रेटरी ने इस पर जवाब देने तक से मना कर दिया. उन्होंने कहा कि वो न दिल्ली के सीएम और न ही विधायकों को जवाब देने को बाध्य हैं वो सिर्फ एलजी को जवाब देंगे. उन्होंने विधायकों को अपशब्द तक कहे और बिना जवाब दिए बाहर निकल आए. अब वो ये सब मनगढ़ंत आरोप लगा रहे हैं. ये सब बीजेपी के इशारे पर हो रहा है. बीजेपी दिल्ली के एलजी और प्रशासनिक अफसरों के साथ मिलकर निचले स्तर पर उतर आई है. चीफ सेक्रेटरी के आरोपों से समझा जा सकता है कि दिल्ली सरकार के काम में किस तरह से रोड़े अटकाए जा रहे हैं.’

दिल्ली सचिवालय में हंगामा खड़ा हो गया है. आम आदमी पार्टी कह रही है कि वहां बीजेपी के लोग इकट्ठा हो रहे हैं. पार्टी अपनी शिकायत लेकर गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मिलने वाली है. उधर आईएएस अफसरों का दल भी गृहमंत्री से मिलने जा रहा है. देश की राजधानी में खड़ा हुए इस नए संकट ने जबरदस्त हलचल मचा दी है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
कोई तो जूनून चाहिए जिंदगी के वास्ते

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi