S M L

अस्तित्व बचाने की कोशिश में केजरीवाल ने फैलाई गठबंधन को लेकर अफवाह: कांग्रेस

लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के साथ गठबंधन को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के ताजा बयान पर कांग्रेस ने पलटवार किया

Updated On: Feb 14, 2019 04:14 PM IST

Bhasha

0
अस्तित्व बचाने की कोशिश में केजरीवाल ने फैलाई गठबंधन को लेकर अफवाह: कांग्रेस

लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के साथ गठबंधन को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के ताजा बयान पर कांग्रेस ने पलटवार किया है. कांग्रेस की दिल्ली इकाई ने दावा किया है कि केजरीवाल अपनी पार्टी का अस्तित्व बचाने के लिए गठबंधन की अफवाह फैला रहे थे, जबकि कांग्रेस की ओर से इस संदर्भ में कोई बात नहीं हुई थी. दरअसल, केजरीवाल ने कहा है कि कांग्रेस ने आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन के लिए लगभग मना कर दिया है.

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष राजेश लिलोठिया ने इस बारे में पूछे जाने पर कहा, 'गठबंधन को लेकर अफवाह केजरीवाल ने फैलाई थी. हमारी ओर से गठबंधन को लेकर कोई बात नहीं हुई. हमने पहले से तय कर रखा है कि हम दिल्ली में अकेले चुनाव लड़ेंगे.' उन्होंने दावा किया, 'आम आदमी पार्टी का जनाधार खत्म हो रहा है. ये लोग सिर्फ अस्तित्व बचाने की कवायद में जुटे हैं. इनकी झूठ की राजनीति से हमारा तालमेल नहीं हो सकता है.'

लिलोठिया ने आरोप लगाया कि दिल्ली में अब तक के चार साल के शासन में केजरीवाल सरकार अपने वादों को पूरा करने में विफल रही है. इससे पहले कांग्रेस के साथ गठबंधन को लेकर आप प्रमुख केजरीवाल ने कहा था कि कांग्रेस ने आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन से काफी हद तक इनकार कर दिया है. हमारे मन में देश को लेकर बहुत ज्यादा चिंता है, इसी वजह से हम ललायित हैं. उन्होंने (कांग्रेस) लगभग मना कर दिया है. उनका ये बयान तब आया है जब उन्होंने एक दिन पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत विपक्षी नेताओं के साथ एक बैठक में हिस्सा लिया.

कांग्रेस के साथ गठबंधन पर एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि उसने आप के साथ गठबंधन से काफी हद तक इनकार कर दिया है. यह पूछे जाने पर कि क्या कांग्रेस के साथ गठबंधन करने के लिए आप ज्यादा उत्सुक हैं, इस पर उन्होंने कहा कि त्रिपक्षीय मुकाबले से बीजेपी को फायदा मिलेगा.

गौरतलब है कि लोकसभा चुनावों से पहले विपक्षी दलों ने न्‍यूनतम साझा कार्यक्रम के तहत गठबंधन करने का ऐलान किया है. इस गठबंधन में कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी), राष्‍ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी), तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) और आम आदमी पार्टी (आप) शामिल होगी. एनसीपी नेता शरद पवार के घर पर बैठक के बाद राहुल गांधी, अरविंद केजरीवाल, चंद्रबाबू नायडू और ममता बनर्जी ने सामूहिक रूप से प्रेस कांफ्रेंस कर इसका ऐलान किया.

ममता बनर्जी ने कहा, 'राष्‍ट्रीय स्‍तर पर हम लोग मिलकर काम करेंगे. हमारा एक न्‍यूनतम साझा कार्यक्रम होगा. हमारा चुनाव से पहले का गठबंधन होगा.' कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने इससे पहले बैठक को 'रचनात्‍मक' बताया. वहीं राहुल गांधी ने कहा था, 'हम इस बात पर सहमत है कि हम सब का मुख्‍य लक्ष्‍य नरेंद्र मोदी की ओर से भारतीय संवैधानिक संस्‍थाओं पर किए जा रहे हमलों को खत्‍म करना है. हम न्‍यूनतम साझा कार्यक्रम पर बात शुरू करने पर राजी हैं और हम सबका संकल्‍प है कि मिलकर बीजेपी को हराएंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi